शिवसेना का BJP पर हमला- छत्रपति के महाराष्ट्र से लिया गया पंगा तुम्हारा तंबू उखाड़ कर रहेगा

सामना में लिखा गया है कि हमें 'एनडीए' से निकालने वाले तुम कौन? घोषणा करने वाले को शिवसेना का 'मर्म' और NDA का कर्म-धर्म नहीं पता. NDA के जन्म और प्रसव पीड़ा को शिवसेना ने अनुभव किया है.

शिवसेना का BJP पर हमला- छत्रपति के महाराष्ट्र से लिया गया पंगा तुम्हारा तंबू उखाड़ कर रहेगा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे.

खास बातें

  • शिवसेना का भाजपा पर निशाना
  • सामना के संपादकीय के जरिए हमला
  • कहा- कोई BJP के बगल में नहीं खड़ा था
मुंबई:

शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक बार फिर इशारों में बीजेपी पर हमला बोला गया है. उसमें लिखा गया है कि किस आधार पर, किसकी अनुमति से NDA में शिवसेना के नहीं होने की घोषणा की गई. हमें 'एनडीए' से निकालने वाले तुम कौन? घोषणा करने वाले को शिवसेना का 'मर्म' और NDA का कर्म-धर्म नहीं पता. NDA के जन्म और प्रसव पीड़ा को शिवसेना ने अनुभव किया है. भारतीय जनता पार्टी के बगल में भी कोई खड़ा नहीं होना चाहता था. जब NDA की नीव रखी गई तब आज के 'दिल्लीश्वर' गुदड़ी में भी नहीं रहे होंगे. जिसने NDA की स्थापना की, उसे ही बाहर निकालने की नीच घोषणा की गई. 

साथ ही लिखा है, शिवसेना प्रमुख की पुण्यतिथि पर उनके ही संगठन को बाहर करने का ऐलान किया गया. पिछले साढ़े सात सालों में एनडीए के अस्तित्व को नष्ट कर दिया. छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र से लिया गया पंगा तुम्हारा तंबू उखाड़ कर रहेगा. हमने महाराष्ट्र में कृतघ्न और विश्वासघाती प्रवृत्ति को कई बार जीवनदान दिया. आज यही प्रवृत्ति शिवसेना की पीठ पर वार करने का प्रयास कर रही है. अगर हमने कांग्रेस से हाथ मिलाया तो हम पर आरोप पत्र क्यों नहीं लाए?

शिवसेना, कांग्रेस और NCP के बीच गठबंधन के आसार बढ़े, महापौर के चुनाव में दिखी नजदीकियों की एक झलक

वहीं, महाराष्ट्र की सियासत पर सस्पेंस अब भी बना हुआ है. एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार सोमवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से क़रीब एक घंटे मिले. शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के सवाल पर पवार ने साफ़ तौर पर कुछ भी नहीं कहा. पवार ने ये भी कह दिया कि वो तो अभी सबके साथ हैं. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों के 25 दिन बाद भी राज्य में जहां कोई सरकार नहीं बन पाई है तो वहीं उम्मीद की जा रही थी कि सोमवार शाम एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच हुई मुलाकात के बाद तस्वीर साफ होगी. बैठक के बाद शरद पवार ने आने के बाद घर पर पत्रकारों से बात की लेकिन शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर अपने पत्तों को नहीं खोला.

महाराष्ट्र की सरकार पर सस्पेंस बरकरार! सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद भी NCP चीफ शरद पवार ने नहीं खोले पत्ते

बैठक से पहले राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने सदन में एनसीपी की तारीफ की जिसके बाद एनसीपी और बीजेपी के बीच बढ़ती नजदीकियों पर चर्चा होने लगी. पत्रकारों से बात करते समय शरद पवार ने सबको तब चौंका दिया जब उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को लेकर कोई बैठक नहीं हुई है.

Newsbeep

NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद बोले शिवसेना नेता संजय राउत, 'मुझे भरोसा है कि जल्द ही...'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: महानरपालिका के महापौर चुनाव में कांग्रेस और एनसीपी ने नहीं उतारे अपने उम्मीदवार