लद्दाख विवाद : भारत-चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की 7वें दौर की बातचीत जारी, सीमा पर तनाव कम करने पर रहेगा फोकस

Eastern Ladakh Clash: पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली जगहों से सैनिकों को पूरी तरह से हटाये जाने के लिए एक रूपरेखा तैयार करने के एक एजेंडे के साथ भारत और चीन की सेनाओं के बीच कोर कमांडर स्तर की सातवें दौर की चर्चा हो रही है.

लद्दाख विवाद : भारत-चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की 7वें दौर की बातचीत जारी, सीमा पर तनाव कम करने पर रहेगा फोकस

India-China Border Row: पिछले कुछ महीनों से भारत और चीन की सेनाएं सीमा पर आमने-सामने डटी हुई हैं

पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली जगहों से सैनिकों को पूरी तरह से हटाये जाने के लिए एक रूपरेखा तैयार करने के एक एजेंडे के साथ भारत और चीन की सेनाओं के बीच कोर कमांडर स्तर की सातवें दौर की चर्चा हो रही है. यह बैठक आज 12.30 बजे से लेह के चुशूल में शुरू हुई.  बैठक का एजेंडा विदेश और रक्षा मंत्रियों के बातचीत के मुताबिक सीमा पर डीएस्कलेशन स्थापित करना है. गौर हो कि पिछले कुछ महीनों से भारत और चीन की सेनाएं सीमा पर आमने-सामने डटी हुई हैं. सेनाओं को किस तरह से पीछे ले जाना है इस पर चर्चा की जानी है. भारत का कहना है कि चीन जहां-जहां सीमा पर आगे बढ़ा है और अतिरिक्त सैनिकों को तैनात किया है उन सब जगहों से सैनिको को पीछे ले जाए. 

Read Also: लद्दाख तनाव पर बोले US के NSA, स्वीकार करना होगा कि बातचीत से नहीं आएगा चीन के आक्रामक रुख में बदलाव

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 21 सितम्बर को हुई सैन्य स्तर की वार्ता के पिछले दौर के बाद दोनों पक्षों ने कुछ निर्णयों की घोषणा की थी जिसमें और सैनिकों को अग्रिम मोर्चे पर नहीं भेजने, एकतरफा रूप से जमीनी स्थिति को बदलने से बचने और ऐसे कार्यों को करने से बचने की बात कही गई थी जो आगे मामले को जटिल कर सकते हैं. इससे पहले तनाव बढ़ने पर दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की 10 सितम्बर को मास्को में बैठक हुई थी जहां वे पूर्वी लद्दाख में स्थिति को शांत करने के लिए पांच सूत्री समझौते पर पहुंचे थे. 

Newsbeep

Read Also: भारत की उत्तरी सीमा पर चीन ने की 60,000 सैनिकों की तैनाती, अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच मई के पहले हफ्ते से सीमा पर टकराव से जारी है. 15 जून को गलवान घाटी में दोनो देशों के बीच खूनी हिंसा भी हुई थी. जहां सरहद की हिफ़ाजत में 20 भारतीय जवान वीरगति को प्राप्त हुए थे तो वहीं चीन के भी करीब 35 सैनिक मारे गए थे. फिलहाल बॉर्डर पर हालात सुलझने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं. 

Video: लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच LAC पर तैनात दिखे भारतीय सेना के T-90 टैंक