NDTV Khabar

ममता बनर्जी का ऐलान, 9 अगस्त शुरू होगा 'बीजेपी भारत छोड़ो' आंदोलन

मता ने कहा कि आज देश में अमत्य सेन जैसे लोग भी सुरक्षित नहीं है. हम 9 अगस्त से 30 अगस्त तक 'बीजेपी भारत छोड़ो' आंदोलन की शुरुआत करने जा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ममता बनर्जी का ऐलान, 9 अगस्त शुरू होगा 'बीजेपी भारत छोड़ो' आंदोलन

फाइल फोटो

खास बातें

  1. केंद्र सरकार पर जमकर बरसीं ममता
  2. 9 अगस्त से शुरू करेंगी बीजेपी भारत छोड़ो आंदोलन
  3. सांप्रदायिक हिंसा पर भी साधा निशाना
नई दिल्ली: बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि देश में आपातकाल से भी ज्यादा बुरे हाल है. उन्होंने एक रैली में केंद्र सरकार और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. ममता ने कहा कि आज देश में अमत्य सेन जैसे लोग भी सुरक्षित नहीं है. हम 9 अगस्त से 30 अगस्त तक 'बीजेपी भारत छोड़ो' आंदोलन की शुरुआत करने जा रहे हैं.  ममता ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर लोग गो राक्षस बन गए हैं. अब वो फैसला कर रहे हैं कि क्या खाना चाहिए और क्या पहनना चाहिए. बंगाल की सीएम ने कहा कि कुछ बाहरी तत्व आकर यहां पर गड़बड़ी कर रहे हैं हमें राज्य में सांप्रदायिक हिंसा नहीं होने देनी है. सारदा घोटाला मामले का जिक्र करते हुए ममता ने कहा कि बीजेपी उनकी पार्टी को तोड़ना चाहती है. वह हमारे नेताओं को धमका रहे हैं कि या तो उनके साथ आ जाओ याफिर सारदा-नारदा का सामना करो.

यह भी पढ़ें :पश्चिम बंगाल हिंसा: फर्जी तस्वीर शेयर करने के आरोप में एक गिरफ्तार

'टीएमसी के पहरेदार हैं'
हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा की ओर इशारा करते हुए ममता ने कहा कि टीएमसी के 'पहरेदार' किसी भी तरह की अफवाह के खिलाफ तैयार हैं जो दंगा फैलाने की लिए इस्तेमाल की जाती है. उन्होंने कहा कि जिनको लगता है कि 2019 में का चुनाव उनकी जेब में वह जान लें कि उनकी पॉकेट में छेद हो चुका है. बीजेपी 2019 के चुनाव में 30 फीसदी भी वोट नहीं पाएंगे.

'बीजेपी के खिलाफ खड़े हर शख्स के साथ हैं'
ममता ने कहा कि वह सोनिया, नवीन, अरविंद केजरीवाल, लालू, नीतीश, उमर अब्दुल्ला या फिर हर ऐसा शख्स जो बीजेपी के खिलाफ है वह उसके साथ हैं. 2019 में बीजेपी को हम कुचल देंगे.

यह भी पढ़ें : लालू के बचाव में उतरीं ममता बनर्जी, कहा - सीबीआई का छापा है 'राजनीतिक बदला'

विदेश नीति पर भी उठाए सवाल
केंद्र सरकार की विदेश नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि आज हमारे रिश्ते नेपाल, बांग्लादेश और भूटान से रिश्ते खराब हैं. तृणमूल देश की रक्षा करेगी. उन्होंने कहा कि कश्मीर में तो सिर्फ एक ही सीमा है. बंगाल तो तीन देशों की सीमाओं से सटा है. अगर बंगाल कोई समस्या होती है तो देश के लिए खतरा खड़ा हो जाएगा. 

टिप्पणियां
हमने सीपीएम से बंगाल की रक्षा की
उन्होंने टीएमसी के समर्थकों का आह्वान करते हुए कि आप लोगों ने सीपीएम की रक्षा बंगाल से की है तो क्या दंगाईयों से नहीं करेंगे. 


दार्जिलिंग में फिर हिंसा पर केंद्र पर भड़कीं ममता बनर्जी  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement