NDTV Khabar

पद्मावत हिंसा : गुड़गांव पुलिस ने 20 लोगों को गिरफ्तार किया

गुड़गांव पुलिस ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन और हिंसा करने के आरोप में बुधवार को 20 लोगों को गिरफ्तार किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पद्मावत हिंसा : गुड़गांव पुलिस ने 20 लोगों को गिरफ्तार किया

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. पुलिस आयुक्त ने कहा, फिल्म का प्रीमियर शो शहर में दस स्थानों पर दिखाया.
  2. पुलिस ने हिंसा करने के आरोप में बुधवार को 20 लोगों को गिरफ्तार किया.
  3. भीड़ ने हरियाणा रोडवेज की एक बस को आग लगा दी.
नई दिल्ली:

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को गुरुवार को सिनेमाघरों में रिलीज किया जाना है, जिसके चलते देश की राजधानी दिल्ली से सटे गुड़गांव में भी प्रदर्शनकारियों ने फिल्म के विरोध में हिंसक प्रदर्शन किए. गुड़गांव पुलिस ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन और हिंसा करने के आरोप में बुधवार को 20 लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. शहर में एक स्कूली बस पर हमले समेत कई हिंसक प्रदर्शन हुए हैं. फिल्म पद्मावत का विरोध कर रही भीड़ ने हरियाणा रोडवेज की एक बस को आग लगा दी.

पुलिस आयुक्त संदीप खैरवार ने कहा, ‘फिल्म का प्रीमियर शो शहर में दस स्थानों पर दिखाया गया. पुलिस दलों ने वहां से संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया. अब तक गुड़गांव से 20 दंगाइयों को गिरफ्तार किया गया.’ उन्होंने स्कूली बस पर हुए हमले पर खेद जताया और पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करवाने के लिए स्कूलों के नजदीक पर्याप्त बल की तैनाती का निर्देश दिया.


यह भी पढ़ें : दीपिका पादुकोण की नाक काटने वाले को मिलेगा करोड़ों रुपए इनाम, जानिए किसने किया ये ऐलान

खैरवार ने बताया, ‘गुड़गांव पुलिस हाई अलर्ट पर है और त्वरित कार्रवाई के लिए विभिन्न दल तैयार हैं. इन दलों में आंसू गैस दल, पानी की बौछार करने वाला दल, दमकल, एम्बुलेंस, रिजर्व बल, यातायात पुलिस और क्रेन आदि हैं.’ उन्होंने बताया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने यहां भोंडसी में रोडवेज की एक बस को आग लगा दी.

VIDEO : पद्मावत विवाद: स्कूल बस को भी नहीं छोड़ा

टिप्पणियां

गुड़गांव पुलिस के पीआरओ रवींद्र कुमार ने बताया कि बीस लोगों को गिरफ्तार किया है और कई बदमाशों को हिरासत में लिया है. अन्य प्रदर्शनकारियों की पहचान की कोशिश की जा रही है. गुड़गांव के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने अनुरोध किया कि शहर में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में गड़बड़ी ना की जाए.

(इनपुट भाषा से)

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement