परिवार से 9 महीने पहले बिछड़ी थी महिला, इस तरह झारखंड पुलिस ने किया एक

33 साल की महिला फरवरी में पलामू जिले के डाल्टनगंज में भटकती हुई मिली थी और बाद में पता चला कि वह ‘आंशिक तौर पर मानसिक रूप से अस्थिर’ है. फिर झारखंड पुलिस ने उसके घर का पता लगाकर उसे घर पहुंचाया.

परिवार से 9 महीने पहले बिछड़ी थी महिला, इस तरह झारखंड पुलिस ने किया एक

झारखंड पुलिस को यूपी की महिला डाल्टनगंज में भटकती हुई मिली थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेदिनीनगर, झारखंड:

झारखंड प्रशासन ने परिवार से बिछुड़ी उत्तर प्रदेश की एक महिला को नौ महीने बाद उसके परिवार मिलाया, अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 33 वर्षीय महिला फरवरी में पलामू जिले के डाल्टनगंज में भटकती हुई मिली थी और बाद में पता चला कि वह ‘आंशिक तौर पर मानसिक रूप से अस्थिर' है.

पलामू जिले के उपायुक्त शशि रंजन ने बताया कि महिला को एक केंद्र में ले जाया गया, जहां उसकी भाषा बोली और लहजे से पहचान की गई कि वह पश्चिम उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखती हैं और कभी-कभी महिला की अस्पष्ट बोली से पता चलता था कि वह या तो एटा या फिर अलीगढ़ से ताल्लुक रखती हैं.

भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी दिलीप प्रताप सिंह शेखावत ने एटा और अलीगढ़ जिला प्रशासन से संपर्क किया और वीडियो कॉल पर महिला को उन्हें दिखाया, जिसके बाद उनके परिवार के सदस्यों का पता लगाया गया. अधिकारी ने बताया कि यह पता चला कि महिला एटा की है और उनकी शादी अलीगढ़ में हुई है.

उन्होंने बताया कि उसके पति और दो बच्चे (10 और 12 साल) रविवार को उसे लेने डाल्टनगंज स्टेशन आए. महिला ने तत्काल सभी को पहचान लिया और वह अपने परिवार के साथ चली गईं. अधिकारी ने बताया कि प्रशासन ने महिला के व्यवहार की कई तरह से जांच के बाद यह पाया कि वह ‘आंशिक तौर पर मानिसक रूप से अस्थिर है.'

Video: बिहार विधानसभा का चुनाव समय पर होगा : निर्वाचन आयोग के सूत्र

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)