NDTV Khabar

कांग्रेस के 6 सांसद 5 दिन के लिए सस्पेंड, स्पीकर बोलीं- सांसदों की पार्टी देखकर फैसला नहीं करती

जब कांग्रेस के कई सासंदों ने लोकसभा स्पीकर के समक्ष कागज उछाले तो अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस सांसदों के द्वारा इस तरह की हरकत शर्मनाक है.

826 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस के 6 सांसद 5 दिन के लिए सस्पेंड, स्पीकर बोलीं- सांसदों की पार्टी देखकर फैसला नहीं करती

लोकसभा से कांग्रेस के 6 सांसद 5 दिन के लिए सस्पेंड

खास बातें

  1. भीड़ द्वारा हत्याओं के मामले पर हो रहा था हंगामा
  2. स्पीकर की ओर उछाले थे कागज
  3. स्पीकर ने 5 दिन के लिए किया है सस्पेंड
नई दिल्ली: लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने आज कांग्रेस के छह सांसदों को 5 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया. इन सांसदों पर अध्यक्ष की ओर कागज फाड़कर उछालने का आरोप है. इन पांच सांसदों में गौरव गोगोई, अधीर रंजन चौधरी,रंजीत रंजन, एमके राघवन, सुष्मिता देब और के सुरेश शामिल हैं. ये सांसद भीड़ की हिंसा पर काम रोको प्रस्ताव लाना चाहते थे. दरअसल, सांसदों ने आज मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर हंगामा किया. जब कांग्रेस के कई सांसदों ने लोकसभा स्पीकर के समक्ष कागज उछाले तो अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस सांसदों के द्वारा इस तरह की हरकत शर्मनाक है. इस दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी भी मौजूद थे.  स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि देखना चाहती हूं कि सांसद कितनी अनुशासन हीनता कर सकते हैं, देश भी इनके बर्ताव को देख रहा है. इन सभी सांसदों पर संसद की कार्यवाही में बाधा डालने का आरोप था. 

मैं सांसदों की पार्टी देखकर फैसला नहीं करती : सुमित्रा महाजन
लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा- मैं सांसदों की पार्टी देखकर फैसला नहीं करती. आज उन्होंने एक बार नहीं चार बार कागज के टुकड़े फेंके. बच्चों जैसा काम किया. कॉलेज और स्कूल के बच्चों को हम क्या कहेंगे. आज कार्रवाई नहीं करेंगे तो कल के लिए अनुशासन किस प्रकार रख पाएंगे.

पढ़ें: 2015 में भी कांग्रेस के 25 सांसद लोकसभा से हुए थे सस्पेंड

खडगे ने कहा- मॉब लिंचिंग पर सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा कि भीड़ के हमले से हत्या के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.पीएम ने तीन बार इस मुद्दे पर बोला लेकिन कोई एक्शन नहीं हुआ. जब तक कदम नहीं उठाए जाएंगे, ये घटनाएं नहीं रुकेंगी. 

बोफोर्स मुद्दे पर राहुल गांधी का करारा जवाब
आज लोकसभा में बोफोर्स का मुद्दा भी उठाया गया, जिसे लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वे (बीजेपी) काफी लंबे समय से इस मुद्दे को उठा रहे हैं. अगले 30 सालों तक उन्हें यह मुद्दा उठाने दो.

पढ़ें- सांसदों की सदन में कम से कम 100 दिन की उपस्थिति अनिवार्य होनी चाहिए: येचुरी

टिप्पणियां
25 सांसदों के निलंबन को सोनिया गांधी ने बताया था काला दिन
इससे पहले 2015 में भी स्पीकर सुमित्रा महाजन ने पोस्टर दिखाने और शोरशराबा करने वाले कांग्रेस के 25 सदस्यों को पांच बैठकों के लिए निलंबित कर दिया गया था. सुमित्रा महाजन ने कहा कि स्थिति नियंत्रण से बाहर जा जाने पर उन्हें ऐसी सख्त कार्रवाई करनी पड़ी था. इसे लेकर कांग्रेस अध्य़क्ष सोनिया गांधी ने एनडीटीवी से कहा था कि यह लोकतंत्र के लिए 'काला दिन' है.

VIDEO: 2015 में भी 25 सांसद हुए थे निलंबित


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement