शिवसेना का BJP पर हमला: 'क्या अमित शाह ने PM मोदी को भी 50:50 फॉर्मूले को लेकर...'

महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में उठापटक के बीच शिवसेना (Shiv Sena) ने एक बार फिर 50:50 फॉर्मूले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसा.

शिवसेना का BJP पर हमला: 'क्या अमित शाह ने PM मोदी को भी 50:50 फॉर्मूले को लेकर...'

Maharashtra News: पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी पर बोला हमला
  • 50:50 फॉर्मूले को लेकर संजय राउत ने दिया बयान
  • 'क्या पीएम को भी 50:50 फॉर्मूले को लेकर अंधेरे में रखा गया'
मुंबई:

महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में उठापटक के बीच शिवसेना (Shiv Sena) ने एक बार फिर 50:50 फॉर्मूले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसा. शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि अगर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को सीट बंटवारे के '50:50' फॉर्मूले के बारे में समय पर सूचना दी होती तो महाराष्ट्र को वर्तमान राजनीतिक संकट से न गुजरना पड़ता. राउत ने आश्चर्य जताते हुए पूछा कि क्या भाजपा के शीर्ष नेताओं ने सीट बंटवारे पर किए गए फैसले को लेकर प्रधानमंत्री को 'अंधेरे में रखा'? अमित शाह ने बुधवार को कहा था कि मुख्यमंत्री का पद साझा करने सहित शिवसेना की कई मांगें भाजपा को 'अस्वीकार्य' हैं. अमित शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के इस दावे को भी खारिज कर दिया था कि भाजपा गठबंधन सहयोगी दल के साथ मुख्यमंत्री पद साझा करने पर सहमत हुई थी. शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विधानसभा चुनाव प्रचार के  दौरान जनता के सामने 'कम से कम 100 बार' जिक्र किया था कि यदि भाजपा-शिवसेना गठबंधन को बहुमत मिलता है तो देवेंद्र फडणवीस फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे.

महाराष्ट्र को 20 दिन में मिल सकती है नई सरकार, एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना ने मिलकर किया मंथन

संजय राउत ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, 'यदि शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 50:50 के फॉर्मूला के बारे में समय पर सूचना दी होती तो आज हम इस स्थिति का सामना नहीं कर रहे होते.' राजनीतिक संकट के चलते  महाराष्ट्र में अब राष्ट्रपति शासन लागू है. उन्होंने कहा, 'मैंने प्रधानमंत्री मोदी को (चुनाव प्रचार के दौरान) यह कहते हुए सुना कि फडणवीस महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने रहेंगे, लेकिन हमने शिष्टाचार बनाए रखा और इस पर आपत्ति नहीं की क्योंकि हमने इसे अपने लिए राजनीतिक संदेश के रूप में नहीं देखा.'

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के गतिरोध के बीच, शिवसेना सांसद संजय राउत बोले- हारना मना है

राज्यसभा सदस्य ने कहा, 'मुझे आश्चर्य है कि क्या भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उसके और शिवसेना के बीच हुए सीट बंटवारा समझौते को लेकर मोदी को अंधेरे में रखा?' उन्होंने कहा कि शाह और ठाकरे के बीच शिवसेना प्रमुख के आवास पर (लोकसभा चुनाव से पहले फरवरी में) बैठक हुई थी. राउत ने कहा, 'यह दिवंगत बालासाहेब ठाकरे का ड्राइंग रूम था, लेकिन हमारे लिए यह मंदिर है. बातचीत मंदिर में हुई थी. यदि कोई कहता है कि कोई वायदा नहीं किया गया तो यह मंदिर, बालासाहेब ठाकरे और महाराष्ट्र का अपमान है.' उन्होंने कहा कि शिवसैनिकों के लिए यह कमरा एक 'पवित्र स्थल' है.

महाराष्ट्र: जिस 50-50 फॉर्मूले पर टूटा BJP-शिवसेना का गठबंधन, अब उसी ब्लूप्रिंट पर राज्य में बन सकती है नई सरकार 

बता दें कि अमित शाह ने बुधवार को एक बयान में कहा था कि निजी बातचीत में हुई चीजों को सार्वजनिक करना भाजपा का सिद्धांत नहीं है. बयान में 30 साल पुराने गठबंधन घटकों-भाजपा और शिवसेना के बीच समझौते के ब्यौरे के बारे में कुछ नहीं कहा गया. राउत ने कहा, 'जब बंद दरवाजे में किए गए वायदे को पूरा नहीं किया जाता तो तभी यह बाहर आता है. हमने राजनीति में कभी व्यापार नहीं किया, न ही हम राजनीति को लाभ-हानि के दृष्टिकोण से देखते हैं. हम इसे इसलिए सार्वजनिक कर रहे हैं, क्योंकि यह हमारे आत्म-सम्मान के बारे में है.'

Maharashtra News: महाराष्ट्र में सरकार गठन की कोशिशें जारी, कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे ने कही यह बात...

VIDEO: शिवसेना ने ऐसी शर्तें रखीं जो स्वीकार्य नहीं: अमित शाह

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com