NDTV Khabar

राजद्रोह मामले में दोषमुक्त करार देने की हार्दिक की याचिका पर गुजरात सरकार को नोटिस

पाटीदार समुदाय के लिए ओबीसी कोटा की मांग करते हुए उस साल अगस्त में एक आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजद्रोह मामले में दोषमुक्त करार देने की हार्दिक की याचिका पर गुजरात सरकार को नोटिस

हार्दिक पटेल (फाइल फोटो)

अहमदाबाद: पाटीदार कोटा आंदोलन का नेतृत्व करने वाले हार्दिक पटेल ने राजद्रोह के एक मामले में दोषमुक्त किए जाने की अपनी अर्जी एक निचली अदालत में खारिज होने के बाद शुक्रवार को गुजरात उच्च न्यायालय का रूख किया. इस पर, उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को एक नोटिस जारी किया है. न्यायमूर्ति जेड के. सैयद ने पटेल की अर्जी स्वीकार करने के बाद गुजरात सरकार को एक नोटिस जारी किया और इस विषय को आठ मई को सुनवाई के लिए रख लिया. गौरतलब है कि अहमदाबाद पुलिस ने अगस्त 2015 में हार्दिक के खिलाफ राजद्रोह का एक मामला दर्ज किया था. पाटीदार समुदाय के लिए ओबीसी कोटा की मांग करते हुए उस साल अगस्त में एक आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई थी.

यह भी पढ़ें : कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाती है तो हम इसका विरोध नहीं करेंगे : हार्दिक

पाटीदार समुदाय के लिए ओबीसी कोटा की मांग करते हुए उस साल अगस्त में एक आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई थी. उन पर सरकार को अपदस्थ करने के इरादे से भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने का आरोप है. हिंसा में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई थी. इस साल फरवरी में शहर की सत्र अदालत के जज दिलीप महीदा नेउनकी दोषमुक्त करने की अर्जी खारिज करते हुए उनके खिलाफ राजद्रोह के मामले में आरोप तय किए जाने की इजाजत दी थी. पाटीदार अनामत आंदोलन समिति नेता इस मामले में जमानत पर फिलहाल रिहा हैं.

टिप्पणियां
VIDEO : हार्दिक की रैलियों की भारी भीड़ से भी नहीं पलटा पांसा​

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement