NDTV Khabar

कैबिनेट में JDU को जगह न मिलने पर केसी त्यागी बोले- यह NDA का नहीं, बीजेपी का 'आंतरिक फेरबदल'

मंत्रिमंडल में JDU से दो सांसदों को लिए जाने के कयास चल रहे थे, लिस्‍ट फाइनल होने पर बीजेपी के अलावा किसी अन्य पार्टी को स्थान नहीं मिला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैबिनेट में JDU को जगह न मिलने पर केसी त्यागी बोले- यह NDA का नहीं, बीजेपी का 'आंतरिक फेरबदल'

जेडीयू के नेता केसी त्यागी ने कहा है कि मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल बीजेपी का 'आंतरिक बदलाव' था, एनडीए का नहीं.

खास बातें

  1. लालू ने कहा- मोदी ने नीतीश कुमार को ठेंगा दिखा दिया
  2. कहा- बीजेपी नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं करती
  3. कैबिनेट विस्तार में शामिल हुए सभी 9 मंत्री बीजेपी के
नई दिल्ली:

नरेंद्र मोदी के कैबिनेट विस्तार में जगह नहीं दिए जाने के बाद JDU के वरिष्‍ठ नेता केसी त्यागी ने कहा कि यह बीजेपी का 'आतंरिक फेरबदल' था, न कि NDA का. इसलिए इसमें जगह नहीं दिए जाने पर सवाल करना बेकार है. इससे पहले मंत्रिमंडल में JDU से दो सांसदों को लिए जाने की बात हो रही थी लेकिन जब लिस्‍ट फाइनल हुई तो उसमें किसी भी दूसरी पार्टी के सदस्‍य का नाम नहीं था.

JDU नेता केसी त्‍यागी ने कहा कि यह बीजेपी का आंतरिक फेरबदल था इस कारण एनडीए के सदस्‍यों को इस मंत्रिमंडल विस्‍तार में शामिल होने का सवाल ही नहीं उठता.

यह भी पढ़ें : मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले नीतीश का बयान, हमें अभी कोई प्रस्ताव नहीं मिला


मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किए जाने को लेकर लालू प्रसाद ने भी JDU पर तंज कसते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार को ठेंगा दिखा दिया है. बीजेपी नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं करती क्‍योंकि यह कभी भी पलट जाएगा.

यह भी पढ़ें : नीतीश की पार्टी को मंत्री मंडल में जगह नहीं मिलने का हुआ खुलासा, लालू ने बताई असली वजह

टिप्पणियां

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित विस्तार कर दिया. प्रधानमंत्री द्वारा तीसरी बार मंत्रिपरिषद के विस्तार में नौ मंत्रियों को शामिल किया गया. बीजेपी के सहयोगी दलों JDU और शिवसेना को इसमें स्थान नहीं दिया गया है. सूत्रों ने कहा कि JDU और शिवसेना का नाम सूची में शामिल नहीं होने का कारण प्रतिनिधित्व का फॉर्मूला तय नहीं किया जाना है, जिससे सभी सहयोगी दल संतुष्ट हो सकें. शिवसेना के लोकसभा में 18 सदस्य हैं, जबकि जेडीयू के दो सदस्य हैं. सूत्रों ने बताया कि शिवसेना ने अपने प्रतिनिधित्व के मुताबिक सीटों की मांग की थी लेकिन बीजेपी ने मांगें नहीं मानीं. राज्यसभा में शिवसेना के तीन सदस्य हैं, जबकि जेडीयू के 10 सदस्य हैं.

VIDEO : फेरबदल से थी उम्मीद
कैबिनेट में फेरबदल की सुगबुगाहट शुरू होने के साथ ही कयास लगाए जा रहे थे कि जेडीयू के कोटे से दो मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है. शनिवार की शाम को नीतीश कुमार ने पटना में दावा किया था कि इस मुद्दे पर बीजेपी और उनकी पार्टी में कोई बातचीत नहीं हुई. शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी कहा कि उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है. अन्नाद्रमुक में पार्टी के अंदर चल रहे गतिरोध के कारण उसे भी कैबिनेट में जगह नहीं मिल सकी है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13: बिग बॉस में फिर छिड़ी जंग, आसिम रियाज ने सिद्धार्थ को मारा धक्का तो एक्टर ने खोया आपा- देखें Video

Advertisement