NDTV Khabar

JNU फिर विवादों में, कश्मीर की आजादी से जुड़े पोस्टर लगे दिखे, माहौल गरमाया

598 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU फिर विवादों में, कश्मीर की आजादी से जुड़े पोस्टर लगे दिखे, माहौल गरमाया

जेएनयू में लगे हैं विवादित पोस्टर

खास बातें

  1. पोस्टर में कश्मीर की तुलना फिलस्तीन से की गई है
  2. पोस्टर कब लगा इसकी तारीख को लेकर अभी कुछ साफ नहीं
  3. पोस्टर में कश्मीर की आजादी की बात की गई है.
नई दिल्ली: दिल्ली का जेएनयू एक बार फिर विवादों में है. यूनिवर्सिटी कैंपस के अंदर कश्मीर की आजादी वाले पोस्टर लगाए गए हैं जिस पर माहौल गरमाता दिख रहा है. पोस्टर में कश्मीर की तुलना फिलस्तीन से की गई है, जिसमें कश्मीर की आजादी की बात कही गई है. इधर, दिल्ली पुलिस का कहना है कि पोस्टर को लेकर जेएनयू प्रशासन से कोई शिकायत नहीं मिली है, शिकायत मिलने के बाद ही वे कार्रवाई करेंगे. लेफ़्ट के छात्र संगठन DSU यानी डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स यूनियन ने इस पोस्टर को लगाया है. DSU अल्ट्रा लेफ़्ट छात्र संगठन है.

जेएनयू के छात्रों के मुताबिक- ये पोस्टर बीते करीब एक साल से यहां लगा है, लेकिन दिल्ली विश्वविद्यालय में हुए ताज़ा विवाद के बाद अचानक यह मामला उठ गया है. एबीवीपी के छात्र ललित पांडे का कहना है ये पोस्टर तीन-चार महीने पहले का है. वहीं NSUI सनी धिमान का कहना है कि पोस्टर एक साल पुराना है.(जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद ने किया वीरेंद्र सहवाग पर हमला, कहा - भारत का प्रतिनिधित्व नहीं करता ये क्रिकेटर)

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक- यह संगठन करीब एक साल पहले जेएनयू में सक्रिय था. कैंपस में देशविरोधी नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य इसके सदस्य थे. डीएसयू के पूर्व सदस्यों उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य और अन्य ने संसद हमले के दोषी अफजल गुरू को फांसी दिए जाने के खिलाफ पिछले साल विवादास्पद कार्यक्रम का आयोजन किया था जिसमें कथित तौर पर राष्टविरोधी नारेबाजी हुई थी. फिलहाल इस मुद्दे को लेकर उमर खालिद और अनिर्बान कुछ नहीं बोल रहे हैं.

टिप्पणियां
कुछ दिन से रामजस कॉलेज विवाद को लेकर नॉर्थ कैंपस का भी माहौल गरमाया हुआ है. रामजस कॉलेज के सेमीनार में 21 तारीख को उमर खालिद और शेहला रशीद को बुलाए जाने पर एबीवीपी ने आपत्ति जताई थी और उसी के बाद हिंसा शुरू हो गई थी. इसके बाद गुरमेहर कौर ने एबीवीपी के खिलाफ विरोध जताया था.  गुरमेहर ने आरोप लगाया कि उन्हें सोशल मीडिया पर रेप की धमकियां मिल रही हैं. यह मामला इतना बढ़ गया कि किरेण रिजीजू से लेकर राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल और वेंकैया नायडू तक को इसमें कूदना पड़ा.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
598 Shares
(यह भी पढ़ें)... क्या बीजेपी वाकई ढलान पर है?

Advertisement