NDTV Khabar

नित्यानंद बोला, 'मुझे कोई नहीं छू सकता, न कोई कोर्ट मुकदमा चला सकती है', VIDEO वायरल

नित्यानंद का असली नाम राजशेखरन है और वह तमिलनाडु का रहने वाला है. उसने 2000 की शुरुआत में बेंगलुरू के पास एक आश्रम खोला था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नित्यानंद बोला, 'मुझे कोई नहीं छू सकता, न कोई कोर्ट मुकदमा चला सकती है', VIDEO वायरल

विदेश मंत्रालय ने नित्यानंद का पासपोर्ट रद्द कर दिया है.

खास बातें

  1. नित्यानंद के देश छोड़कर भाग जाने की है खबर
  2. कहा जा रहा है इक्वाडोर में द्वीप खरीद बना लिया अपना देश
  3. विदेश मंत्रालय ने रद्द किया पासपोर्ट
नई दिल्ली:

बलात्कार और यौन शोषण का आरोपी और खुद को भगवान बताने वाला नित्यानंद इन दिनों फरार चल रहा है. पुलिस और जांच ऐजेंसियां उसे ढूंढने में लगी हैं.  इसी बीच उसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह कह रहा है कि उसे कोई भी नहीं छू सकता है और न कोई अदालत उस पर मुकदमा चला सकती है. वीडियो में वो खुद को परमेश्वर और शिव बता रहा है. मालूम हो नित्यानंद बच्चों के अपहरण और अहमदाबाद के अपने आश्रम में उन्हें बंधक बनाने के मामले में गुजरात पुलिस का वांछित है. 

वीडियो में नित्यानंद कहता है, "पूरी दुनिया मेरे खिलाफ है. मैं कहता हूं नित्यानंद से मत उलझो. लेकिन अगर तुम यहां होकर मुझे अपनी निष्ठा दिखाते हो तो मैं तुम्हें वास्तविकता और सच्चाई का खुलासा करके अपनी निष्ठा दिखाऊंगा. अब मुझे कोई भी छू नहीं सकता.- मैं परम शिव हूं. समझे. सच का खुलासा करने के लिए कोई बेवकूफ अदालत मुझ पर मुकदमा नहीं कर सकती. मैं परम शिव हूं. ”

खबरें ऐसी हैं कि नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है और उसने लैटिन अमेरिका के इक्वेडोर में एक द्वीप खरीदकर उसे एक संप्रभु हिंदु राष्ट्र घोषित कर दिया है. इसका नाम उसने 'कैलासा' रखा है. इसकी वेबसाइट भी है और बाकायदा पासपोर्ट भी जारी किया गया है. इस बीच भारतीय विदेश मंत्रालय ने नित्यानंद का पासपोर्ट भी रद्द कर दिया है और अपने सभी विदेशी दूतावासों को उसके आवाजाही पर नजर रखने के लिए 'अवगत' करा दिया है. इक्वाडोर सरकार ने भी इस बात की पुष्टि की है नित्यानंद उसके देश में नहीं है और न ही दक्षिण अमेरिकी देश में जमीन खरीदने में उसे किसी भी तरह की मदद की गई है. 


नित्यानंद के आश्रम से बचाई गई किशोरी ने बताए हैरान करने वाली सच्चाई, कहा- 'आधी रात में बनवाए जाते थे VIDEO'

टिप्पणियां

बता दें  नित्यानंद का असली नाम राजशेखरन है और वह तमिलनाडु का रहने वाला है. उसने 2000 की शुरुआत में बेंगलुरू के पास एक आश्रम खोला था. कहा जाता है कि उसकी 'शिक्षाएं' ओशो रजनीश की शिक्षाओं पर आधारित होती हैं. रपटों के अनुसार, नित्यानंद के खिलाफ फ्रांस के अधिकारी भी चार लाख डॉलर के कथित धोखाधड़ी मामले में जांच कर रहे हैं. बीते महीने, नित्यानंद के खिलाफ उसके अहमदाबाद स्थित आश्रम से दो लड़कियों के लापता होने के संबंध में एफआईआर दर्ज कराई गई थी. 

VIDEO: विवादास्पद धर्मगुरु नित्यानंद ने लैटिन अमेरिका में द्वीप खरीदा, रखी हिन्दू राष्ट्र की नींव!
  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... CAA पर सिब्बल के बयान के बाद आया कांग्रेस का Reaction,'राज्यों को केंद्र से असहमत होने का अधिकार जबतक...'

Advertisement