NDTV Khabar

जेट एयरवेज में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान हुई : अशोक गजपति राजू

राजू ने एक ट्वीट में कहा, मुझे बताया गया कि उस व्यक्ति की पहचान हो गई है जो ‘जेट एयरवेज’ के मुंबई से दिल्ली जा रहे विमान में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार था.

148 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेट एयरवेज में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान हुई : अशोक गजपति राजू
नई दिल्ली: केंद्रीय नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने आज कहा कि ‘जेट एयरवेज’ के मुंबई से दिल्ली जा रहे विमान में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान हो गई है और उसे तत्काल उड़ान के लिए निषिद्ध व्यक्तियों की सूची में डाल दिया जाना चाहिए.

जीएसटी के तहत लाया जाए विमान ईंधन : स्पाइस जेट प्रमुख

गौरतलब है कि ‘जेट एयरवेज’ के मुंबई से दिल्ली जा रहे विमान का मार्ग आज तड़के ‘सुरक्षा संबंधी खतरे’ का पता चलने की वजह से अहमदाबाद हवाईअड्डे की ओर परिवर्तित किया गया. ‘जेट एयरवेज’ के एक प्रवक्ता ने बताया कि विमान संख्या 9डब्ल्यू339 को अहमदाबाद में सुरक्षित उतारा गया. विमान में 115 यात्री और चालक दल के सात सदस्य सवार थे. सभी 122 लोगों को विमान से सुरक्षित उतार लिया गया.

राजू ने एक ट्वीट में कहा, मुझे बताया गया कि उस व्यक्ति की पहचान हो गई है जो ‘जेट एयरवेज’ के मुंबई से दिल्ली जा रहे विमान में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार था. बहरहाल, मंत्री ने उस व्यक्ति की पहचान का खुलासा नहीं किया है.

उन्होंने ट्वीट किया, मैं उस व्यक्ति को तत्काल उड़ान के लिए निषिद्ध लोगों की सूची में डालने का एयरलाइन को सुझाव देता हूं. साथ ही उस पर वैधानिक आपराधिक कार्रवाई भी की जाए. नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चालक दल के एक सदस्य को एक ‘‘कागज का छपा हुआ पुर्जा’’ मिला था, जिसमें विमान के बेली (सामान रखने के हिस्से में) में बम होने की बात लिखी थी. विमान ने मुंबई से देर रात दो बजकर पचपन मिनट पर उड़ान भरी थी और आज तड़के पौने चार बजे पर वह अहमदाबाद हवाईअड्डे पर उतरा.

रसोई गैस के दाम फिर बढ़े, विमान से सफर करना भी हो सकता है महंगा  

विमानन कंपनी के प्रवक्ता ने कहा, विमान में सुरक्षा खतरे का पता चलने के बाद तय सुरक्षा नियमों के तहत इमरजेन्सी की घोषणा हुई और विमान का मार्ग अहमदाबाद की ओर बदल दिया गया. उन्होंने बताया कि यह संदेश पायलट तक पहुंचा दिया गया, जिसने संभवत: हाईजैक सतर्कता बटन दबा दिया था. इसके बाद विमान को आपात स्थिति में यहां उतारा गया.

प्रवक्ता ने एक बयान में बताया, ‘‘जेट एयरवेज मामले की जांच कर रही सुरक्षा एजेंसियों के साथ पूरा सहयोग कर रहा है और फिलहाल कोई टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं है.’’ चालक दल के एक सदस्य ने इसे एक बम का खतरा बताया और कहा कि यात्रियों के बैगों की जांच के बाद कुछ नहीं मिला.

विमान में सवार पीटीआई के संवाददाता राजकुमार लिशेंबा ने बताया कि ‘सुरक्षा कारणों’ का हवाला देते हुए विमान का मार्ग अहमदाबाद की ओर परिवर्तित कर दिया गया.

उन्होंने बताया कि सभी यात्रियों को विमान से उतारा गया और उनकी जांच की गई. सुरक्षा कर्मियों ने उनकी तस्वीर खीचीं और पिछली विदेश यात्रा सहित विभिन्न विषयों पर पूछताछ की.
उन्होंने बताया कि छह घंटे से अधिक समय बाद सुबह करीब साढ़े दस बजे विमान यात्रियों के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गया. लिशेंबा ने ट्विटर पर लिखा, यात्रियों की जानकारी हासिल की गई, तस्वीरें ली गई और सभी निजी जानकारियां मांगी गई हैं. प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा कि बी737-900 विमान को दूर एक बे में खड़ा किया गया था. उन्होंने कहा, जेट एयरवेज मामले की जांच कर रही सुरक्षा एजेंसी के साथ पूरा सहयोग कर रहा है और इसपर आगे अभी कोई टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement