उत्तर प्रदेश में 'मिड डे मील' में भ्रष्टाचार की तस्वीर, 1 लीटर दूध में पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया!

रसोइये द्वारा दूध में पानी मिलाने का वीडियो वायरल हो गया, स्कूल की रसोइया कहती है कि शिक्षा मित्र के कहने पर ऐसा किया

उत्तर प्रदेश में 'मिड डे मील' में भ्रष्टाचार की तस्वीर, 1 लीटर दूध में पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया!

मिड डे मील (मध्याह्न भोजन) के भ्रष्टाचार में यूपी अव्वल है

खास बातें

  • अधिकारी ने कहा, पश्चाताप किया और ढाई घंटे बाद पूरा दूध पिलाया
  • मिड डे मील के भ्रष्टाचार में उत्तर प्रदेश पूरे देश में अव्वल
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय की जानकारी पर तीखी प्रतिक्रियाएं
लखनऊ:

केन्द्र सरकार का यह बयान अभी आया ही था कि मिड डे मील (मध्याह्न भोजन) के भ्रष्टाचार में यूपी अव्वल है, कि सोनभद्र के एक स्कूल से खबर आई कि वहां एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया गया. इस मामले में दो शिक्षामित्र बर्खास्त कर दिए गए हैं. मिर्जापुर में मिड डे मील में बच्चों को नमक रोटी खिलने की खबरें दुनिया भर में सुर्खियां बनी थीं.अब सोनभद्र में यहां के सलाइबनवा स्कूल में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया गया. रसोइये द्वारा दूध में पानी मिलाने का वीडियो स्कूल के ही किसी स्टाफ ने बनाकर वायरल कर दिया. स्कूल की रसोइया कहती है कि शिक्षा मित्र के कहने पर ऐसा किया.

सोनभद्र सलाइबनवा प्राइमरी स्कूल की रसोइया फूलवंती से जब पूछा कि एक पैकेट दूध में कितना पानी मिलाया? उसने कहा कि एक पैकेट में एक बाल्टी डाले हैं. पूछने पर कि कितने बच्चों को पिलाया? उत्तर था 85 बच्चे.

जिले के खंड शिक्षा अधिकारी कहते हैं कि स्कूल से यह गलती तो हुई कि एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया गया, लेकिन इस गलती का एहसास होते ही स्कूल के लोगों ने पश्चाताप किया और ढाई घंटे बाद उन्हें पूरा दूध पिलाया.

मिड डे मील में नमक-रोटी का मामला: DM का अजीबोगरीब बयान- 'फोटो खींच लेते, प्रिंट के पत्रकार ने VIDEO क्यों बनाया?'

खंड शिक्षा अधिकारी मुकेश कुमार ने कहा कि पैकेट का दूध वहां पर था लेकिन कुक ने एक पैकेट में पिलाया, लेकिन दूध था उस वक़्त. पुनः बच्चों को दूध पिलाया गया मानक के अनुसार. भूल हुई है…लेकिन तत्काल भूल का सुधार कर लिया गया.
 

उत्तर प्रदेश: नमक-रोटी खाते बच्चों का वीडियो शूट करने वाले रिपोर्टर पर केस के खिलाफ उतरे पत्रकार  

उधर लोकसभा में बीजेपी सांसद भारती प्रवीण पवार के एक सवाल के जवाब में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरयाल ने जवाब दिया कि तीन साल के दौरान देश भर में मिड डे मील में भ्रष्टाचार की 52 शिकायतें मिलीं. इनमें यूपी की 14, बिहार की 11, पश्चिम बंगल की 6, महाराष्ट्र की 5, राजस्थान की 4,असम, दिल्ली, हरियाणा की 2-2 और छत्तीसगढ़, झारखंड,ओडिशा,पंजाब, त्रिपुरा और उत्तराखंड की एक-एक शिकायतें हैं.

मिड डे मील में नमक के साथ रोटी खाते स्कूली बच्चों का VIDEO बनाने वाले पत्रकार के खिलाफ FIR दर्ज

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की इस जानकारी पर तीखी प्रतिक्रियाएं हुई हैं. प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि “एमएचआरडी की रिपोर्ट कह रही है कि मिड डे मील में भ्रष्टाचार के मामले में यूपी नंबर 1 पर है. उत्तर प्रदेश के मुखिया रोज़ रोज़ ढोल पीटते हैं कि यह एक्शन हुआ, वो एक्शन हुआ…लेकिन असल में केवल दिखावा हो रहा है. सारा भ्रष्टाचार यूपी सरकार की नाक के नीचे हो रहा है.

मध्य प्रदेश : मिड डे मील में फिर सामने आई लापरवाही, बच्चों को हाथ में दी जाती है रोटी

बसपा के सांसद के मलुक नागर ने फ़ौरन इसकी जांच करने की मांग की. लेकिन बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी कहती हैं कि यूपी बहुत बड़ा है. उस अनुपात में भ्रष्टाचार बहुत छोटा है. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि "लखनऊ जैसी जगहों पर जहां मिड डे मील अक्षय पात्र बनता है, वहां इस तरह की समस्या नहीं आती हैं. लेकिन प्रदेश में उन जगहों पर जहां इस तरह के सेंट्रलाइज़्ड किचन की व्यवस्था नहीं है, कई तरह की शिकायतें मिलती रहती हैं. इसलिए कोशिश यह हो रही है कि इस व्यवस्था को और आगे बढ़ाया जाए."

VIDEO : मिड डे मील में बच्चों को नमक-रोटी खिलाई जा रही

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com