NDTV Khabar

किरण बेदी ने पुडुचेरी के मुख्यमंत्री के पत्र को 'बेहद अशिष्ट' बताया 

बेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने इससे पहले भी कई ‘अशिष्ट’ पत्र लिखे हैं और अब तो इस तरह का पत्र लिखना एक अभ्यास ही बन गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किरण बेदी ने पुडुचेरी के मुख्यमंत्री के पत्र को 'बेहद अशिष्ट' बताया 

किरण बेदी फिर घिरीं विवादों में

नई दिल्ली: पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने मुख्यमंत्री वी नारायणसामी द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र को ‘बेहद अशिष्ट’ बताया. इस पत्र में मुख्यमंत्री ने उपराज्यपाल पर आरोप लगाया था कि वह आधिकारिक जानकारियों का ‘खुलासा’ सोशल मीडिया पर करती हैं. बेदी ने संवाददाताओं को भेजे गए अपने वाट्सएप्प संदेश में कहा कि नारायणसामी ने जो पत्र मीडिया में जारी किए हैं, अगर यह वही पत्र है जो उन्होंने उप राज्यपाल को लिखा था तो मैं यह सूचित करना चाहती हूं कि यह मूल पत्र मुख्यमंत्री को वापस भेज दिया गया है क्योंकि इसे किसी संवैधानिक पद पर बैठे शख्स को लिखा गया अशिष्ट पत्र माना गया है.

यह भी पढ़ें: नारायणसामी को उम्मीद - तौरतरीके बदलेंगी किरण बेदी, यह फैसला पुडुचेरी पर भी लागू होता है

बेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने इससे पहले भी कई ‘अशिष्ट’ पत्र लिखे हैं और अब तो इस तरह का पत्र लिखना एक अभ्यास ही बन गया है. उन्होंने कहा कि मैं आशा करती हूं कि मुख्यमंत्री यह महसूस करेंगे कि इस तरह का पत्र मुख्यमंत्री जैसे जिम्मेदार पद पर बैठे लोगों की शोभा नहीं बढ़ाता है. नारायणसामी द्वारा 10 अगस्त को बेदी को लिखे गए पत्र में कहा गया था. बेदी को बिना संबंधित मंत्री के अधिकारियों को आदेश जारी करने का कोई स्वतंत्र अधिकार नहीं है. गौरतलब है कि किरण बेदी पहले भी अपने कई बयानों की वजह से विवादों में रह चुकी है.

टिप्पणियां
VIDEO: किरण बेदी ने लिया मुहिम में हिस्सा.


ऐसे ही एक बयान में उन्होंने कहा  था कि हम पुदुच्चेरियनों (पूर्व फ्रांसीसी क्षेत्र) ने वर्ल्डकप जीत लिया है... बधाई हो, मित्रों... मिली-जुली टीम - सभी फ्रांसीसी थे... खेल सभी को जोड़ता है.इसके कुछ ही देर बाद जाने-माने पत्रकार शेखर गुप्ता ने ट्विटर पर ही किरण बेदी को जवाब देते हुए कहा, "छोटा-सा सुधार करना होगा, मैडम... पुदुच्चेरी कभी फ्रांसीसी क्षेत्र नहीं रहा है... वह हमेशा भारतीय क्षेत्र रहा है, जिस पर कब्ज़ा कर फ्रांस ने उपनिवेश बना लिया था... कभी किसी की हिम्मत नहीं हो सकती, गोवा को पूर्व पुर्तगाली क्षेत्र बताए..."(इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement