गर्लफ्रेंड के लिए जेट विमान में रखा धमकी भरा पत्र, अब पुलिस की गिरफ्त में, जानिए क्या है पूरा मामला

आरोपी ने जेट एयरवेज को बंद करने की मंशा से पत्र को रखा था, ताकि जेट एयरवेज के दिल्ली दफ्तर में काम करने वाली उसकी प्रेमिका की नौकरी छूट जाए और वह उसके साथ मुंबई में रहने लगे.

गर्लफ्रेंड के लिए जेट विमान में रखा धमकी भरा पत्र, अब पुलिस की गिरफ्त में, जानिए क्या है पूरा मामला

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • मुंबई का करोड़पति जौहरी है गिरफ्तार बिरजू किशोर सल्ला
  • सख्त विमान अपहरण रोधी कानून के तहत गिरफ्तार किया गया
  • इस अधिनियम ने 1982 के पुराने कानून का स्थान लिया है
नई दिल्ली:

जेट एयरवेज की मुंबई-दिल्ली उड़ान के शौचालय में विमान अपहर्ताओं और बम होने के बारे में पत्र रखने के आरोप में एक जौहरी को सख्त विमान अपहरण रोधी कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने कहा कि इस साल जुलाई में अमल में आए इस कानून के तहत यह पहली गिरफ्तारी है. इस कानून के मुताबिक, आरोपी को अधिकतम उम्र कैद की सजा हो सकती है और उसकी संपत्ति को जब्त किया जा सकता है. इस अधिनियम ने 1982 के पुराने कानून का स्थान लिया है. 

यह भी पढ़ें : जेट विमान की इमरजेंसी लैंडिंग की NIA जांच संभव

पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार बिरजू किशोर सल्ला करोड़पति जौहरी है. उसका मुंबई के पॉश इलाके में एक फ्लैट है. वह मूल रूप से अमरेली जिले के देदन गांव का रहने वाला है. आरोपी ने जेट एयरवेज को बंद करने की मंशा से पत्र को रखा था, ताकि जेट एयरवेज के दिल्ली दफ्तर में काम करने वाली उसकी प्रेमिका की नौकरी छूट जाए और वह उसके साथ मुंबई में रहने लगे. संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) जेके भट्ट ने कहा,  हमने उसे विमान अपहरण रोधी कानून की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है. इसके अमल में आने के बाद इस कानून के तहत यह पहली गिरफ्तारी है. उन्होंने कहा,  हम राष्ट्रीय जांच एजेंसी के संपर्क में हैं. अगर केंद्र चाहता है तो मामले को एनआईए को सौंपा जा सकता है.   

यह भी पढ़ें :​ जेट एयरवेज में सुरक्षा संबंधी खतरे के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की पहचान हुई : अशोक गजपति राजू

भट्ट ने कहा कि आरोपी ने इससे पहले जेट एयरवेज द्वारा परोसे गए खाने में काकरोच मिलने की शिकायत की थी. भट्ट ने कहा, 'हम जांच कर रहे हैं कि क्या उसका संबंध किसी अन्य असामाजिक समूह से संपर्क था. हमें उसके खिलाफ कोई अन्य अपराध नहीं मिला.' मुंबई-दिल्ली जेट एयरवेज की उड़ान के शौचालय में एक पत्र मिला था, जिसमें कहा गया था कि विमान में अपहरणकर्ता हैं और बम रखा हुआ है. इसके बाद विमान को आपात स्थिति में उतारना पड़ा था. विमान में 115 यात्री और चालक दल के सात सदस्य सवार थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: हाईजैक की फर्जी धमकी देने वाले का नाम नो फ्लाइ लिस्ट में डाला गया

पत्र उर्दू और अंग्रेजी में था और विमान को पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर) ले जाने के लिए कहा गया था.अंतिम में 'अल्लाह महान है' शब्द लिखे थे. पहले एक अधिकारी ने कहा था कि पीओके के जिक्र पर जांचकर्ताओं को शक हुआ, क्योंकि पाकिस्तानी आतंकवादी इस क्षेत्र को 'आजाद कश्मीर' बोलते हैं.