उमर अब्‍दुल्‍ला का ट्वीट, 'गिरीश चंद्र मुर्मू और जम्‍मू-कश्‍मीर के अंतिम राज्‍यपाल के इस्‍तीफे में है अजब संयोग..'

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘अजीब संयोग है कि जम्मू-कश्मीर राज्य के अंतिम राज्यपाल और जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के पहले उपराज्यपाल को तब हटाया गया जब उन्हें इसकी बिलकुल भी उम्मीद नहीं थी.’

उमर अब्‍दुल्‍ला का ट्वीट, 'गिरीश चंद्र मुर्मू और जम्‍मू-कश्‍मीर के अंतिम राज्‍यपाल के इस्‍तीफे में है अजब संयोग..'

उमर अब्‍दुल्‍ला ने उप राज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू को हटाए जाने को लेकर ट्वीट किया है

खास बातें

  • मनोज सिन्‍हा बनाए गए हैं नए उप राज्‍यपाल
  • गिरीश चंद्र मुर्मू की जगह उनकी नियुक्ति हुई
  • उमर अब्‍दुल्‍ला ने इस मसले पर किया है ट्वीट
श्रीनगर:

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) ने गुरुवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू तथा पूर्ववर्ती राज्य के अंतिम राज्यपाल के इस्तीफे में ‘‘अजीब संयोग''(Strange coincidence) है.दोनों को राजभवन से तब हटाया गया जब उन्हें इस की बिलकुल भी उम्मीद नहीं थी. मुर्मू ने बुधवार की रात जम्मू- कश्मीर के उपराज्यपाल पद से अचानक इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ भाजपा नेता मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) को बृहस्पतिवार को केंद्रशासित प्रदेश का नया उप राज्यपाल (Lieutenant Governor) नियुक्त कर दिया गया.

Newsbeep

सिन्हा जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल बनने वाले पहले राजनीतिक व्यक्ति हैं. अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘अजीब संयोग है कि जम्मू-कश्मीर राज्य के अंतिम राज्यपाल और जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के पहले उपराज्यपाल को तब हटाया गया जब उन्हें इसकी बिलकुल भी उम्मीद नहीं थी. जब उन्हें सामान पैक करने और अनौपचारिक ढंग से रवाना होने का ऑर्डर मिला तो उस समय उनकी कई बैठकें निर्धारित थीं.'' उन्होंने कहा कि केंद्र की वर्तमान सरकार उम्मीदों के विपरीत कोई भी आश्चर्यजनक कदम उठा सकती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘बीती रात, एक या दो नाम थे जिनकी लोग चर्चा कर रहे थे और यह नाम उनमें नहीं था. आप हमेशा इस सरकार पर यह विश्वास कर सकते हो कि यह पूर्व में ‘सूत्रों' द्वारा गढ़े गए नाम के विपरीत अप्रत्याशित ढंग से कोई भी नाम उछाल सकती है.'' पूर्व में, केंद्र ने राजनीतिक व्यक्ति सत्यपाल मलिक को पिछले साल जम्मू कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों-जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने से पहले इस पूर्ववर्ती राज्य का राज्यपाल नियुक्त किया था.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)