Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

दिल्ली सरकार में कोई महिला मंत्री नहीं, गहलोत ने कहा- केजरीवाल ने बहुत सोचकर फैसला किया होगा

केजरीवाल सरकार में दूसरी बार मंत्री बनने जा रहे परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और उनकी पत्नी ने NDTV से की खास बातचीत

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली सरकार में कोई महिला मंत्री नहीं, गहलोत ने कहा- केजरीवाल ने बहुत सोचकर फैसला किया होगा

दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत नजफगढ़ सीट से लगातार दूसरी बार जीते हैं (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. कैलाश गहलोत ने नजफगढ़ सीट लगातार दूसरी बार जीतकर इतिहास रचा
  2. गहलोत ने कहा- ध्रुवीकरण की कोशिश की गई लेकिन जीत काम की हुई
  3. पत्नी, मां, बहनों ने भी प्रचार किया, सफलता के पीछे काफी महिलाओं का हाथ
नई दिल्ली:

केजरीवाल सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत ने नजफगढ़ सीट को लगातार दूसरी बार जीतकर इतिहास रचा है. नजफगढ़ का इतिहास रहा है कि आज तक कोई भी नेता इस सीट पर दूसरी बार नहीं जीत पाया था. कैलाश गहलोत ने कहा कि ''ध्रुवीकरण की कोशिश की गई लेकिन जीत काम की हुई. शाहीन बाग को मुद्दा बनाने की कोशिश की गई, लेकिन सड़क, पानी, नाली, स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक और स्पोर्ट्स पर काम हुआ था.''

उन्होंने कहा कि ''मेरी कामयाबी के पीछे सिर्फ़ पत्नी नहीं, मेरी मां भी प्रचार में थीं. चार बहनें भी प्रचार में थीं. तो मेरे पीछे काफी महिलाओं का हाथ है. केजरीवाल सरकार में कोई महिला मंत्री क्यों नहीं है? इस बारे में केजरीवाल जी ने बहुत सोचकर फैसला किया होगा.''

कैलाश गहलोत की पत्नी मोश्मी गहलोत ने कहा कि,  ''मुझे इस बार लगा था कि ज्यादा मार्जिन से जीतेंगे. मैं एक नौकरशाह की बेटी हूं तो पहले मुझे लगता था कि नेता काम नहीं करते. लेकिन अब पता चला, नेता की पत्नी होने के बाद, एहसास होता है कि बहुत काम करते हैं. महिलाओं को कैबिनेट में जगह क्यों नहीं मिली? मैं इस बारे में इनसे ज्यादा पूछती नहीं हूं. क्योंकि वह केजरीवाल जी का अधिकार है.''


दिल्ली चुनाव : वोटिंग वाले दिन पकड़ी थी 55 पेटी शराब, अरविंद केजरीवाल के मंत्री से हो सकती है पूछताछ

VIDEO : महिला मुक्त केजरीवाल सरकार

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... कैसे तेजस्वी और नीतीश की मुलाक़ात के आधे घंटे के अंदर NPR के ख़िलाफ़ प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हो गया

Advertisement