संसद में कांग्रेस सांसद और मार्शलों के बीच धक्का-मुक्की, ‘स्टॉप मर्डर ऑफ डेमोक्रेसी’ लिखे पोस्टर के साथ कर रहे थे प्रदर्शन

पहली बार सदन में पहुंचे गांधी ने सवाल पूछने से इनकार करते हुए कहा, ‘महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या हुई है, ऐसे में मेरे सवाल पूछने का कोई मतलब नहीं है.’

संसद में कांग्रेस सांसद और मार्शलों के बीच धक्का-मुक्की, ‘स्टॉप मर्डर ऑफ डेमोक्रेसी’ लिखे पोस्टर के साथ कर रहे थे प्रदर्शन

शीतकालीन सत्र में पहली बार प्रश्नकाल में सदन की बैठक स्थगित हुई है.

खास बातें

  • महाराष्ट्र को लेकर संसद में हंगामा
  • लोकसभा में विरोध कर रहे थे कांग्रेस विधायक
  • प्रदर्शन करते हुए आसन के पास पहुंच गए थे
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र मुद्दे पर लोकसभा में सोमवार को कांग्रेस सदस्यों के भारी हंगामे और पार्टी के दो सदस्यों हिबी इडेन एवं टी एन प्रतापन तथा मार्शलों के बीच धक्का-मुक्की के कारण सदन की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. एक बार के स्थगन के बाद सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे दोबारा शुरू होने के साथ ही पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने सभा की बैठक दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी. इससे पहले सोमवार सुबह लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस सदस्य नारेबाजी करते और पोस्टर लिए हुए आसन के निकट पहुंच गए. इडेन और प्रतापन ने बड़ा पोस्टर ले रखा था जिस पर ‘स्टॉप मर्डर ऑफ डेमोक्रेसी' लिखा था.

नारेबाजी के बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने प्रश्नकाल शुरू कराया और अनुसूचित जाति के लड़के-लड़कियों के छात्रावास विषय पर पूरक प्रश्न पूछने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम पुकारा. इस सत्र में पहली बार सदन में पहुंचे गांधी ने सवाल पूछने से इनकार करते हुए कहा, ‘महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या हुई है, ऐसे में मेरे सवाल पूछने का कोई मतलब नहीं है.'

इसी बीच स्पीकर बिरला ने बड़ा पोस्टर लहरा रहे इडेन और प्रतापन को ऐसा नहीं करने की चेतावनी दी. सदस्यों के नहीं मानने पर स्पीकर ने मार्शलों को दोनों कांग्रेस सदस्यों को सदन से बाहर करने का आदेश दिया. इसके बाद मार्शल इन दोनों सदस्यों को सदन से बाहर ले जाने के लिए पहुंचे तो उनके साथ इडेन, प्रतापन और अन्य कांग्रेस सदस्यों की धक्कामुक्की हो गई. 

Maharashtra Govt Formation: दलीलें सुनने के बाद SC ने सुरक्षित रखा फैसला, कल सुबह 10.30 बजे सुनाया जाएगा फैसला

इस दौरान भाजपा के कई सदस्य और कांग्रेस के मुख्य सचेतक के. सुरेश बीच-बचाव करते हुए नजर आए. इस बीच, स्पीकर ने मार्शलों को लौटने के लिए कहा. हंगामा बढ़ता देख अध्यक्ष बिरला ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

शीतकालीन सत्र में पहली बार प्रश्नकाल में सदन की बैठक स्थगित हुई है. इससे पहले 18 नवंबर को शुरू हुए मौजूदा सत्र के पहले दो दिन विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी सदस्यों की नारेबाजी के बीच प्रश्नकाल पूरा चला. बाकी तीन दिन भी प्रश्नकाल शांति से चला. सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने कांग्रेस सांसदों ने महाराष्ट्र के मुद्दे पर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में प्रदर्शन किया. हाथों में बैनर लिए कांग्रेस नेताओं ने ‘लोकतंत्र की हत्या बंद करो' ‘प्रधानमंत्री होश में आओ' और ‘वी वांट जस्टिस' के नारे लगाए.

महाराष्ट्र मुद्दे पर लोकसभा में भारी हंगामा, राहुल गांधी बोले- लोकतंत्र की हत्या हुई है

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में अप्रत्याशित राजनीतिक घटनाक्रम में राज्यपाल ने शनिवार की सुबह भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और राकांपा नेता अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलायी.  इसके बाद से शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा ने अपने-अपने विधायकों को मुंबई के अलग-अलग होटलों में ठहराया है. फडणवीस और अजित पवार के शपथग्रहण के बाद इन तीनों दलों ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया है जिस पर शीर्ष अदालत मंगलवार को फैसला सुनाएगी.

VIDEO: संसद भवन में हुए विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुईं सोनिया गांधी



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)