NDTV Khabar

अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए आर्मी में भर्ती होना चाहता है किशोर, जानें क्या है पूरा मामला

पाकिस्तान की गोलाबारी में घायल हुए जेसीओ ने बुधवार को दम तोड़ दिया था. सूबेदार शशि कुमार की उम्र महज 45 साल थी. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए आर्मी में भर्ती होना चाहता है किशोर, जानें क्या है पूरा मामला

पाकिस्तानी गोलाबारी में शहीद हुए जेसीओ शशि कुमार के बेटे आर्मी में भर्ती होना चाहते हैं...

खास बातें

  1. पाकिस्तान की गोलाबारी में घायल हुए थे जेसीओ शशि कुमार
  2. सूबेदार शशि कुमार की उम्र महज 45 साल थी
  3. उनके बेटे ने कहा, सेना में भर्ती होकर बदला लेना चाहता हूं
नई दिल्ली: वह कहता है, मैं आर्मी में भर्ती होना चाहता हूं. वह कहता है, मैं अपने पिता की मौत का बदला लेना चाहता हूं. इस मासूम किशोर का नाम है अक्षय कुमार. अक्षय कुमार सूबेदार शशि कुमार के बेटे हैं. जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की गोलाबारी में घायल हुए जूनियर कमिशन ऑफिसर (जेसीओ) ने बुधवार को दम तोड़ दिया था. सूबेदार शशि कुमार की उम्र महज 45 साल थी. 

सेना के प्रवक्ता के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर सुबह पौने 12 बजे छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों से अकारण अंधाधुंध गोलीबारी और गोलाबारी शुरू कर दी. हमारी सेना पाकिस्तानी सेना का माकूल जवाब दे रही है. लेकिन, नौशेरा सेक्टर में मंगलवार को पाकिस्तान के अकारण संघर्ष विराम उल्लंघन किये जाने की घटना में जेसीओ सूबेदार शशि कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गये थे उनका कमांड अस्पताल उधमपुर में उपचार चल रहा था, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. 

हिमाचल के हमीरपुर जिले के रहने वाले थे सूबेदार...
सैनिक हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के गालों गांव का रहने वाले थे. उनके परिवार में पत्नी और बच्चे हैं. शहीद सैनिक के शव को उनके पैतृक गांव ले जाया गया.
 
jco shashi kumar
(महज 45 साल की आयु थी जेसीओ शशि कुमार की)

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, इस महीने पाकिस्तान की ओर से दर्जनों बार की गयी संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में सात सैनिकों समेत 10 लोगों की जान गयी है और 18 लोग घायल हुए हैं.

यह भी पढ़ें...
पाकिस्तान पर करारी चोट, अमेरिका ने आतंकियों को पनाह देने वाला देश करार दिया
पाकिस्तान का दोहरा मापदंड: महिलाओं की बेइज्जती, पुरुष क्रिकेटरों का सम्मान

नौशेरा के 3000 और मंजाकोट-राजधानी-पंजग्रैन-नैका के 5000 लोग सहित करीब 8000 से अधिक लोग पिछले दो दिनों में पाकिस्तान की ओर से गोले दागने की घटना से प्रभावित हुए हैं.

इनपुट : न्यूज एजेंसी ANI, भाषा
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement