NDTV Khabar

मौसम : कहीं बिजली तो कहीं गर्मी ने मचाया कहर, बिहार में बिजली गिरने से 5 की मौत

कहीं तमतमाते सूरज की गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है तो कहीं, आसमान से गिरने वाली बिजली से लोग मारे जा रहे हैं. बिहार में शुक्रवार को बिजली गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मौसम : कहीं बिजली तो कहीं गर्मी ने मचाया कहर, बिहार में बिजली गिरने से 5 की मौत

भीषण गर्मी के कहर से आम जनजीवन ठप हो गया है

खास बातें

  1. बिहार के कटिहार जिले में बिजली गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई
  2. राजस्थान के चूरू में तो तापमान 49 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया
  3. बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, मिल सकती है राहत
नई दिल्ली: समूचे उत्तर भारत में इन दिनों असमान से आफत बरस रही है. कहीं तमतमाते सूरज की गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है तो कहीं, आसमान से गिरने वाली बिजली से लोग मारे जा रहे हैं. बिहार में आकाशीय बिजली लोगों पर मौत बनकर गिर रही है. शुक्रवार को कटिहार जिले में बिजली गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई. इससे पहले गुरुवार को भी दरभंगा में चार बच्चों समेत सात लोगों को आसमान से गिरने वाली बिजली का शिकार बने थे.

बिहार में हो रही जगह-जगह बारिश लोगों को गर्मी से राहत तो दिला रही है, लेकिन बारिश के दौरान आसमान से गिरने वाली बिजली से लोग लगातार हताहत हो रहे हैं. कटिहार जिले में आकाशीय बिजली गिरने की अलग अलग घटनाओं में पांच व्यक्तियों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए. मारे गए व्यक्तियों में तीन किसान हैं.

क्षेत्राधिकारी सदानंद मंडल ने बताया कि 62 वर्षीय किसान और उसका एक रिश्तेदार लक्ष्मीपुर बंध टोला में मक्के के खेत में काम कर रहे थे. तभी आकाशीय बिजली गिरने से दोनों की मौत हो गई. गुरुवार को भागलपुर जिले के कहलगांव थाना क्षेत्र में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से चार किशोरों की झुलसकर मौत हो गई जबकि चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. मृतकों में तीन लड़कियां थीं. बिहार शासन ने बिजली गिरने की घटनाओं पर दुख जाहिर करते हुए लोगों को, खासकर ग्रामीण इलाकों में, घरों में ही रहने की सलाह दी है.  

इसके अलावा देश के विभिन्न हिस्सों में इन दिनों भीषण गर्मी जारी है और राजस्थान के चूरू में तो तापमान 49 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. चूरू सबसे गर्म स्थान दर्ज किया गया है. राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान में चार डिग्री सेल्सियस तक की वृद्वि दर्ज की गई. मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार चूरू, श्रीगंगानगर, जैसलमेर, कोटा, बाडमेर, बीकानेर में गर्मी और लू के प्रकोप से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है. 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार का दिन काफी गर्मी व उमस भरा रहा और इसके साथ ही शहर के कुछ हिस्सों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. मौसम विभाग ने बताया कि सफदरजंग वेधशाला के मुताबिक शहर का अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 43.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज की किया गया. यहां नमी का स्तर 65 और 18 प्रतिशत के बीच रहा. मौसम विभाग ने शनिवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाये रहने, बारिश, गरज के साथ छीटें या धूल भरी आंधी चलने की संभावना व्यक्त की है.

दिल्ली के अलावा पंजाब और हरियाणा भी इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है. हिसार इन दोनों राज्यों में सबसे गर्म स्थान रहा, जहां का अधिकतम तापमान 47.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. चंडीगढ़ का अधिकतम तापमान 42.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उत्तर प्रदेश की बात करें तो भीषण गर्मी की मार सहन कर रहे लोगों के लिए यहां आने वाले दो-तीन दिन राहत भरे हो सकते हैं. पश्चिमी विक्षोभ के कारण राज्य में अनेक स्थानों पर मानसून पूर्व बारिश होने के प्रबल आसार हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है और पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय हो चला है, जिसके कारण 28, 29 और 30 मई को प्रदेश में अनेक स्थानों पर मानसून पूर्व बारिश होने का अनुमान है.

टिप्पणियां
यहां गोरखपुर तथा फैजाबाद मण्डलों में अधिकतम तापमान में खासी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई. इसके अलावा गोरखपुर, वाराणसी, फैजाबाद, इलाहाबाद, लखनउ, बरेली, मुरादाबाद तथा मेरठ मण्डलों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहा.

(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement