NDTV Khabar

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर कुमार विश्वास का तंज- यही नकटापन तो पाकिस्तान कहलाता है

कुमार ने पाक पीएम पर तंज कसते हुए कहा, 'नवोदित विश्व महाशक्ति भारत को यूं ही कम आंकते रहो इमरान खान.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर कुमार विश्वास का तंज- यही नकटापन तो पाकिस्तान कहलाता है

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर.

नई दिल्ली:

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को यूएनएससी में वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने पर मशहूर कवि कुमार विश्वास ने पाकिस्तान (Pakistan) पर चुटकी ली है. उन्होंने ट्वीट किया, 'पाकिस्तान कह रहा है कि मसूद अजहर पर ग्लोबल बैन से उस पर कोई असर नहीं पड़ेगा, जबकि पूरी दुनिया ये मान ले कि तुम दहशतगर्दों के फूफा हो और तब भी तुम पर असर न पड़े यही नकटापन तो पाकिस्तान कहलाता है.'

कुमार ने पाक पीएम पर तंज कसते हुए कहा, 'नवोदित विश्व महाशक्ति भारत को यूं ही कम आंकते रहो इमरान खान.' गौरतलब है कि भारत लंबे समय से मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने की मांग कर रहा था लेकिन चीन इसमें अड़ंगा लगा रहा था. इस बार चीन ने भी कोई हस्तक्षेप नहीं किया और यूएन ने अजहर का नाम ब्लैक लिस्ट में डाल दिया. 

UN ने अजहर मसूद को वैश्विक आतंकी करार दिया तो US ने दी प्रतिक्रिया, कहा- यह अमेरिकी कूटनीति की जीत


भारत में हुए कई आतंकी हमलों के लिए अजहर आरोपी है. संसद में हुए हमले, पुलवामा हमले और पठानकोट हमले में अजहर आरोपी था. अजहर का संबंध हरकत-उल अंसार से भी रहा है. पहली बार उसे 1994 में श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया था लेकिन कंधार विमान कांड के बाद भारतीय जेलों में बंद मौलाना मसूद अजहर, मुश्ताक ज़रगर और शेख अहमद उमर सईद जैसे चरमपंथी नेताओं की रिहाई की मांग की गई और उसे छोड़ दिया गया.

मसूद अजहर घोषित हुआ वैश्विक आतंकी तो बीजेपी ने राहुल गांधी से कहा- दिल टूट गया होगा, है ना?

बता दें कि किसी भी शख्स को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की एक प्रक्रिया है. यह प्रक्रिया यूएन के सुरक्षा परिषद में पूरी की जाती है. जहां यूएनएससी के स्थाई सदस्य यानी की अमेरिका,फ्रांस, ब्रिटेन, चीन और रूस और 10 अस्थाई सदस्य वोटिंग करते हैं. किसी को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए सभी स्थाई सदस्यों की सहमति जरूरी होती है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद समिति प्रस्ताव 1267, जिसे आइएसआइएल (दाएश) और अलकायदा अनुमोदन सूची भी कहा जाता है, में उस व्यक्ति का नाम दर्ज करना होता है.

टिप्पणियां

इमरान यदि पीएम मोदी के दोस्त तो दाऊद, मसूद और हाफिज को भारत को सौंपें : दिग्विजय सिंह

Video: रणनीति: मसूद अजहर ग्लोबल आतंकी घोषित



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement