NDTV Khabar

नीच वाले बयान पर फिर फंसे मणिशंकर अय्यर? अब कहा- मैं उल्लू हूं लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने अय्यर के लेख के बारे में पूछे जाने पर कहा कि खुद लेख में कहा गया है कि ये लेखक के निजी विचार हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

पीएम मोदी को 'नीच' कहने वाले बयान को एक वेबसाइट में लेख लिखकर उसको सही ठहराने के मामले में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि एक लाइन लेकर इसमें मुझसे सवाल पूछा जा रहा है. उन्होंने कहा, 'मैं इस खेल में फंसने वाला नहीं हूं, मैं उल्लू हूं, लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं'. अय्यर ने कहा 'मैं हमेशा से मीडिया का पीड़ित रहा हूं और इसने मेरा बहुत नुकसान पहुंचाया है. मैं इस पर कोई सफाई नहीं दूंगा, मुझे बताया गया है कि पार्टी की ओर से आधिकारिक बयान दिया जा चुका है. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि जब वह 6 साल के थे तो प्रधानमंत्री नेहरू देश के प्रधानमंत्री बने थे और जब 23 साल के हुए तो उनका निधन हो गया. अय्यर ने कहा, 'मैंने राजनीति इसी समय सीखा है. आज इस सरकार ने जो माहौल बनाया है उसकी तुलना नेहरू काल से नहीं हो सकती है. आपको बता दें कि अंग्रेजी वेबसाइट में लिखे एक लेख में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने दो साल पहले पीएम मोदी को नीच बतानेवाले अपने बयान को सही ठहरा कर एक बार फिर गहमागहमी बढ़ा दी है. अपने लेख में मणिशंकर ने राजीव गांधी और बालाकोट एयर स्ट्राइक पर पीएम मोदी के बयान का हवाला देते हुए कहा है कि दो साल पहले उन्होंने अपनी टिप्पणी में भविष्यवाणी की थी. हालांकि तब विवाद होने के बाद अय्यर ने इसे अपनी ख़राब हिंदी की चूक बताते हुए माफ़ी मांगी थी.


सैम पित्रोदा के बयान से परेशान कांग्रेस के लिए मणिशंकर अय्यर फिर ले आए 'नीच' वाला बयान

अय्यर ने पीएम मोदी पर अपनी शिक्षा को लेकर झूठ बोलने का आरोप भी लगाया है.. पित्रोदा के बयान की राहुल सार्वजनिक निंदा कर चुके हैं, अब देखना होगा मणिशंकर के इस बयान से कांग्रेस कैसे निकलती है, क्योंकि चुनावी मौसम में बीजेपी इस मौक़े को भुनाने की भरपूर कोशिश करेगी.

टिप्पणियां

मणिशंकर अय्यर ने पूछा- दशरथ के महल में 10 हजार कमरे थे, भगवान राम कौनसे में पैदा हुए?


इस बात का अंदाजा लगाया जा ही रहा था कि बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा कि  कांग्रेस का दोहरा चरित्र और अहंकार फिर सामने आया है और उसे इस बारे में जवाब देना चाहिए. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बीजेपी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि मणिशंकर अय्यर ने जो कहा है वह एक वेबसाइट पर लेख में कहा है, उस पर कांग्रेस का क्या कहना है ? चुनाव प्रचार अभियान के दौरान भाषा मर्यादा के उल्लंघन पर एक सवाल के जवाब में सिंह ने कहा कि यह रूकना चाहिए, इसे रोका जाना चाहिए क्योंकि किसी भी जिम्मेदार नेता को इस प्रकार की बातें नहीं करनी चाहिए. भाजपा प्रवक्ता जी वी एल नरसिम्ह राव ने अपने ट्वीट में कहा कि ‘‘ अपशब्द कहने का मुखिया : एब्यूजर इन चीफ :'' 2017 की अपनी ‘नीच' टिप्पणी को उचित ठहराने लौटे. उन्होंने कहा, ‘‘अय्यर ने तब अपनी खराब हिन्दी का बहाना बनाकर माफी मांगी थी. अब वे कह रहे हैं कि उनका आकलन सही था.  कांग्रेस ने पिछले साल उनके निलंबन को वापस ले लिया था . कांग्रेस का दोहरा चरित्र और अहंकार फिर सामने आया. '' वहीं कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने अय्यर के लेख के बारे में पूछे जाने पर कहा कि खुद लेख में कहा गया है कि ये लेखक के निजी विचार हैं. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement