महाराष्ट्र में कोरोना के 23,350 नए मामले, 328 और मरीजों की मौत

Maharashtra Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में राज्य में 328 मरीजों की मौत इस वायरस की वजह से हो गई जिसके बाद राज्य में मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 26604 हो गया.

मुंबई:

Maharashtra Coronavirus Updates: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में रविवार को जबरदस्त उछाल दर्ज किया गया. राज्य सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना (Coronavirus) के 23,350 नए मरीज सामने आए जिसके बाद यहां संक्रमितों की कुल संख्या 907212 हो गई. वहीं और 328 मरीजों की मौत इस वायरस की वजह से हो गई जिसके बाद राज्य में मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 26604 हो गया. अगर मुंबई (Mumbai Corona) की बात करें तो यहां 1910 नए मामले सामने आए और 37 लोगों की मौत भी हुई. मुंबई में संक्रमितों की कुल संख्या 155622 हो गई जबकि अब तक यहां 7869 लोगों की मौत इस वायरस की वजह से हो चुकी है. वहीं पुणे में 2638 नए मरीज मिले हैं जबकि 37 मरीजों की मौत भी हो गई. पुणे में संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के करीब पहुंच चुका है और नए मामलों के सामने आने के बाद अब यहां संक्रमितों की संख्या 199303 हो गई. वहीं यहां अब तक 4429 मरीजों की मौत इस वायरस के चलते हो चुकी है.

दिल्ली में करीब ढाई माह बाद एक दिन में कोरोना के तीन हजार से अधिक केस आए

कोरोना वायरस संक्रमण के रोजाना नए रिकॉर्ड बना रहा है. पहली बार एक ही दिन में 90,000 से ज्यादा Covid-19 के मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में (शनिवार सुबह 8 बजे से लेकर रविवार सुबह 8 बजे तक) रिकॉर्ड 90,632 नए मामले सामने आए हैं. जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 41 लाख के चिंताजनक आंकड़े को पार करते हुए 41,13,811 हो गई है. वहीं इस दौरान 1065 मरीजों की मौत हुई है और कुल मृतकों की संख्या 70,626 हो चुकी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Coronavirus से ठीक होने वालों के प्रतिशत में इजाफा, मृत्यु दर भी लगातार हो रही कम

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटों में 73,642 मरीज इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से उबर चुके हैं. यह एक दिन में ठीक होने वालों की सबसे ज्यादा संख्या है. अब तक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 31 लाख के पार जा चुकी है. देश में इस वक्त मामले 8,62,320 एक्टिव हैं. यानी कि इनका इलाज या तो अस्पताल में चल रहा है या फिर यह होम आइसोलेशन में हैं.