निकिता हत्याकांड में चार्जशीट के बाद कोर्ट को फरीदाबाद पुलिस की चिट्ठी, तुरंत हो सुनवाई

बीते 26 अक्टूबर को बल्लभगढ़ की छात्रा निकिता की सरेआम हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड के विरोध में  बल्लभगढ़ में हिंसा भड़क उठी थी. लोगों ने सड़क जाम कर दिया था और आगजनी की थी. इसमें कई पार्टियों और राजनीतिक संगठनों के लोगों के शामिल होने की बात कही गई थी.

निकिता हत्याकांड में चार्जशीट के बाद कोर्ट को फरीदाबाद पुलिस की चिट्ठी, तुरंत हो सुनवाई

बीते 26 अक्टूबर को बल्लभगढ़ की छात्रा निकिता की सरेआम हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड के विरोध में  बल्लभगढ़ में हिंसा भड़क उठी थी.

फरीदाबाद:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता तोमर की हत्या मामले (Nikita Tomar Murder Case) में पुलिस ने 700 पन्नों की चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी है. इसके बाद फरीदाबाद पुलिस ने डिस्ट्रिक्ट कोर्ट को पत्र लिखा है. पत्र में पुलिस ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए कोर्ट से गुजारिश की है कि इसे जल्द से जल्द सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजा जाय.

फरीदाबाद पुलिस ने अपने पत्र में अदालत से कहा कि एक महिला के विरुद्ध यह एक बेहद संगीन अपराध है, ठीक कॉलेज के बाहर हत्याकांड को अंजाम दिया गया. पुलिस ने कहा है कि लोगों में विश्वाश बहाल करने, अपराधियों में डर पैदा करने और मृतक के परिवार को न्याय दिलाने के लिए फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले का ट्रायल जरूरी है.

निकिता मर्डर केस में फरीदाबाद पुलिस ने चार्जशीट पेश की, तौसीफ सहित तीन को बनाया आरोपी

हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने घटना में इस्तेमाल और बरामद हथियार का जिक्र चार्जशीट में किया है. इसके अलावा गवाहों के बयान, सीसीटीवी फुटेज, चश्मदीदों के बयान, फोरेंसिक रिपोर्ट और पोस्टमार्टम रिपोर्ट को भी चार्जशीट में शामिल किया गया है. एसआईटी ने निकिता की उस दोस्त का भी बयान चार्जशीट में शामिल किया है, जिसके सामने निकिता को गोली मारी गई थी. 

बल्लभगढ़ निकिता हत्याकांड: SIT ने तैयार की चार्जशीट, चश्मदीद दोस्त का बयान शामिल

Newsbeep

बता दें कि बीते 26 अक्टूबर को बल्लभगढ़ की छात्रा निकिता की सरेआम हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड के विरोध में  बल्लभगढ़ में हिंसा भड़क उठी थी. लोगों ने सड़क जाम कर दिया था और आगजनी की थी. इसमें कई पार्टियों और राजनीतिक संगठनों के लोगों के शामिल होने की बात कही गई थी. हिंसा फैलाने के आरोप में पुलिस ने 32 लोगों को गिरफ्तार किया था. 

वीडियो: बिहार चुनाव : मोतिहारी के 2 अहम मुद्दे- चीनी मिल और आयुर्वेदिक कॉलेज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com