NDTV Khabar

कांग्रेस दफ्तर में पी चिदंबरम ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- मैं कानून से भागा नहीं हूं, एजेंसियों को शुक्रवार तक रुकना चाहिए

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. उन्होंने कहा, ''मैं कानून से भागा नहीं हूं. मैं न्याय की कोशिश कर रहा था. मैं अपना सिर ऊंचा करके रहूंगा. जीवन और आजादी में बेहिचक आजादी चुनूंगा और आजादी के लिए लड़ना पड़ता है.''

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. पी चिदंबरम ने कांग्रेस दफ्तर में किया प्रेस कॉन्फ्रेंस
  2. साथ में मौजूद थे कांग्रेस के दिग्गज नेता
  3. बोले- कानून से भागा नहीं
नई दिल्ली:

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. उन्होंने कहा, ''मैं कानून से भागा नहीं हूं. मैं न्याय की कोशिश कर रहा था. मैं अपना सिर ऊंचा करके रहूंगा. जीवन और आजादी में बेहिचक आजादी चुनूंगा और आजादी के लिए लड़ना पड़ता है. INX मामले में मेरे खिलाफ आरोप नहीं है. शुक्रवार तक एजेंसियों को रुकना चाहिए.'' प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके साथ सलमान खुर्शीद, कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद थे. प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद पी चिदंबरम अपने घर पहुंचे. पी चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस की सूचना मिलने के बाद सीबीआई और ईडी की टीम भी पी चिदंबरम के घर पहुंची. लेकिन घर का दरवाजा न खोलने की वजह से सीबीआई की टीम को दीवार फांदकर अंदर जाना पड़ा है.

पी चिदंबरम की बढ़ीं मुश्किलें, CBI गिरफ्तारी के लिए दिल्ली-एनसीआर में कर रही है छापेमारी


चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि लोकतंत्र की बुनियाद स्वतंत्रता है. मैंने स्वतंत्रता का चुनाव किया है.'' उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ जिससे बहुत लोगों को चिंता हुई और भ्रम की स्थिति पैदा हुई.    चिदंबरम ने कहा, ‘‘मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूं. मेरे परिवार का कोई सदस्य इस मामले में आरोपी नहीं है.'' उन्होंने कहा कि ऐसी धारणा पैदा की जा रही है कि बड़ा अपराध हुआ है और उनके एवं उनके बेटे ने अपराध किया है. ‘‘यह सब झूठ है.''

चिदंबरम ने कहा, ‘‘मैंने अग्रिम जमानत की मांग की. मेरे वकीलों ने उच्चतम न्यायालय से गुहार लगाई कि सुनवाई की जाए. मैं पूरी रात वकीलों के साथ काम कर रहा था. आज पूरे दिन भी वकीलों के साथ काम कर रहा था.'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं कानून से बच नहीं रहा था, कानून के संरक्षण का प्रयास कर रहा था. मैं न्यायालय के आदेश का सम्मान करता हूं. मैं कानून का पालन करूंगा. मैं सिर्फ यही उम्मीद करूंगा कि जांच एजेंसियां भी कानून का सम्मान करेंगी.''

बता दें कि पी चिदंबरम को आज सुप्रीम कोर्ट से भी तुरंत राहत नहीं मिली है. चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके अंतरिम संरक्षण की मांग की थी. कोर्ट नंबर तीन में जस्टिस एन वी रमना के सामने याचिका दाखिल करके जल्द सुनवाई की मांग की गई थी. लेकिन जस्टिस रमना ने कहा कि वह याचिका सीजेआई को भेज रहे हैं, वे तय करेंगे कि याचिका पर सुनवाई कब होगी?

फिलहाल आज केस मेंशन नहीं हो पाया है. यानी बुधवार को इस मामले की सुनवाई नहीं होगी. अब मामले की सुनवाई शुक्रवार को होगी. वहीं, CBI तथा प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्बरम की गिरफ्तारी से राहत मांगने वाली याचिका के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दाखिल किए हैं. अब कोर्ट कैविएट दायर करने वालों का पक्ष सुने बिना मामले में कोई फैसला नहीं सुना सकता है. 

पी चिदंबरम के समर्थन में कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर लिखा- ऐसी सरकार जो सच बोलने पर...

टिप्पणियां

इसके अलावा प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है. ईडी की टीम मंगलवार शाम को चिदंबरम के घर पहुंची थीं. लेकिन चिदंबरम अपने घर पर नहीं मिले. इसके अलावा सीबीआई की टीम भी उनके घर पर मंगलवार शाम को गई थी, उनके घर पर नहीं मिलने पर सीबीआई ने उनके घर के बाहर दो घंटे में पेश होने का नोटिस लगा दिया था. वहीं बुधवार सुबह सीबीआई की टीम उनके घर फिर पहुंची. लेकिन बुधवार सुबह भी सीबीआई टीम बैरंग लौटी.

Video: पी. चिदंबरम के मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement