NDTV Khabar

फिल्म 'पद्मावती' का विरोध कर रही करणी सेना ने कहा, अगर रिलीज़ हुई तो पूरा देश जलेगा

करणी सेना फिल्म की शूटिंग की शुरुआत से ही इसके विरोध में अभियान चला रही है. करणी सेना ने कहा है कि पूरा देश जलेगा अगर पद्मावती रिलीज़ हुई, हम हिंसा नहीं चाहते हैं पर हमें मजबूर न किया जाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फिल्म 'पद्मावती' का विरोध कर रही करणी सेना ने कहा, अगर रिलीज़ हुई तो पूरा देश जलेगा

पद्मावती का विरोध कर रही करनी सेना ने कहा, अगर पद्मावती रिलीज़ हुई पूरा देश जलेगा (फिल्म का एक दृश्य)

खास बातें

  1. फिल्म पद्मावती को लेकर करनी सेना ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस
  2. कहा कि हम हिंसा नहीं चाहते हैं पर हमें मजबूर न किया जाए
  3. कहा कि पद्मावती और पद्मावत में क्या अंतर है?
नई दिल्ली:

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावती को लेकर सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन के सुझाव को लेकर करणी सेना अभी भी गुस्से में है. करणी सेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि मोदी सरकार ने हमें आश्वासन दिया था लेकिन फिर भी किसके दबाव में फ़िल्म को हरी झंडी दे दी गई. करणी सेना फिल्म की शूटिंग की शुरुआत से ही इसके विरोध में अभियान चला रही है. करणी सेना ने कहा है कि पूरा देश जलेगा अगर पद्मावती रिलीज़ हुई, हम हिंसा नहीं चाहते हैं पर हमें मजबूर न किया जाए.

Padmavati को इसलिए Padmavat करवाना चाहता है Censor Board, जानें पूरी हकीकत

करणी सेना ने कहा कि बीजेपी की सत्ता वाली 4 राज्य सरकारों ने इसे बैन कर दिया था. प्रसून जोशी ने 28 दिसंबर को राजघराने और कुछ लोगों को फ़िल्म दिखाई और राजघराने ने इसका विरोध किया. करणी सेना ने कहा है कि हम इसका विरोध करेंगे. करनी सेना के जनरल सेक्रेट्री सुखदेव सिंह ने कहा कि सरकार इसे रिलीज़ क्यों कर रही है. इस पूरे मामले पर आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद न जाने क्यों चुप हैं. भंसाली जेल में क्यों नहीं है... राजद्रोह का मुकद्दमा क्यों नहीं हो रहा है. बीजेपी ने हमारे साथ वादा ख़िलाफ़ी की है. पद्मावती पर हमारा आज से आंदोलन शुरू कर रहे हैं. हम 19 राज्यों में विरोध करेंगे.


टिप्पणियां

VIDEO- 'पद्मावती' विवाद को लेकर संसदीय पैनल के सामने पेश हुए संजय लीला भंसाली

करणी सेना की ओर से कहा जा रहा है कि वे लोग प्रसून जोशी, स्मृति इरानी और राजवरधन राठौड़ का इस्तीफ़ा मांगेगें और पुतला जलाएंगे. उन्होंने कहा कि पद्मावती अगर रिलीज़ होगी तो हम विरोध करेंगे. हम हिंसा नहीं चाहते हैं पर हमें मजबूर न किया जाए. पद्मावती और पद्मावत में क्या अंतर है? भारत सरकार हमें मजबूर न करे. पद्मावत को हम कम से कम हिंदुस्तान में तो रिलीज़ नहीं होने देंगे. इसी के साथ करनी सेना ने कहा कि कपिल कुमार इतिहासकार को फ़िल्म दिखाई उन्होंने भी विरोध किया, फिर भी ये रिलीज़ करना चाहते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement