NDTV Khabar

GST से बढ़ेगी विकास दर लेकिन मुद्रास्फीति में गिरावट बन सकती है बाधा : कौशिक बसु

बसु ने कहा 'मेरे खयाल से दो से चार फीसदी की मुद्रास्फीति दर भारत के लिए अच्छी है. लेकिन मुद्रास्फीति के दो फीसदी से भी नीचे जाने का खतरा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
GST से बढ़ेगी विकास दर लेकिन मुद्रास्फीति में गिरावट बन सकती है बाधा : कौशिक बसु

खास बातें

  1. GST और बैंकिंग नियमन में संसोधन पर बोले कौशिक बसु
  2. इससे विकास दर बढ़ेगी
  3. मुद्रास्फीति में गिरावट को बताया खतरा
नई दिल्ली: देश के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसुने कि भारत के सामनेमुद्रास्फीतिमें निरंतर गिरावट का खतरा है, जो विकास को बाधित कर सकती है. बसु ने कहा 'मेरे खयाल से दो से चार फीसदी की मुद्रास्फीति दर भारत के लिए अच्छी है. लेकिन मुद्रास्फीति के दो फीसदी से भी नीचे जाने का खतरा है. अगर इसमें लगातार गिरावट रही तो यह विकास में बाधक हो सकती है. विकास दर के और नीचे जाने का जोखिम बना हुआ है.'

यह भी पढ़ें :  नोटबंदी से देश की अर्थव्यस्था को झटका, असर और 6 महीने रहेगा : कौशिक बसु

उन्होंने कहा कि विकास दर में वृद्धि लाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को नीतिगत दरों में 25 फीसदी की बजाय 50 फीसदी की कटौती करनी चाहिए थी. बसु ने कहा, 'आरबीआई द्वारा रेपो रेट में कटौती से मैं बेहद खुश हूं. लेकिन अगर मेरा मत लिया जाता तो मैं आधार दर में 50 फीसदी की कटौती का सुझाव देता.' बसु ने कहा कि नोटबंदी के अल्पकालिक नकारात्मक प्रभाव के चलते अगली या उससे अगली तिमाही में विकास दर के छह फीसदी से भी नीचे जाने का खतरा है.

टिप्पणियां
Video : आर्थिक सुधारों पर क्या बोले कौशिक बसु
उन्होंने कहा, 'मैं अल्पकाल में विकास दर घटने को लेकर चिंतित हूं. नोटबंदी का नकारात्मक असर हुआ है. लोगों को आगामी कुछ और महीनों तक इसके नकारात्मक असर को झेलना होगा.' बसु ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और बैंकिंग नियमन (संशोधन) विधेयक विकास दर में वृद्धि करने वाला साबित होगा.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement