NDTV Khabar

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला बोले- सदन बहुमत से नहीं सर्वसम्मति से चलता है

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का संवैधानिक पदभार ग्रहण करने के बाद पहला सार्वजनिक अभिनंदन दिल्ली में किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला बोले- सदन बहुमत से नहीं सर्वसम्मति से चलता है

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला

खास बातें

  1. लोकसभा अध्यक्ष का दिल्ली में पहला सार्वजनिक अभिनंदन
  2. सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम में आयोजित
  3. दिल्ली के सभी सातों सांसद मौजूद
नई दिल्ली:

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का संवैधानिक पदभार ग्रहण करने के बाद पहला सार्वजनिक अभिनंदन दिल्ली में किया गया. शनिवार को सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम में आयोजित भव्य अभिनंदन कार्यक्रम में दिल्ली के सभी सातों सांसद मौजूद थे. इस मौके पर दिल्ली के सभी सांसदों की ओर से उनका स्वागत किया गया. साथ ही संसद सदस्य मनोज तिवारी ने एक गीत प्रस्तुत कर उनका स्वागत किया. ओम बिरला ने कहा कि वह अपने सहयोगी सांसदों की वजह से ही सही तरीके से सदन का संचालन कर पाये. उन्होंने कहा कि पिछले अनुभव से उन्होंने बहुत कुछ सीखा. पहले जब संसद की कार्यवाही बार-बार स्थगित होती थी तो दुख होता था. उन्होंने कहा कि सांसदों को लोग इसलिए चुनकर भेजते हैं कि वे अपने क्षेत्र की समस्याएं उठा सकें. लोकतंत्र में संसद अभिव्यक्ति का केंद्र है मंदिर है.

कश्मीर बनकर रह गए हैं यूपी और एमपी के 8 लाख नौजवान, मुझे व्हाट्सऐप कर रहे हैं


 लोकसभा अध्यक्ष ने जोर देकर कहा कि संसद ज्यादा से ज्यादा चले. 1952 के अंदर लगातार 67 दिन संसद की कार्यवाही चली. उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि सदन जनकल्याण के मकसद से ज्यादा से ज्यादा चलना चाहिए. हांलाकि हर सरकार ने अच्छे कानून बनाने का प्रयास किया, फिर भी बीच का अंतराल ऐसा भी आया जब अधिकतम समय लोकसभा की कार्यवाही बाधित हुई. उन्होंने कहा कि अलग-अलग विचारधारा की वजह से ऐसा होता है, लेकिन अलग-अलग विचारधाराओं के होने के बावजूद जब देश का सवाल आता है तो विचारधारा से ऊपर उठकर लोग साथ खड़े होते हैं. संसद में यही अभिव्यक्ति होनी चाहिए. 

उन्होंने जोर देकर कहा कि जब भी देश का सवाल हो सभी दलों को अपनी विचारधारा से ऊपर उठकर साथ खड़ा होना चाहिए. सदन सबकी सहमति से चलता है. इस बार सत्ता पक्ष के साथ विपक्ष ने भी साथ दिया. यह उल्लेख करते हुए कि प्रधानमंत्री ने कहा था सदन बहुमत से नही सर्वसम्मति से चलता है, उन्होंने कहा कि उन्होंने यही प्रयास सदन चलाने में किया.

CWC की मीटिंग में फैसला, सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया

इस अवसर पर बीजेपी नेता श्याम जाजू ने कहा कि धारा 370 समाप्त करने के बाद पूरे देश मे उत्साह है, ये देश भक्ति की अभिव्यक्ति है. उन्होंने कहा कि लोकसभा ने 1952 के बाद जिस तरह का कीर्तिमान स्थापित किया, 36 विधेयक पारित किए. कई इतिहास रचे गए उसका पूरा श्रेय लोकसभा अध्यक्ष बिड़ला को ही जाता है.

टिप्पणियां

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, 2022 में आजादी के 75 वर्ष पूरे कर रहे हैं तो उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि संसद भी आधुनिक रूप में नजर आये. उन्होंने बताया कि वह एक पोर्टल शुरू करेंगे जिसके माध्यम से सभी लोगों के सुझाव लेंगे कि लोकतंत्र का मंदिर कैसे औऱ भव्य बने.

Video: सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्रालय को बनाया आम लोगों का मंत्रालय- ओम बिरला



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement