87 साल के बुजुर्ग डॉक्टर कर रहे नेक काम, कोरोना के बीच साइकिल से लोगों के घर जाकर कर रहे इलाज

महाराष्ट्र के एक बुजुर्ग डॉक्टर गरीबों की मदद के लिए बहुत नेक काम कर रहे हैं. महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले के रहने वाले बुजुर्ग डॉक्टर की उम्र 87 साल है और ये होम्योपैथिक डॉक्टर हैं. ये लोगों के घर जाकर उनका इलाज कर रहे हैं.

87 साल के बुजुर्ग डॉक्टर कर रहे नेक काम, कोरोना के बीच साइकिल से लोगों के घर जाकर कर रहे इलाज

87 साल के बुजुर्ग डॉक्टर कर रहे नेक काम, कोरोना के बीच साइकिल से लोगों के घर जाकर कर रहे इलाज

महाराष्ट्र :

कोरोना वायरस महामारी (Corona pandemic) ने लोगों के मन में एक खौफ पैदा कर दिया है. हालांकि अब धीर-धीरे हालात सुधर रहे हैं, लेकिन अब भी लोग अपने घरों से तभी बाहर निकलते हैं जब कोई जरूरी काम हो. कोरोना वायरस (महामारी के संक्रमण से बचने के लिए बहुत से डॉक्टर्स तो अब भी मरीजों को देखने में हिचकिचा रहे हैं. ऐसे में महाराष्ट्र Maharashtra) के एक बुजुर्ग डॉक्टर गरीबों की मदद के लिए बहुत नेक काम कर रहे हैं. महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले के रहने वाले बुजुर्ग डॉक्टर की उम्र 87 साल है और ये होम्योपैथिक डॉक्टर (Homoeopathic doctor) हैं. जबसे कोरोना वायरस महामारी शुरु हुई तबसे लेकर अबतक ये लोगों के घर जाकर उनका इलाज कर रहे हैं.

Newsbeep

इससे भी बड़ी बात ये है कि 87 साल की उम्र में भी ये डॉक्टर हर रोज नंगे पैर 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर गांव जाते हैं और आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों के घरों में जाकर उनका इलाज करते हैं. बता दें कि पिछले 60 सालों से वे हर रोज इसी तरह साइकिल से लोगों के घर जाकर उनका इलाज कर रहे हैं. होम्योपैथिक डॉक्टर रामचंद्र दानेकर (Dr Ramchandra Danekar) का कहना है, कि मैं लगभग हर रोज़ गांव का दौरा कर रहा हूं. कोविड 19 के डर से डॉक्टर गरीब मरीजों का इलाज करने से डरते हैं, लेकिन मुझे इससे कोई डर नहीं है. आजकल के युवा डॉक्टर केवल पैसे कमाना चाहते हैं, लेकिन गरीबों की सेवा नहीं करना चाहते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 8,142 नए मामले, 180 लोगों की मौत