NDTV Khabar

बैंकों में लोगों का पैसा सुरक्षित है, अफवाहों पर ध्यान न दें : पीएम नरेंद्र मोदी

उन्होंने कहा कि इस समय लोगों की आकांक्षाएं जिस स्तर पर है. लोग देश की आंतरिक बुराइयों, भ्रष्टाचार और कालेधन से परेशान हो चुके हैं. उन्हें इससे छुटकारा पाना है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैंकों में लोगों का पैसा सुरक्षित है, अफवाहों पर ध्यान न दें  : पीएम नरेंद्र मोदी

फिक्की के 90वें एजीएम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली: फिक्की के 90वें एजीएम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आम आदमी को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. पीएम मोदी ने फिक्की के 90 साल पूरे होने पर सभी को न सिर्फ बधाई दी, बल्कि इस दौरान फिक्की की प्रासंगिकता पर अपनी टिप्पणी की. पीएम ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : आपके बैंक खातों में जमा पैसा कितना सुरक्षित?

प्रधानमंत्री ने कारोबारियों को भरोसा दिलाया कि सबकुछ ठीक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात को बेबुनियाद बताया कि लोगों का पैसा भी अब बैंक में सुरक्षित नहीं है. उन्होंने कहा कि 'बीते कुछ दिनों से फाइनेन्शियल रीजॉलूशन ऐंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल- FRDI को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं. सरकार ग्राहकों के हित सुरक्षित करने के लिए, बैंकों में जमा उनकी पूंजी को सुरक्षित रखने के लिए काम कर रही है, लेकिन खबरें इसके ठीक विपरित चलाई जा रही हैं. उद्योग जगत को और आम नागरिकों को भ्रमित करने वाली ऐसी कोशिशों को नाकाम करने में फिक्की जैसी संस्था का भी योगदान बहुत जरूरी है'.

दरअसल पिछले दिनों सरकार के प्रस्तावित एफआरडीआई बिल को लेकर ये चर्चा चल पड़ी थी कि कंपनियों के बेलआउट के लिए ग्राहकों के हित ख़तरे में डाले जा सकते हैं. हालांकि इसे वित्त मंत्री अरुण जेटली गलत बता चुके है. फिलहाल इस बिल पर संसद की साझा समिति में विचार हो रहा है. प्रधानमंत्री ने साफ़ किया है कि बैंकिंग की खस्ता हालत और डूबे हुए कर्ज की ज़िम्मेदार पिछली सरकार है.  
 
यह भी पढ़ें : गुजरात में चुनाव प्रचार थमने के बाद पीएम मोदी का वादा, हम 1+1 = 11 करके दिखाएंगे

उन्होंने कहा कि इस समय लोगों की आकांक्षाएं जिस स्तर पर है. लोग देश की आंतरिक बुराइयों, भ्रष्टाचार और कालेधन से परेशान हो चुके हैं. उन्हें इससे छुटकारा दिलाना है. इसलिए आज चाहे कोई राजनीतिक दल हो या फिक्की जैसा कोई संगठन हो इन्हें चाहिए कि ये अपनी भावी रणनीति केा इस हिसाब से बनाएं.

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी ने पूछा- आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों? इस शख्स ने 22 प्वाइंट में बताई वजह

पीएम मोदी ने कहा कि आम लोगों को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. लोगों को अपने छोटे-मोटे काम के लिए दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे और दर-दर भटकना पड़ता था. मगर लोगों की समस्या से निजात दिलाने के लिए हमारी सरकार काम कर रही है और हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं. पीएम मोदी ने जनधन योजना को लेकर कहा कि जनधन योजना को लोगों से अपार समर्थन प्राप्त हुआ. जब ये योजना शुरू हुई थी तो हम लक्ष्य तय नहीं कर पाए थे कि कितने गरीबों के बैंक खाते खोलने हैं. हमारे पास ऐसा कोई डाटा नहीं था, जिससे हमें गरीबों का पता चल सके.

टिप्पणियां
VIDEO :  बैंकों में जमा पैसा पूरी तरह सुरक्षित : पीएम मोदी


पीएम मोदी ने कहा कि हमें ये पता था कि गरीबों को बैंक के दरवाजे से लौटा दिया जाता है. आज जब मैं देखता हूं कि जनधन के माध्यम से 30 करोड़ से ज्यादा गरीबों ने अपने बैंक के खाते खुलवाए हैं तो लगता है कि गरीबों की कितनी बड़ी जरूरत को हम पूरा कर पाए हैं. उन्होंने कहा कि अध्ययन में ये बात सामने आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां ऐसे खाते ज्यादा खुले हैं, वहां महंगाई दर में कमी आई है. साथ ही उन्होंने कहा कि उज्वला योजना के बाद फ्यूल इंफलेशन में भी काफी मात्रा में गिरावट आई है. अब गरीब को ईंधन पर कम खर्च करने पड़ते हैं. हमने 3 करोड़ से ज्यादा को महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement