NDTV Khabar

एनसीपी प्रमुख शरद पवार और अजीत पवार सहित 70 पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज

प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र कार्पोरेशन बैंक से जुड़े 25 हजार करोड़ के घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. महाराष्ट्र में सन 2007 से 2011 के बीच किया गया घोटाला
  2. आरोपियों की मिलीभगत से बैंक को करोड़ों की हानि हुई
  3. आरोपियों में 34 जिलों के विभिन्न बैंक अधिकारी भी शामिल
नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने महाराष्ट्र कार्पोरेशन बैंक से जुड़े घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है. ईडी ने एफआईआर में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार, उनके भतीजे पूर्व मुख्यमंत्री अजीत पवार और महाराष्ट्र स्टेट कार्पोरेशन बैंक से जुड़े 70 लोगों को आरोपी बनाया है. यह 25 हजार करोड़ रुपये का घोटाला है. शुरुआत में मुंबई पुलिस ने इस मामले में एक एफआईआर दर्ज की थी.

इस घोटाले में 2007 से 2011 के बीच आरोपियों की मिलीभगत से बैंक को करोड़ों रुपये का नुकसान होने का आरोप है. आरोपियों में 34 जिलों के विभिन्न बैंक अधिकारी शामिल हैं. यह नुकसान चीनी मिलों तथा कताई मिलों को ऋण देने और उनकी वसूली में अनियमितता के कारण हुआ.

प्रवर्तन निदेशालय के मुताबिक मुंबई हाईकोर्ट ने इस मामले में पहले एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी किया था. इसके बाद पहले मुंबई पुलिस ने मामला दर्ज किया था. इसके बाद ईडी ने यह केस दर्ज किया है. ईडी के मुताबिक इस स्कैम में कार्पोरेटिव बैंकों के कई मैनेजर भी शामिल थे.


NCP अध्यक्ष शरद पवार ने गृह मंत्री अमित शाह पर कसा तंज, कहा - जेल जाने वालों को मुझसे सवाल नहीं करना चाहिए

टिप्पणियां

VIDEO : महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले की जांच शुरू



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement