NDTV Khabar

NDTV युवा : बॉलीवुड में धमाल मचाने वाले रैपर बादशाह ने कहा, 'पंजाबी मिट्टी में ही सेलेब्रेशन होता है'

अभिषेक बच्‍चन ने कहा कि अगर दूसरे खेलों के प्रति भी डिमांड पैदा करें तो एक से बढ़कर एक खिलाड़ी पैदा होंगे. हमारे देश में टैलेंट हैं. हमें स्‍पॉटलाइट दिखाने की जरूरत है.

2.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV युवा : बॉलीवुड में धमाल मचाने वाले रैपर बादशाह ने कहा, 'पंजाबी मिट्टी में ही सेलेब्रेशन होता है'

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018

खास बातें

  1. आमिर खान ने कहा कि हम सबके भीतर काफी करप्शन है
  2. तेजस्‍वी यादव ने कहा, 'नीतीश जी की कोई विश्वसनीयता नहीं है'
  3. चिराग पासवान ने कहा कि नरेंद्र मोदी जैसे नेतृत्‍व की जरूरत है
नई दिल्ली: एनडीटीवी इंडिया के स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव ‘NDTV युवा’ में के पहले सत्र में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से रवीश कुमार के साथ कई मुद्दों पर खुलकर बात की. दूसरे सत्र में निधि कुलपति के साथ सुष्मिता देव, जयंत चौधरी, राघव चड्डा, राघव अवस्थी और अंकीव बसोया शामिल हुए. राजनीति के उभरते सितारे बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के साथ अभिज्ञान प्रकाश के साथ बिहार, महागठबंधन और अपनी शादी को लेकर चर्चा की. NDTV युवा में लोक जनशक्ति पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान के साथ अखिलेश शर्मा ने भी कई राजनीतिक मुद्दों पर बात की. बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन तथा एशियन गेम्स 2018 के पदक विजेताओं - बॉक्सिंग में स्वर्ण जीतने वाले अमित पंघल, भालाफेंक में स्वर्ण जीतने वाले नीरज चोपड़ा, कुश्ती में स्वर्ण जीतने वाली विनेश फोगाट तथा एथलेटिक्स में रजत पदक जीतने वाली दुतीचंद - से अफशां अंजुम के साथ बातचीत की. बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर, गायिका ध्वनि भानुशाली, संचार सलाहकार दिलीप चेरियन, कलाकार कुशा कपिला, फैशन डिज़ाइनर रीना ढाका तथा क्रिकेटर मोहम्मद कैफ से सोशल मीडिया के फायदे-नुकसान पर राजीव मखनी की बातचीत कर रही हैं. दिनभर चलने वाले NDTV के इस कार्यक्रम में एशियन गेम्स के हीरों, भारत के युवाओं की चिंताओं, आशाओं, आकांक्षाओं और चुनौतियों पर की चर्चा की जाएगी. स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव ‘NDTV युवा’को आप NDTV इंडिया एप्स और वेबसाइट पर लाइव देख सकते हैं.
 

NDTV YUVA Conclave 2018 Updates: 


- बादशाह ने कहा कि मैं कन्हैया कुमार और संबित पात्रा का न्यूज डिबेट खूब देखता हूं. आज मैंने अखिलेश यादव का भी कार्यक्रम देखा और आमिर सर का भी..

- बादशाह ने कहा कि जो हमारे दोहे हैं वो रैप हैं. हमारे संस्‍कृत में तो कब से कथा गाना हो रहा है. वो रैप ही तो है. उन्होंने कहा कि पंजाब में म्यूजिक को लेकर पैशन बहुत है.

- बादशाह ने कहा कि 'बंदिशें सोसाइटी पर होती हैं, आर्ट पर नहीं. आर्टिस्ट सोसाइटी का मिरर होते हैं. मैं लाइन क्रॉस नहीं करता. मैं इस बात का ध्‍यान रखता हूं. अगर मैं कभी लाइन क्रॉस करूं तो माफी मांगता हूं.'

तस्‍वीरों में देखें : NDTV युवा - बादशाह बोले, कला में बंदिश नहीं, पंजाबी गानों की बात ही अलग

- 'बादशाह ने कहा कि मैं रैप काफी सोच समझकर करता हूं. मैं हाजिर जवाब भी नहीं हूं. मैं काफी इंट्रोवर्ट हूं. मगर जब मंच पर रहता हूं तो काफी एनर्जेटिक हो जाता हूं. मंच पर मेरा फ्रस्ट्रेशन जाग उठता है. इसलिए मेरा फर्ज होता है कि लोगों को इंटरटेन करूं.'

- रैप पुराने जमाने से प्रयोग हो रहा था, मगर बीचे में थोड़ा कम हो गया और अब फिर रैप का बोलबाला है, ऐसा क्यों? इस पर बादशाह ने कहा, 'मुझे लगता है कि रैप कंटेंट पर निर्भर करता है. लोगों को रैप कंटेंट के आधार पर ही पसंद आते हैं.'

VIDEO: रैपर बादशाह बोले- पंजाबी मिट्टी में ही सेलिब्रेशन होता है

- हाल के दिनों में पंजाबी गाने इतने पॉपूलर क्यों हुए? इस सवाल के जवाब में बादशाह ने कहा, 'पंजाबी गानों में कुछ बात ही ऐसी होती है. वहां की मिट्टी में ही सेलिब्रेशन होती है. मैं यह नहीं कहता कि और जगहों में नहीं होती. मगर पंजाब की भाषा सब आसानी से समझ जाते हैं. पंजाबी ऑडियंस को टारगेट करना भी आसान होता है.'

- बादशाह ने कहा कि किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि मैं 'वन' एल्बम भी गा सकता हूं. मैंने एक अलग फैन बेस को भी टैप किया है.

- NDTV युवा में पहुंचे सिंगर बादशाह से अंजिली इस्‍टवाल और प्रशांत शिशौदिया ने बात की. बादशाह ने कहा कि मेरी नई एल्बम 'वन' आ गई है. इसमें करीब दो साल से अधिक का समय लगा. उसे अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है. लोगों को मेरा एक अलग रूप देखने को मिला.

NDTVYuva में रैपर बादशाह

- आमिर खान ने कहा कि आप हर जगह नकारात्मक लोगों को देख सकते हैं. मैं किसी को ब्लेम नहीं करता. मैं उनके भीतर की नकारात्मकता को दोष देता हूं.

- आमिर खान ने कहा कि मुझे उम्‍मीद है कि महाराष्‍ट्र में पानी से खुशहाली आएगी. मुझे उम्मीद है कि कुछ सालों में पानी फाउंडेशन की जरूरत नहीं पड़नी चाहिए.

- आमिर खान ने कहा कि पानी प्रबंधन की तरह ही कचरा प्रबंधन भी देश में बड़ा मसला है. अगर आप जंगल में जाएंगे तो आपको कचरा नहीं दिखेगा. कुदरत का अपना तरीका है और वह हर चीज इस्तेमाल करता है. हम जो कचरा क्रियेट करता है वह काफी अनऑर्गेनिक होता है. इसलिए हमें ऑर्गेनिक पर ज्यादा ध्यान दिया जाना चाहिए.

तस्‍वीरों में देखें : गांवों को अपनी पर्यावरण संबंधी समस्‍याओं को खुद सुलझाना है: आमिर खान

- आमिर खान ने कहा कि हमारे भीतर राम और रावण दोनों हैं. यह हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हम किसे चुनते हैं. हस सभी प्यार और नफरत करते हैं या हमसे करते हैं. लेकिन अंतत: प्यार और नफरत की जंग में प्यार हमेशा जीतता है.

- जब आमिर खान से पूछा गया कि क्या आप नेता बनेंगे, राजनीति में आएंगे? तो उन्‍होंने कहा, 'मैं नेता नहीं हूं. मैं उसके लिए बना नहीं हूं और मैं राजनीति में नहीं आऊंगा. मैं लोगों तक पहुंच सकता हूं. मैं एक कम्यूनिकेटर हूं. मैं क्रियेटिव हूं. मैं राजनीति में क्रियेटिव नहीं कर पाऊंगा. पॉलिटिक्स से डर लगता है. पॉलिटिक्स से कौन नहीं डरता. मैं अलग ही रहना चाहता हूं. मेरा काम सिर्फ लोगों का मनोरंजन करना है.'

- आमिर खान ने कहा कि हमें गांवों पर पूरा भरोसा है कि वो अपनी समस्‍याओं को खुद ही सुलझाएंगे. एक वाकया याद करते हुए आमिर ने कहा कि एक गांव में सिर्फ महिलाएं ही श्रमदान कर रही थीं. पुरुष बहाना बनाते रहे. महिलाओं ने उन्‍हें सबक सिखाने की सोची और घर न जाकर मंदिर में सो गईं. सभी के पति 24 घंटे में टूट गए और श्रमदान करने के लिए आ गए.

VIDEO: NDTV युवा में बोले आमिर खान, सदियों से इंसान प्रकृति का दोहन कर रहा है

- महाराष्‍ट्र में किसानों की आत्‍महत्‍या के मुद्दे पर आमिर खान ने कहा कि यह एक पेचीदा मुद्दा है. इस पर हम सीधे तौर पर तो काम नहीं कर रहे. लेकिन हमें उम्‍मीद है कि पानी के आने से जो आर्थिक विकास होगा उसका फायदा किसानों को भी मिलेगा. बाढ़ और पानी जैसे मसलों पर मैं भी मानता हूं कि बड़े बांध भी हल नहीं है. मेरा मानना है कि लोग ही अपनी समस्याओं का हल हैं. मैं महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री और उनकी टीम के साथ काम कर रहा हूं. उनकी नीति साफ है कि बड़े बांधों से पानी की समस्‍या हल नहीं होगी.

- आमिर खान ने कहा कि हमने किसानों के कर्ज, उनकी आत्महत्या जैसे मसलों पर हमने सोचा जरूर है मगर अभी तक काम करना शुरू नहीं किया है. यह एक सामाजिक और आर्थिक मुद्दा है. हो सकता है हम आगे जाकर इस मुद्दे पर काम करें.

- आमिर खान ने कहा कि हमारी 6 लोगों की टीम थी. उन्होंने कहा कि कुछ गांवों में राजनीति होती है और लोग जुड़ना नहीं चाहते हैं. पहले साल में 116 गावों ने हिस्सा लिया और कम से कम एक तिहाई गांवों ने बढ़िया काम किया. एक तिहाई ने मेडियम लेवल का काम किया. पहला प्रयोग हमारा सफल हो गया. न हम गांव को पैसा दे रहे हैं और हम सामान दे रहे हैं. हम सिर्फ गांवों को बता रहे हैं कि कैसे वह सूखे से उबर सकते हैं. गांव वालों ने फिर कहना शुरू कर दिया कि हम कर सकते हैं.

- आमिर खान ने कहा कि पूरे महाराष्ट्र में नहरों से 18 फीसदी जमीन पर पानी पहुंचता है. महाराष्ट्र सरकार भी यही चाहती है कि विकेंद्रीकृत पानी सिस्टम ही सिंचाई का एकमात्र उपाय है. उन्‍होंने कहा कि पानी और सूखे की समस्या को लेकर जब तक यह जन आंदोलन नहीं बनेगा, तब तक इस समस्या का समधान नहीं होगा.

- आमिर खान ने कहा कि हम सबके भीतर काफी करप्शन है. जब भी हम काम करने जाते हैं तो सरपंच पूछता है कि इसमें मेरा कितना फायदा है. इसलिए हमने सोचा कि हम कोई पैसा नहीं देंगे. हम चाहते हैं कि गांव उनका है समस्या उनकी है तो वह आगे आएं और काम करें. हमने तय किया कि गांव के पांच लोगों को हम ट्रेनिंग देंगे.

- आमिर खान ने कहा कि हम महाराष्‍ट्र में दो या तीन गांवों में काम नहीं करना चाहते थे. हमें बड़े स्‍केल पर काम करना था. इसके लिए हमें ऐसे आइडिया पर काम करना था जो बड़ा प्रभाव छोड़े. हमारा मानना है कि हम कुछ लोगों को ट्रेनिंग दे सकते हैं, लेकिन गांव को अपनी पर्यावरण संबंधी समस्‍या को खुद ही सुलझाना है.

- आमिर खान ने कहा कि 'सत्यमेव जयते' शो के तीन सीजन बीत चुके थे और हम (मैं और सत्या) यह सोच रहे थे कि आगे क्या करना चाहिए. हमें पता था कि इस शो का जमीन पर असर हो रहा है. कुछ बदलाव भी आया. उससे हमें प्रेरणा मिली. मुझे लगा कि किसी एक विषय को लेकर ग्राउंड जीरो पर काम करना चाहिए. इसलिए हमने महाराष्ट्र में पानी के साथ हमने सूखे पर काम करना शुरू किया.

- जब आमिर खान से पूछा गया कि क्‍या आपको लगता है कि लोगों का समूह बिना सरकार के समर्थन के पर्यावरण के मुद्दे पर काम कर सकते हैं? तो आमिर खान ने कहा, 'हां, यह मुमकीन है, मगर मुश्किल बहुत है. सदियों से इंसान प्रकृति का दोहन कर रहा है. मैं अक्सर सोचता हूं कि पृथ्वी पर जो भी रहते हैं मसलन इंसान, जानवर. जानवर उतना ही उपभोग करता है जितना उसकी जरूरत है. मगर इंसान जरूरत से ज्यादा उपभोग करता है. ये कई सालों से चल रहा है. इसे रिवर्स करना मुश्किल है मगर कोशिश करते रहना चाहिए.'

- 'NDTV युवा' में बॉलीवुड सुपरस्‍टार आमिर खान ने कहा कि जितनी जरूरत है हम उससे कहीं ज्‍यादा प्रकृति का दोहन कर रहे हैं.

NDTVYuva में आमिर खान पर्यावरण के मुद्दे पर रखे अपने विचार

- पहले दिमाग लगाओ क्‍योंकि पैसा सबकुछ नहीं है: मोहम्‍मद कैफ

- दिलीप चेरियन ने कहा कि आज का कंज्‍यूमर सबकुछ समझता है. अब कुछ छिपा नहीं है. कंज्‍यूमर समझता है कि ब्रैंड एम्‍बेसडर का रेट क्‍या है? इंटरनेट का फायदा यह है कि अब आप कुछ भी छुपा नहीं सकते हैं. आप जो भी करेंगे वह सब दिखेगा. क्योंकि अब इससे ट्रांसपैरेंसी बढ़ गई है. अगर आप कुछ गलत करते हैं तो ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाएंगे.

- संचार सलाहकार दिलीप चेरियन ने कहा कि आज का कंज्‍यूमर सबकुछ समझता है. अब कुछ छिपा नहीं है. कंज्‍यूमर समझता है कि ब्रैंड एम्‍बेसडर का रेट क्‍या है?

- फैशन डिज़ाइनर रीना ढाका ने कहा कि एक फैशन शो में मैं अपने दोस्त के साथ बैठी थी. सामने काफी मॉडल्स बैठी थीं. सामने कुछ ब्लॉगर्स भी थे. इसलिए अब एक नया कैटेगरी बना है यह, जो प्रोडक्ट को प्रमोट करने में काफी मददगार होती हैं. 

- कलाकार कुशा कपिला ने कहा कि कहा इंटरनेट मनी मेकिंग प्‍लेटफॉर्म है. यहां पर आपको अपने एक वीडियो का रिजल्‍ट तुरंत पता चल जाएगा.

- कैफ ने कहा कि मैं छोटे शहर से आता हूं और मेरा ड्रीम था कि इंडिया के लिए खेलू. मुझे मौका मिला. बहुत से लोगों को मौका नहीं मिलता है और कई लोग संघर्ष कर रहे हैं. 

- क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने कहा कि सोशल मीडिया एक ताकत है जिससे आप मैसेज सुन सकते है और मैसेज दे सकते हैं. मैं किसी कंट्रोवर्सी के लिए मैसेज नहीं करता हूं. उन्‍होंने कहा कि ट्रोल मीडिया का दिया शब्‍द है. 

- सोशल मीडिया को फर्क नहीं पड़ता है आप काले हो या गोरे हो या फिर मोटे हो या पतले. ये पैसा कमाने का बेहतर विकल्‍प है. 

- कलाकार कुशा कपिला ने कहा कि ट्वीटर मेरा प्‍लेटफॉर्म नहीं है मैं फेसबुक और इंस्‍टाग्राम के लिए वीडियो बनाती हूं.

- स्वरा ने कहा कि  किसी रेस्‍टोरेंट जैसी पब्‍लिक प्‍लेस की तरह ट्विटर भी वर्चुअल प्‍लेस है. यहां पर हम किसी को किसी लड़की को छेड़ने की इजाजत नहीं दे सकते और उस पर चुप्‍पी नहीं साध सकते. हम लोग किसी पर हो रहे अत्‍याचार पर चुप्‍पी साध लेते हैं. ये हमारे समाज की कड़वी सच्‍चाई है.

- स्वरा ने कहा कि जब सड़क पर लड़कियों को छेड़ा जाता है तो हम रोकते हैं, तो फिर सोशल मीडिया ट्रोल्स गाली देते हैं तो फिर हम वहां क्यों नहीं रोक सकते हैं.

तस्‍वीरों में देखें : स्वरा भास्कर बोलीं, सोशल मीडिया वर्चुअल प्लेस, किसी लड़की को छेड़ने की इजाजत नहीं दे सकते

- जुनैद की रेल में हत्‍या कर दी जाती है और ट्रेन में कितने लोग सफर करते है पर किसी ने भी लोगों को रोका नहीं : स्वरा भास्कर 

- गायिका ध्वनि भानुशाली ने कहा कि ट्रोल का इग्‍नोर करती हूं

-स्वरा भास्कर: हर कोई जानता है कि पब्लिक ओपिनियन कितना जरूरी है. सोशल मीडिया काफी शक्तिशाली है. सोशल मीडिया के पावर का इस्तेमाल गलत और सही दोनों के लिए हो सकता है. सोशल मीडिया लोगों को समानता देता है. यही सोशल मीडिया की ताकत और अपील है.

VIDEO: 'NDTV युवा' में स्वरा भास्कर ने कहा, सोशल मीडिया कोई बड़ा-छोटा नहीं, सब बराबर हैं
 

सोशल मीडिया के फायदे-नुकसान पर राजीव मखनी के साथ बातचीत

- अभिषेक बच्चन ने कहा कि जैसे मैंने पहले भी कहा था कि प्रो कबड्डी लीग के पहेल सीजन की शुरुआत हुई थी तो मैं सोच रहा था कि हम लोग क्या कर सकते हैं. हमारा देश कबड्डी में बेस्ट है. अब जो नए खिलाड़ी आ रहे हैं वह फिटनेस के मामले में पहले से काफी अव्वल हैं.

- नीरज चोपड़ा ने कहा, फिल्‍मों में जाने के लिए एक्टिंग जरूरी है, उसमें मैं जीरो हूं 

-​अमित पंघल ने काह कि  जब मुझे पता था कि मेरे खेल का समय आने वाला है तब मैंने उसके लिए खूब वीडियो देखें कि कैसे उसे काउंटर करना है.

- अभिषेक बच्‍चन ने कहा कि अगर दूसरे खेलों के प्रति भी डिमांड पैदा करें तो एक से बढ़कर एक खिलाड़ी पैदा होंगे. हमारे देश में टैलेंट हैं. हमें स्‍पॉटलाइट दिखाने की जरूरत है.

VIDEO: नीरज चोपड़ा बोले, फिल्‍म में जाने के लिए एक्टिंग चाहिए, मैं इसमें जीरो हूं...

- विनेश फोगाट ने कहा कि मेडल जीतकर मुझे खुद को प्रूफ करना था. खुद को ये बताना था कि मैं मेडल की हकदार थी.

- दुती चंद ने कहा, एशियाड में शुरू से लेकर अंत तक भागते वक्‍त मेरी आंखें बंद थीं. फिर मेडल मेरे हाथ में था.

- दुती चंद ने कहा सड़क के ऊपर नंगे पांव भागकर प्रैक्‍टिस करती थी. मेडल पाने के लिए बहुत मेहनत की.

- कुश्ती में स्वर्ण जीतने वाली विनेश फोगाट ने कहा कि हर खिलाड़ी का सपना होता है मेडल जीतना, जब चोट लगी तो परेशान थी. मुझे विश्‍वास था कि नेट पर जाऊंगी तो पहले से ज्‍यादा मजबूत होना है. 

- एथलेटिक्स में रजत पदक जीतने वाली दुतीचंद ने कहा, बहुत संघर्ष करना पड़ा 

- भालाफेंक में स्वर्ण जीतने वाले नीरज चोपड़ा, नेशनल में प्रतियोगिता कम होती है लेकिन नेशनल में प्रतियोगिता ज्‍यादा होती है.

स्क्रीन युवा अभिषेक बच्चन की मुलाकात एशियाड के नायकों से

- इफ्तार की पार्टी अब भी होती है लेकिन दिल्‍ली में नहीं. इफ्तार अब बिहार में होती है, हमारी पार्टी क्षेत्रिय है इसलिए हम ये पार्टी बिहार में करते हैं: चिराग पासवान 

- रूढ़िवादी सोच से हटना पढ़ेगा, ये कोई बीमारी नहीं है: चिराग पासवान

-चिराग पासवान ने कहा, आजादी के इतने साल बाद भी कई लोगों को आज भी मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल पा रही है. 

- ​चिराग पासवान ने कहा, पहली बार आप भले ही अपने परिवार की वजह से जीत जाएं. लेकिन अगली बार आपको खुद को साबित करना होगा और आप अपने काम की वजह से ही जीतेंगे.

VIDEO: मुंबई में फिट नहीं हो पाया, मुझे सिर्फ राजनीति ही आती है: चिराग पासवान

- चिराग पासवान ने कहा कि बड़े परिवार से आने पर आसानी से एंट्री मिल जाती है, लेकिन इंसान काबिलियत के बल पर ही आगे बढ़ता है. मैंने भी खुद को प्रूव किया है. पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम किया इसलिए कार्यकर्ता मुझे मानते हैं.

- चिराग पासवान ने कहा कि बचपन से पिता जी राजनीति करते देखा. मैं इंडस्ट्री में फिट नहीं हो पाया. मैंने स्पष्ट कह दिया कि मुझसे फिल्म नहीं हो पाएगा.

- चिराग पासवान ने कहा बड़े परिवार से आने पर आसानी से एंट्री मिल जाती है, लेकिन इंसान काबिलियत के बल पर ही आगे बढ़ता है. मैंने भी खुद को प्रूव किया है. पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम किया इसलिए कार्यकर्ता मुझे मानते हैं.

- चिराग पासवान ने कहा मैं मानता हूं कि परिवारवाद है. उसका बचाव नहीं करूंगा. लेकिन किसी बड़े परिवार का बेटा होना सौभाग्‍य हो सकता है काबिलियत नहीं.

- चिराग पासवान ने कहा कि नरेंद्र मोदी जैसे नेतृत्‍व की जरूरत है. उनके नेतृत्‍व पर सवाल नहीं उठाया जा सकता.

- चिराग पासवान ने कहा कि मैं गठबंधन धर्म की मर्यादा को तोड़ूंगा अगर सार्वजनिक तौर पर सीटों को लेकर बातें करूं. अभी सिर्फ यही कहूंगा कि 2014 में हमारा प्रदर्शन काफी बेहतर रहा. विधानसभा में महागठबंधन की वजह से हमें थोड़ा नुकसान हुआ. 

- चिराग पासवान ने कहा, जिस तरह से एनडीए चल रहा है. हमारा गठबंधन काफी मजबूत है. 2019 में नरेंद्र मोदी फिर से पीएम बनेंगे. हम कहीं नहीं जाने वाले हैं. 

- चिराग पासवान ने कहा कि  जिस तरह से एनडीए चल रहा है. हमारा गठबंधन काफी मजबूत है. 2019 में नरेंद्र मोदी फिर से पीएम बनेंगे. हम कहीं नहीं जाने वाले हैं. 

अखिलेश शर्मा के साथ लोजपा के नेता और सांसद चिराग पासवान लाइव:

- नीतीश जी की कोई विश्वसनीयता नहीं है. क्या गारंटी है कि हमारे साथ आने के बाद फिर से वापस नहीं जाएगा. हमें चीट किया ठीक है, मगर उन्होंने बिहार की जनता को चीट करने का काम किया है. प्रशांत किशोर के जेडीयू में शामिल होने पर कहा कि यह अच्छी बात है. जिसे जहां जाना हो जाए. 

- रामविलास पासवान की पार्टी को तय करना है कि वह कहां जाएंगे. राम विलास पासवान और चिराग पासवान कभी धोखा देकर नहीं गये. वह नीतीश कुमार से अलग हैं. नीतीश कुमार ने धोखा दिया. रामविवास पासवान को लेकर इज्जत है. मेरे माता पिता ने यही सिखाया है.

VIDEO: एनडीटीवी युवाः तेजस्वी यादव ने बताया क्यों क्रिकेटर से बने नेता

- शादी के सवाल पर तेजस्‍वी यादव ने कहा कि जो परिवार को और मुझको साथ लेकर चले मैं ऐसी लड़की से शादी करना चाहूंगा. उन्‍होंने कहा कि चिराग पासवान मुझ से बढ़ें है और वो शादी कर लेंगे तो मेरे लिए आसान होगा 

- तेजस्‍वी यादव बोले, पहले बिहार में उस सब्‍जेक्‍ट का रिजल्‍ट आता था जिसकी परीक्षा होती थी, अब तो उसका रिजल्‍ट भी आ जाता है जिसकी परीक्षा आपने दी ही न हो

- बिहार लंदन नहीं था मेरे पिता के मुख्‍यमंत्री में आने के बाद बदलाव हुआ: तेजस्‍वी यादव 

- मेरे चाचा जी (नीतीश कुमार) से फिर से पलटी मारना चाहते हैं: तेजस्‍वी यादव

- तेजस्वी ने कहा कि नरेंद्र मोदी का नहीं, उनकी विचारधारा का विरोध करता हूं. नरेंद्र मोदी से पहले भी हमलोग बीजेपी का विरोध करते थे. 

- तेजस्वी ने कहा कि मेरे घर में कोई बड़ा नेता नहीं. मेरे पिता ही सबसे बड़े नेता हैं. क्या मैंने कभी कहा कि मैं उत्तराधिकारी हूं. लोगों को मेरे घर की चिंता ज्यादा है, देश की नहीं. मेरी चिंता देश की है. 

- तेजस्वी यादव ने कहा कि हां मैं पार्टी करता था. मगर अब नहीं करता. अगर अभी पार्टी करूंगा तो आप ही लोग बोलेंगे कि देखो देश में ये हो रहा है और ये पार्टी कर रहा है. अभी फाइव स्टार में हूं,. खाना खाऊंगा अगर सोशल मीडिया पर वायरल हो जाएगा और लोग कहेंगे कि देखो गरीब मर रहा है और ये फाइव स्टार में खा रहा है. 

- लालू प्रसाद यादव ने जिन जिन लोगों को आगे बढ़ाने का काम किया तो उन्‍होंने धोखा दिया. हम तो राजनीति में 2015 से आए और लालू जी की राजनीति तो बहुत पहले से चलती आ रही है: तेजस्‍वी

- तेजस्वी यादव ने कहा कि मेरे चाचा खुद नहीं बोलते मगर बोलवाने में माहिर हैं. वह फिल्डिंग खूब अच्छा करते हैं. मैं तो कहता हूं कि कभी सामने से भी बोल दीजिए. अपनी इमेज को लेकर वह काफी सचेत रहते हैं., बिहार में 36 घोटाले हो गये, मगर एक पर भी कार्रवाई नहीं हुई. होम शेल्टर में अपराध हुआ, लेकिन नीतीश जी ने कोई कार्रवाई नहीं की. 

- तेजस्‍वी ने कहा कि हम देश के हित में काम करते हैं, अपने घर के लिए नहीं. हमारे घर में सब ठीक है.

- तेजस्‍वी यादव ने कहा, एक ही नेता हैं हमारी पार्टी में वो हैं लालू प्रसाद यादव. 

- नरेंद्र मोदी जी ने देश के लिए क्‍या किया है. हम नरेंद्र मोदी जी से पहले बीजेपी का विरोध नहीं करते थे और आरएएस का विरोध नहीं करते थे : तेजस्‍वी 

- तेजस्‍वी बोले, अगर अमित शाह करें तो सोशल इंजीनियरिंग और अगर हम बात करें तो जातिवाद फैलाने का आरोप लगता है

- हमारे पिता ने आज तक सामाजिक न्‍याय से कभी समझौता नहीं किया. वो हमेशा धर्मनिरपेक्षता के लिए लड़ते रहे: तेजस्‍वी

- अगर पिता के करीबी उन्‍हें धोखा देंगे तो क्‍या मैं घर पर बैठे रहूंगा: तेजस्‍वी  

- ​तेजस्‍वी ने कहा कि बचपन से ही मैं राजनैतिक और सामाजिक रूप से काफी सजग रहा हूं. हमारा ही एक ऐसा परिवार होगा जिस पर सीबीआई और ईडी के छापे पड़ते रहे.

- तेजस्वी यादव ने कहा कि मैं चाहता हूं कि सीबीआई और ईडी का कार्यालय मेरे घर पर ही हो. मेरे पिता के नाम को लगातार बदनाम किया गया. मेरे ऊपर कई तरह के साजिश के आरोप लगाया गया. जब मेरी मूंछें नहीं थी तब मैं साजिश कर रहा था, ऐसा इनका मानना है. 

- तेजस्वी यादव ने कहा कि  मैं सचिन तेंदुलकर तो था नहीं. हमारे पिता ने कभी सेक्युलरिज्म से समझौता नहीं किया.  पापा ने सिर्फ मीडिया को मेरा जब परिचय कराया तो ब्रेकिंग खबर चली की लालू यादव ने तेजस्वी को लॉन्च किया. उसके बाद फिर समर्थक मुझे बुलाने लगे. 

- मेरे पिता के नाम को हमेशा बदनाम किया गया 

अभिज्ञान प्रकाश के साथ तेजस्वी यादव का सत्र लाइव: बिहार में पांव जमाने की चुनौती 

- काजोल ने कहा कि मैं उन लोगों के साथ काम नहीं कर सकती जिन्‍हें मैं पसंद नहीं करती. यही वजह है कि मैं कम फिल्‍में करती हूं. हालांकि मैं जिनके साथ काम करती हूं वो मेरे अच्‍छे दोस्‍त बन जाते हैं.

- काजोल ने कहा कि अगर मेरी बेटी चाहेगी कि वो फिल्‍म इंड्रस्‍टी में आना तो मैं उसका समर्थन करूंगी. मैं उसे वो करने दूंगी जो वो करना चाहेगी और मैं उसके पीछे खड़ी हूं. 

- काजोल ने कहा जितना भी हो सकता है मैंने अपने बच्‍चों को रियल लाइफ दिखाने की कोशिश की है. हां ये जरूर बताती हूं कि वे स्‍पेशल हैं लेकिन एक हद तक. हालांकि मेरे बच्‍चे बहुत अच्‍छे हैं.

VIDEO: एनडीटीवी युवाः पैरेंटिंग और अपकमिंग फिल्म के बारे में खुलकर बोलीं काजोल

- काजोल ने कहा, मेरे बच्‍चे मेरी बड़ी अचीवमेंट हैं. मुझे अपनी बेटी और बेटे पर गर्व है.

- काजोल ने कहा कि #MeeToo कैम्‍पेन की जरूरत सिर्फ बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में नहीं बल्‍कि सोसाइटी की हर इंडस्‍ट्री में जरूरी है. ये समस्‍या सिर्फ बॉलीवुड की नहीं हर इंडस्‍ट्री की है.

- काजोल ने कहा कि सुंदरता सिर्फ होठों और आंखों में ही नहीं होती. सुंदरता हंसी में भी होती है. सोशल मीडिया ऐज में हमें ये बात अपने बच्‍चों को समझाने की जरूरत है. 

- अच्‍छी स्क्रिप्‍ट मिलती नहीं है्. कई बार मुझे स्क्रिप्‍ट अच्‍छी नहीं लगती है. बच्‍चों ने कभी मुझे रोका नहीं है. कभी काम पर जाने पर भी नहीं रोका है. मेरे बच्‍चों ने मुझे कभी नहीं कहा कि घर पर बैठो और खाना बनाओ.

- काजोल ने कहा कि अगर आप सोशल मीडिया को देखेंगे तो आपको लगेगा कि आप अच्‍छी मां नहीं हैं.

- काजोल ने कहा कि एक अच्छी मां की धारणा बनी हुई है. हर बच्चे को लगता है, उसकी मां सबसे अच्छी होती है. मांएं जब रोकती हैं तो सबसे बुरी होती हैं और बच्चों को समझाने के लिए क़ायदे की ज़रूरी है. 

- काजोल ने कहा कि हर महिला की जिंदगी में एक वक्‍त जरूर आता है जब मां बनने के चक्‍कर में वो अपनी पर्सनैलिटी को पीछे छोड़ देती हैं. बाद में इसका एहसास भी होता है.


- काजोल ने कहा कि परिवार में मैं ही बैड कॉप और अब अजय भी हो रहे बैड कॉप. हर बात पर मां ना नहीं बोल सकती
और मैं बेटी के 30% गुड कॉप हूं. इला हर मां के भीतर है. आपको लगेगा कि आपसे भी वास्ता है. कभी आप बस मां रह जाती हैं और कई चीज़ें आपसे छूटती जाती हैं. 

- काजोल ने कहा, हमने पढ़ा है कि एक अच्‍छी मां होती है और एक बुरी मां होती है. जो मां अपने बच्‍चों के लिए त्‍याग करती है वो अच्‍छी मां होती है. हर बच्‍चे के लिए मां की परिभाषा अलग है और उसके लिए उसकी मां अच्‍छी है. 

- काजोल ने कहा कि हेलिकॉप्‍टर फिल्‍म मेरे पति अजय देवगन ने बनाई है. 

- काजोल ने कहा मेरी मां हेलिकॉप्‍टर मॉम नहीं थीं, वह बहुत बहादुर महिला हैं. उन्‍होंने मुझे जो भी सिखाया उसके लिए मैं उन्‍हें बहुत मानती हूं.  मैं रेग्‍युलर इंडियन मॉम हूं. 

- काजोल ने कहा, रियल लाइफ में अजय देवगन हेलिकॉप्‍टर डैड हैं

चौथा सत्र: कामकाजी मांओं की चुनौतियों पर काजोल के साथ अंजिली इस्टवाल की बातचीत

- बाबा रामदेव ने पीएम मोदी और सरकार को दिया सुझाव : 2019 से पहले तेल के दाम घटा लें

- बाबा रामदेव ने कहा कि पहले मैं सक्रिय था, मगर अब नहीं. मैं अब सर्वदलीय और निर्दलीय हूं. मैं 2019 में मोदी सरकार का प्रचार नहीं करूंगा. 

- बाबा रामदेव ने कहा कि अभी मैं बहुत से मुद्दे पर मौन रूप अपना रखा है. अभी मुझे 50 साल देश के लिए काम करना है. मैं अपने देश को ऊंचाई पर ले जाना चाहता हूं, जिसका भारत हकदार है. 

- धारा 377 पर बाबा रामदेव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट पर टिप्पणी करना हमारे देश के तासिर के खिलाफ है. मैं यह नहीं कहता कि समलैंगिक को घटिया दृष्टि से देखा जाए. मैं उनका सम्मान है. मैें सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ नहीं बोलना चाहता हूं.

- बाबा रामदेव ने कहा कि मोदी जी भी अच्छे दिनों के लिए प्रयास कर रहे हैं, वो लेकर आए हैं. मैं भी पूरी कोशिश करूंगा.

VIDEO: बाबा रामदेव बोले- गोमाता को बचाना है तो उनका दूध खाओ और दही खाओ

- बाबा रामदेव ने कहा कि दंतकांति, केश कांति और एलोवेरा जेल आदि को वर्ल्ड वाइड मार्केट करेंगे. भारत के साथ-साथ अब विदेश में भी बाजार करने की तरफ है. अब पतंजलि पूरी दुनिया में धूम मचाएगा. 

- बाबा रामदेव ने कहा कि मैंने 50 साल की जिंदगी काट चुका हूं और 50 साल की जिंदगी बाकी है. इसमें देश की राजनीति, आर्थिक और सामजिक स्‍तर पर ऊपर ले जाना चाहता हूं. 

-बाबा रामदेव ने कहा, सरकार पर सारी जिम्‍मेदारी नहीं छोड़नी चाहिए. उन्‍होंने कहा कि बच्‍चे आपने पैदा किए है तो आपको उसे सिखाना होगा. 

- पूरी दुनिया गाय का पीती है, गाय का मजहबी बना दिया है. 

- बाबा रामदेव ने कहा, मैं या आप कहे या ना कहें पर मोदी सरकार को ये महंगाई कम करनी होगी. अगर ये महंगाई नहीं की तो ये आग उन्‍हें ले डूबेगी. 

- मैंने इस देश में आतंकवादी पैदा नहीं किया, मैंने राष्ट्रवादी पैदा किया है. मैंने कोई गलत काम नहीं किया. यहां मैं सबसे पूछता हूं कि क्या मैंने कोई गलत काम किया है. मैंने अपने लिए पैसे का न तो उपयोग किया और न ही दुरुपयोग किया. मैं खड़ांव पहनता हूं. मैं पैसे के पीछे नहीं भागता, पैसा मेरे पीछे भागता है.

- बाबा रामदेव ने कहा कि एक ईस्ट इंडिया कंपनी ने पूरे देश को लूटा. पतंजलि ने 11 हजार करोड़ रुपये से चैरिटी की है. 

- बाबा रामदेव ने कहा कि अंबानी ने दस करोड़ का घर बनाया, मैंने झोपड़ी भी नहीं बनाई. भारत दुनिया का सुपर पावर बने. रुपये की कीमत बढ़े. सिर्फ बातें करने से रुपये की कीमत नहीं बढ़ने वाली. आपको हर क्षेत्र में काम करके प्रोडक्टिविटी बढ़ानी होगी. मैं अर्थशास्त्र जानता हूं. मैं बिना पढ़ा लिखा बाबा नहीं हूं.

- ​मैंने देश में आतंकवादी नहीं बल्कि राष्‍ट्रवादी पैदा किया है: रामदेव 

- देश की प्रोगामिंग अच्‍छी होनी चाहिए: रामदेव 

- मैंने कहीं नहीं देखा कि आधुनिकता के नाम पर नंगे घूमने लगे. आदिवासी नंगे घूमे तो उन्‍हें सभ्‍यता नहीं है. पर शहर में लोग नंगे घूम रहे हैं और कह रहे हैं हम सभ्‍य हैं: रामदेव 

- योग से सदाचार बढ़ेगा और इससे भ्रष्‍टाचार रूकेगा: बाबा रामदेव  

- योग अहिंसा से शुरू होती है. ये योग को छोड़ने का परिणाम (हिंसा) हैं 

- बाबा रामदेव ने कहा कि अंधविश्‍वास पर लाखों का कारोबार होता है

- बाबा रामदेव ने कहा कि NDTV ढोंग-पाखंड नहीं चलता है

- गौमाता को बचाना है इसलिए गाय का दूध बनाया. जिस गाय का वेस्‍ट कहा जाता है उसका इस्‍तेमाल करते हैं. गौमूत्र से टॉवलेट क्‍लीनर बनाया. 


तीसरा सत्र: क्‍या हैं सेहत और दौलत बनाने के राज़ - बाबा रामदेव के साथ नग़मा सहर की बातचीत

- डूसू अध्‍यक्ष अंकित: मैं एबीवीपी का धन्यवाद करता हूं. एबीवीपी हमें एक्टिविज्म सिखाता है. मैं अपना भविष्य राजनीति में देखता हूं. युवा को पता है कि देश को किस तरह संभालना है. युवा देश का जड़ है. अगर आप स्टूडेंट एक्टिवस्ट हैं तो पढ़ाई से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता. 

- सुष्मिता देव (कांग्रेस) : अगर आज हमसे कोई पूछे कि आपका पेशा क्या है तो मैं कहूंगा वकालत. ये बात सही है कि राजनीति में आने के बाद मुझे वकालत करने का समय नहीं मिलता. राजनीति में लोगों की समस्या से आपका वक्त जुड़ा है. अगर आपकी जरूरत एक जनप्रतिनिधि के हिसाब से आपकी जरूरत रात के बारह बजे है तो आपको उस वक्त भी जाना होगा. राजनीति को कभी भी पेश की तरह देखेंगे तो उसमें डाउन फॉल आएगा. अगर आप ये सोचेंगे कि  राजनीति से अगर आपको भोजन मिल जाएगा तो आप किसी भी हद तक जा सकते हैं. 

- जयंत चौधरी (आरएलडी): हमें युवाओं में नैतिक तंत्र विकसित कनरे की जरूरत है.

- जयंत चौधरी (आरएलडी) : सोशल मीडिया में ट्विटर पर एक फौज खड़ी हो गई है. बहुत से लोग इसका सही इस्तेमाल करते हैं तो कोई गलत. पहले वायरल शब्द बुखार होता था, मगर आज हर युवा बोलता है वायरल होना. समय बदल रहा है. 

VIDEO: NDTV युवा : 2019 की नई पीढ़ी के जानिए क्या हैं विचार

- सवाल: क्या सरकार का रिमोट कंट्रोल नागपुर में है?
अवस्थी: संघ का काम को-ऑर्डिनेशन का होता है. संघ का काम सिर्फ अनुशांगिक संगठनों में सामंजस्य का काम करता है. संघ सरकार में दखल नहीं, बल्कि सबके बीच सहयोग का काम करता है. 

- जयंत: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के परिणाम से उम्मीद जगी. आदमी हारने से ज्यादा सीखता है. कैराना की जीत से हमने यह साबित किया कि यहां के लोग सांप्रदायिक नहीं हैं. 

- हाथरस में दलित के बारात मामले पर जयंत ने कहा कि यह बहुत बड़ा कलंक है. वहां के स्थानीय प्रशासन ने हाईकोर्ट में जाकर दलील दी कि हम सुरक्षा नहीं दे सकते. हालांकि, बुनियादी ढांचा बदल रहा है, मगर अभी भी चीजें मौजूद हैं. मुहल्ला का मुहल्ला अभी भी बंटा हुआ है. 

- राजस्थान में शंभू लाल रैगर के मामले पर आरएसएस के अवस्थी ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि 2014 में ऐसी हिम्मत ज्यादा हुई है या नहीं. इससे पहले भी मैंने देखा है. मुझे लगता है कि मोदी की सत्ता आने के बाद मीडिया को दलित और इस तरह के मुद्दे ज्यादा दिखने लगे हैं. 

- सुष्मिता ने कहा कि जब कोई मंदिर में जाता है तो वहां के लोगों का डिमांड होता है. ऐसा नहीं है कि हम ये तय करते हैं. राहुल गांधी की यह नीति नहीं कि मैं यहां जाऊंगा यहां नहीं. हां, बस चर्चा जरूर होती है. लोगों की डिमांड पर ही कोई मंदिर में जाता है. 

- जयंत चौधरी ने कहा कि बेरोज़गारी से ग़ुस्सा और दुनिया से जुड़ा गांव का युवा है. देश-दुनिया को लेकर जागरुक है. 

- आरएसएस के राघव अवस्थी: भारतीय जनता पार्टी वंशवाद से पूरी तरह मुक्त नहीं है, मगर कांग्रेस इसमें पूरी तरह लिप्त है. शाखाओं में युवाओं की संख्या बढ़ती जा रही है. युवा संघ के साथ शुरू से है, मगर मीडिया को अभी दिखा है. 

- आरएसएस के राघव अवस्थी: आरएसएस का प्रचार प्रसार पहले भी हो रहा था. मगर जब नरेंद्र मोदी जब सत्ता में आए हैं, तब से लोगों की दिलचस्पी बढ़ी है. 2014 के बाद पीएम मोदी की वजह से आरएसएस की शाखा में जाने वाले युवाओं की संख्या बढ़ी है. वंशवाद की राजनीति करने वालों को उखाड़ फेंकने का जज्बा आज युवाओं में हैं. 

- आम आदमी पार्टी के राघव चड्डा: आम आदमी पार्टी अभी दिल्ली में सरकार चला रही है. दिल्ली में गांव देहात के साथ शहर भी है. दिल्ली में ज्यादा इलाका शहर का पड़ता है इसलिए शहरी युवा आम आदमी पार्टी से ज्यादा जुड़ा और आकर्षित हुआ. गांव के युवा भी हमारी पार्टी से जुड़े हुए हैं. आज ये युवा जाति धर्म के डमरू पर नहीं जाते हैं. वे अब सवाल पूछते हैं. अब वे हमसे भी सवाल पूछते हैं. पहले से ज्यादा युवा पॉलिटिकली अवेयर है. आज युवा को पता है कि कौन नेता वादा पूरा करेगा या नहीं. 

- आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा ने कहा कि आज का युवा यह जानता है कि नेता क्‍या वादे कर रहा है

- जयंत चौधरी: समाज में अब एक बदलाव आया है. गांव में पहले फैसला लेने वाले पुराने लोग होते थे. अब समाज और घर के फैसले युवाओं के हाथों में आ गये हैं, क्योंकि अब वह शहरों में कमाने लगे हैं. पहले खेतों में कमाने वाले बुजुर्ग लेते थे. 

- कांग्रेस की सुष्मिता देव: वादे, धोषणा पत्र एक मुद्दा होता है और प्रदर्शन अलग मुद्दा होता है. महिलाएं और युवा जिस तरफ झुकेंगे सरकार उन्हीं की बनेगी. 

दूसरा सत्र :  निधि कुलपति के साथ सुष्मिता देव, जयंत चौधरी, राघव चड्डा, राघव अवस्थी और अंकीव बसोयम

- बीजेपी लोगों को किसी भी मूवमेंट को डायवर्ट कर सकती है. मीडिया में गलत प्रचार किया गया. यह आरोप लगाया गया कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने इसलिए गठबंधन किया क्‍योंकि वह मुसलमानों के वोट लेना चाहते थे. इसके बाद मैंने अपनी विधानसभाओं में प्रचार करके लोगों को समझाया. इसका परिणाम था कि प्रधानमंत्री को अपनी विधानसभाओं को बचाने के लिए तीन दिन बनारस में रूकना पड़ा था. 

- बीजेपी इस बार देश की राजनीति से बाहर होगी. कांग्रेस ने हमें सीबीआई क्‍लब में डाला था और हमें इसका अनुभव है. हमारे तो सभी कामों की जांच हुई है. 

- चुनाव आयोग प्रधानमंत्री को रोड शो नहीं रोकता है. चुनाव आयोग में जो भी जाता है राजनीति के जरिए से जाता है. बीजेपी के लोग कहते हैं गंगा साफ करेंगे लेकिन उनकी नियत ही साफ नहीं है: अखिलेश यादव

VIDEO: अखिलेश यादव बोले- 50 साल नहीं जनता 50 हफ्ते में कर देगी फैसला

- अखिलेश यादव ने कहा कि उपचुनाव में हम सभी कह रह थे कि मुस्लिम को मत लडवाए लेकिन हमने ऐसा किया और मुस्लिम महिला पहली बार जीत कर आई. उन्‍होंने कहा कि बीजेपी की सच्‍चाई सब जान गए हैं. 

- अखिलेश यादव ने कहा, जब बड़े काम होंगे तो नौकरियां मिलेंगी. वक्‍त आ गया है कि नौजवान नौकरी मांग रहा है. कोई भी समस्‍या एक दिन में ठीक नहीं हो सकती है. हमें इस मामले में अमेरिका से सीखना चाहिए.

- अखिलेश यादव ने कहा कि हम नेता चुनाव के बाद बनाएंगे, जब भी गठबंधन होता है तो फैसला बाद में होता है्. उन्‍होंने कहा कि हमारा मकसद बीजेपी को रोकना है. हमारा एजेंडा देश को बचाना है. 

 - अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसी के साथ अन्‍याय होगा तो उसके साथ होगी 

- उमर खालिद, चंद्रशेखर रावण पर अखिलेश यादव ने कहा कि जो समाजवादी पार्टी में आना चाहता है तो उसका स्‍वागत है. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि मीडिया का चरित्र बदला है और गठबंधन में पीछे जाने को तैयार है. BJP को हराना हमारा मक़सद है और मीडिया में मेरे ख़िलाफ़ दुष्प्रचार हुआ है. मैंने हार से सबक लिया है. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि जनता दुखी और नाराज़ है और जनता के ग़ुस्से ने हमारी मदद की. उन्‍होंने कहा कि EVM की जगह बैलेट से चुनाव होना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि BJP से ज़्यादा लड़ाई RSS से है क्‍योंकि वह दिखाई नहीं देती है. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में RSS ने किया झूठा प्रचार किया और RSS से देश को बचाना ज़रूरी है. उन्‍होंने कहा कि RSS ने 70 साल तिरंगा नहीं लगाया और उन्‍हें पिछड़ा बनाने के लिए RSS का शुक्रिया अदा करता हूं. उन्‍होंने कहा कि RSS जाति-धर्म में खाई बनाती है. 

- केवल हमारी पार्टी नहीं, बल्कि देश को बचाने के लिए आरएसएस से दूर रहना होगा और देश को आरएसएस से बचाना होगा. 

- बीजेपी ने एहसास दिलाया कि वह बैकवर्ड है 

-समाजवादी पार्टी के लोग इसलिए हारी तो RSS ने लोगों को गुमराह किया 

- मेरी लड़ाई बीजेपी है लेकिन दिखाई ना देने वाली RSS से भी लड़ाई है. 

- अखिलेश यादव ने कहा, 50 साल तो बहुत लंबा समय है सरकार 50 हफ्ते में फैसला लेगी 


- एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव के दौरान सेल्फी टाइम अखिलेश यादव और NDTV के रवीश कुमार अपने सत्र से पहले एक साथ फोटो क्लिक करते हुए...


- एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 में शामिल होने के समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव पहुंचे 

 

- एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के सभी सत्रों का पूरा कार्यक्रम
 
इस कार्यक्रम का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है...
 
nrbsofp8

समय 12 बजे : कार्यक्रम की शुरुआत में सबसे पहले बात होगी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से. अखिलेश यादव से ‘From Ladka to Bhatija, Has Yadav Jr Come of Age?’ टॉपिक पर  रवीश कुमार की बातचीत होगी. इस कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के नए गठजोड़ पर अपनी बात रखेंगे. 

समय 12:45 पर ‘Gen Next On 2019’ के टॉपिक पर चर्चा होगी. इस टॉपिक पर चर्चा करने के लिए हमारे पैनेलिस्ट होंगे सुष्मिता देव (सिल्‍चर असर से कांग्रेस की लोकसभा सांसद), राघव अवस्थी (वकील और आरएसएस सदस्य), जयंत चौधरी पूर्व सांसद (आरएलडी), राघव चड्ढा, प्रवक्ता, (आप). इनके साथ निधि कुलपति बातचीत करेंगी. इनके साथ बातचीत में 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर इनकी रणनीतियों के बारे में चर्चा की पूरी संभावना है.

समय 2:00 पर हमारे साथ होंगे योग गुरु बाबा रामदेव. बाबा रामदेव के साथ ‘The Yogi Billionaire’ नाम के टॉपिक पर बातचीत होगी. बाबा रामदेव के साथ बातचीत को नगमा सहर आगे बढ़ाएंगी. बाबा रामदेव के साथ चर्चा में जानने की कोशिश होगी कि बाबा ने ‘पतंजलि’ को कैसे इतने ब्रांड के रूप में स्थापित किया और भविष्य में पतंजलि किन-किन उत्पादों को लेकर बाजार में उतरेगी.

समय 2:45 पर हमारे साथ बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल होंगी. ‘New Age Heroine to New Age Mom ‘ के टॉपिक पर काजोल से बातचीत को आगे बढ़ाएंगी अंजलि इस्टवाल. काजोल से बॉलीवुड की नई पीढ़ी के बारे में चर्चा होगी. 

समय 3:30 पर हमसे बातचीत के लिए बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव मौजूद रहेंगे. तेजस्वी यादव से ‘Politics, Nitish Chacha and the Modi Juggernaut’ पर बातचीत होगी. तेजस्वी यादव के साथ चर्चा को आगे बढ़ाएंगे अभिज्ञान प्रकाश. तेजस्वी से 2019 लोकसभा चुनाव में उनकी और उनके सहयोगी दलों की रणनीति क्या होगी. इस संबंध में चर्चा होगी.

समय 4.15 बजे : लोक जनशक्ति पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री राम बिलास पासवान के बेटे  चिराग पासवान से   ‘Identity Politics & Young India’ के टॉपिक पर बातचीत होगी. चिराग पासवान के साथ अखिलेश शर्मा बातचीत करेंगे.

समय 4:45 पर हमसे बातचीत के लिए एशियाई खेल 2018 के हिरोज मौजूद रहेंगे. ‘ India's Asiad Heroes’ के टॉपिक पर हम उनसे बातचीत करेंगे. इस टॉपिक पर हमसे बातचीत के लिए हमारे पैनेलिस्ट बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन,   अमित पंघाल बॉक्सर,  दुति चंद एथलीट,  नीरज चौपड़ा जेवलिन थ्रोअर,  विनेश फोगाट रेसलर होंगे. इनके साथ चर्चा को आगे बढ़ाने का जिम्मा होगा अफशां अंजुम पर होगा.

समय 5:30 पर ‘Social Media: Heroes Or Villains? के टॉपिक पर बातचीत होगी. इस विषय पर बातचीत के लिए हमारे पैनेलिस्ट होंगे ध्वनि भानुशाली (गायिका), स्वरा भास्कर (अभिनेत्री), मोहम्मद कैफ (क्रिकेटर), कुशा कपिला (आर्टिस्ट). इनके साछ राजीव मखनी चर्चा करेंगे.

 
समय 6.30 बजे : इस समय हमारे साथ बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान होंगे. आमिर खान से रवीश कुमार बातचीत को आगे बढ़ाएंगे. आमिर खान से बातचीत का विषय होगा ‘Redefining Superstardom’.

टिप्पणियां
समय 7.30 बजे :  इस समय हमारे साथ BADSHAH of Rap होंगे. BADSHAH से प्रशांत शिशौदिया और अंजिली इस्टवाल बातचीत को आगे बढ़ाएंगे. 

VIDEO: NDTV इंडिया पर रविवार 16 सितंबर को देखें 'स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement