NDTV Khabar

पुडुचेरी के CM ने किरण बेदी को बताया 'हिटलर की बहन', कहा- जब भी वह हमारे फैसलों को नामंजूर करती हैं तो...

पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी (V Narayanasamy) ने उपराज्यपाल किरण बेदी (Kiran Bedi) के कामकाज के तरीके की आलोचना करते हुए कहा कि वह जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर (Hitler) की 'बहन' लगती हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुडुचेरी के CM ने किरण बेदी को बताया 'हिटलर की बहन', कहा- जब भी वह हमारे फैसलों को नामंजूर करती हैं तो...

पुडुचेरी के CM वी नारायणसामी ने किरण बेदी को बताया 'हिलटर की बहन.

खास बातें

  1. नारायणसामी ने किरण बेदी को बताया हिटलर की बहन
  2. 'जब भी वह हमारे फैसलों को नामंजूर करती हैं तो खून खौल जाता है'
  3. LG किरण बेदी और CM नारायणसामी के बीच कई बार हो चुकी है जुबानी जंग
पुडुचेरी:

पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी (V Narayanasamy) ने उपराज्यपाल किरण बेदी (Kiran Bedi) के कामकाज के तरीके की आलोचना करते हुए कहा कि वह जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर (Hitler) की 'बहन लगती हैं' और वह जब भी मंत्रिमंडल के फैसलों को नकारती हैं तो उनका खून 'खौल' जाता है. किरण बेदी के पुडुचेरी का राज्यपाल बनने के बाद से ही उनके कामकाज के तरीकों पर सवाल उठाने वाले नारायणसामी ने आरोप लगाया कि वह चुनी हुई सरकार के फैसलों को ठुकराकर सरकार के नियमित कामकाज में 'बेवजह' दखल दे रही हैं. नारायणसामी ने पार्टी कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर सत्तारूढ़ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से कहा, 'वह एक तानाशाह की तरह काम कर रही हैं और जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर की बहन लगती हैं.'

हिंदी पर अमित शाह के बयान को लेकर सियासी घमासान जारी, नारायणसामी ने दी चेतावनी तो किरण बेदी ने उठाए सवाल


पूर्व आईपीएस अधिकारी बेदी पर तीखा हमला बोलते हुए नारायणसामी ने कहा कि वह मंत्रिमंडल के हर फैसले में बाधा बनकर खड़ी हो जाती हैं. मुख्यमंत्री ने कहा, 'जब भी मुझे बेदी की ओर से हमारे फैसलों को नामंजूर करने से जुड़ी फाइलें मिलती हैं तो मेरा खून खौल उठता है और मैं झुंझला जाता हूं.' उन्होंने कहा कि देश में किसी भी राज्य का राज्यपाल या केंद्र शासित प्रदेश का उपराज्यपाल अपने राज्य या केंद्रशासित प्रदेश के नियमित कामकाज में 'दखल' नहीं दे रहा.

टिप्पणियां

किरण बेदी को 1988 में ऐसी ही स्थिति का करना पड़ा था सामना, अब बोलीं- नतीजा जो कुछ भी हो...

नारायणसामी ने हाल ही में अपनी सिंगापुर यात्रा को लेकर छिड़ी जुबानी जंग का जिक्र करते हुए कहा कि वह केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद ही उद्योग मंत्री शाह जहां और द्रमुक विधायक शिवा के साथ सिंगापुर गए थे और उन्होंने खुद ही यात्रा का खर्च उठाया था. मुख्यमंत्री ने कहा, 'लेकिन उपराज्यपाल ने हमारी यात्रा पर सवाल उठाए. हमें अपनी यात्रा के लिए बेदी की मंजूरी की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि हम उनके नौकर या गुलाम नहीं हैं.' बता दें कि किरण बेदी ने कहा था कि उन्हें मीडिया के जरिये इस यात्रा के बारे में पता चला. उन्होंने सवाल उठाया कि इस यात्रा के लिए जरूरी मंजूरी ली गई थी या नहीं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement