NDTV Khabar

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने ट्विटर पर तस्वीर शेयर कर लिखा- बचा ले मौला-ए-राम, गठबंधन का क्या होगा अन्जाम

तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी जहां एक ओर विपक्षी एकता की तरफदारी कर रही हैं तो उन्हीं के पार्टी के सांसद सुखेंद्र शेखर रॉय ने इस सवाल को टाल दिया और कहा कि इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने ट्विटर पर तस्वीर शेयर कर लिखा- बचा ले मौला-ए-राम, गठबंधन का क्या होगा अन्जाम

अशोक गहलोत के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने जयपुर जा रहे नेता

नई दिल्ली:

विपक्षी दलों में लोकसभा चुनाव 2019 में  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी  को पीएम पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर विमर्श चल रहा है. पीएम पद के लिए राहुल गांधी के नाम को लेकर चल रही चर्चा पर कई नेता खुश नहीं है. इसी बीच केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी तंज कस दिया है. केंद्रीय मंत्री ने ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की है और लिखा, 'गठबंधन की गाड़ी के ड्राइविंग सीट पर बैठे व्यक्ति के पास 'लर्निंग लाइसेन्स' भी नहीं है. बचा ले ए मौला-ए-राम, गठबंधन का क्या होगा अंजाम'. आपको बता दें कि विपक्ष में रविवार से पीएम पद के उम्मीदवार के लिए चर्चा तेज हो गई है. दरअसल डीएमके नेता एमके स्टालिन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम 2019 के चुनावों में प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित किया है. चेन्नई में विपक्ष के कार्यक्रम में स्टालिन ने कहा, ''राहुल के अंदर फासीवादी मोदी सरकार को हराने की क्षमता है. हम सभी को राहुल गांधी का साथ देना चाहिए और देश को बचाने में उनकी मदद करनी चाहिए''.
 


राहुल गांधी की मौजूदगी में कमलनाथ ने ली मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ, समारोह में पहुंचे पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान

लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्टालिन का यह बयान विपक्ष के कई नेताओं को पसंद नहीं आया है. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के एक शीर्ष नेता ने सोमवार को कहा कि पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव से पहले प्रस्तावित भाजपा विरोधी मोर्चे के लिए प्रधानमंत्री पद का दावेदार तय करने के पक्ष में नहीं है.  भाकपा का तर्क है कि कई उम्मीदवार होने से चुनावी संभावनाओं पर बुरा असर हो सकता है.


विपक्षी दलों को नहीं रास आ रहा है राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार बताना, CPI ने कहा- नुकसान हो सकता है

टिप्पणियां

तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी जहां एक ओर विपक्षी एकता की तरफदारी कर रही हैं तो उन्हीं के पार्टी के सांसद सुखेंद्र शेखर रॉय ने इस सवाल को टाल दिया और कहा कि इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हैं.  

राहुल गांधी के समर्थन में स्टालिन, पीएम पद का दावेदार बताया​
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement