NDTV Khabar

मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने शरद पवार से मुलाकात की, अटकलों का बाजार गर्म

महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही राजनीतिक हलचल जोरों पर है. भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने शरद पवार से मुलाकात की, अटकलों का बाजार गर्म

महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे (फाइल फोटो)

मुंबई:

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर असमंजस के बीच महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने शनिवार को राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) से उनके आवास पर मुलाकात की. मनसे सूत्रों ने कहा यह एक संक्षिप्त मुलाकात थी जो 10 मिनट तक चली. महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही राजनीतिक हलचल जोरों पर है. भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है. महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना (मनसे) को विधानसभा चुनाव में सिर्फ कल्याण ग्रामीण सीट पर ही जीत मिली. सूत्रों ने कहा, "अगर भाजपा बहुमत साबित करने में विफल रही तो अन्य दल सरकार गठन के समय एक-एक सीट को जोड़ने की कोशिश करेंगे. इस संदर्भ में राज ठाकरे की पवार से मुलाकात काफी अहम है.

टिप्पणियां

महाराष्ट्र के इस बड़े नेता और केंद्रीय मंत्री ने उद्धव ठाकरे के सीएम बनने के बारे में कह दी ये बड़ी बात
शिव सेना द्वारा आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री के तौर पर पेश किए जाने के बीच केंद्रीय मंत्री व आरपीआई (ए) के प्रमुख रामदास अठावले ने शनिवार को युवा नेता को महाराष्ट्र की राजनीति में नौसिखिया करार देते हुए इस पद के लिए सही नहीं माना. अठावले ने सुझाव दिया कि भविष्य में अगर अवसर मिले तो शिवसेना अध्यक्ष एवं आदित्य के पिता उद्धव ठाकरे इस शीर्ष पद के बारे में सोचें. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा भाजपा को उसके अन्य सहयोगी दलों के साथ महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिये न्योता दिए जाने के बाद केंद्रीय मंत्री ने यह टिप्पणी की.


इस बीजेपी नेता ने बता दी नई महाराष्‍ट्र सरकार के शपथ ग्रहण की तारीख
सत्ता बंटवारे को लेकर महाराष्ट्र में शिवसेना और भाजपा के बीच खींचतान जारी रहने के बीच भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने शनिवार को भरोसा जताया कि राज्य में 10 नवम्बर से पहले नयी सरकार बन जाएगी. शिवसेना ने मुनगंटीवार पर उनके इस बयान को लेकर निशाना साधा था कि विधानसभा चुनाव के बाद वर्तमान में जारी गतिरोध समाप्त नहीं हुआ तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लग सकता है. मुनगंटीवार ने यह भी कहा कि दोनों सहयोगी दलों को जनादेश का सम्मान करना चाहिए. महाराष्ट्र की वर्तमान 13वीं विधानसभा का कार्यकाल नौ नवम्बर को समाप्त हो रहा है. मुनगंटीवार ने चंद्रपुर में कहा कि नयी सरकार का शपथग्रहण छह या सात नवम्बर को होगा. उन्होंने कहा, ‘‘जनादेश का सम्मान करना भाजपा और शिवसेना का कर्तव्य है. मंत्री पद किस तरह से बांटना है यह चर्चा के जरिये तय हो सकता है.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement