किसान बिल पर बोले PM मोदी- देश का किसान देख रहा है, कौन हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं

पीएम ने कहा कि राजनीतिक पार्टियों और लोगों द्वारा अब ये दुष्प्रचार किया जा रहा है कि सरकार के द्वारा किसानों को MSP का लाभ नहीं दिया जाएगा. ये भी मनगढ़ंत बातें कही जा रही हैं कि किसानों से धान-गेहूं इत्यादि की खरीद सरकार द्वारा नहीं की जाएगी. ये सरासर झूठ है.

किसान बिल पर बोले PM मोदी- देश का किसान देख रहा है, कौन हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं

पीएम ने अपने संबोधन में किसान विधेयकों का विरोध करने वाली पार्टियों को आड़े हाथ लिया

खास बातें

  • किसानों को बिचौलियों से बचाने को लाए गए ये बिल
  • दुष्‍प्रचार किया जा रहा, किसानों को MSP का लाभ नहीं मिलेगा
  • यह सब सरासर झूठ है, देश का किसान जाग्रत
नई दिल्‍ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने किसान विधेयकों के विरोध के मामले में सरकार का पक्ष स्‍पष्‍ट किया है. आज कई परियोजनाओं का शुभारंभ करने बिहार पहुंचे पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि किसान और ग्राहक के बीच जो बिचौलिए होते हैं, जो किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा खुद ले लेते हैं, उनसे बचाने के लिए ये विधेयक लाना बहुत आवश्‍यक था. उन्‍होंने कहा कि ये तीन बिल (Three farm bills) ये विधेयक किसानों के लिए रक्षा कवच बनकर आए हैं. पीएम मोदी  ने कहा कि राजनीतिक पार्टियों और लोगों द्वारा अब ये दुष्प्रचार किया जा रहा है कि सरकार के द्वारा किसानों को MSP का लाभ नहीं दिया जाएगा. ये भी मनगढ़ंत बातें कही जा रही हैं कि किसानों से धान-गेहूं इत्यादि की खरीद सरकार द्वारा नहीं की जाएगी. उन्‍होंने जोर देकर कहा कि ये सरासर झूठ है, गलत है, किसानों को धोखा है. लेकिन ऐसे लोग भूल रहे हैं कि देश का किसान जागृत है. वह ये देख रहा है कि कुछ लोगों को किसानों को मिल रहे नए अवसर पसंद नहीं आ रहे. देश का किसान ये देख रहा है कि वो कौन से लोग हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं.

किसान विधेयक : हरसिमरत कौर के इस्तीफे से दुष्यंत चौटाला पर बढ़ा दबाव

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसानों के लिए जितना एनडीए शासन में पिछले 6 वर्षों में किया गया है, उतना पहले कभी नहीं किया गया. अन्‍नदाता किसानों  को होने वाली एक-एक परेशानी को समझते हुए, एक-एक दिक्कत को दूर करने के लिए हमारी सरकार ने निरंतर प्रयास किया है. मैं देशभर के किसानों को इन विधेयक के लिए बहुत बधाई देता हूं. उन्‍होंने कहा कि जिस APMC एक्ट को लेकर अब ये लोग राजनीति कर रहे हैं, एग्रीकल्चर मार्केट के प्रावधानों में बदलाव का विरोध कर रहे हैं, उसी बदलाव की बात इन लोगों ने अपने घोषणापत्र में भी लिखी थी, लेकिन अब जब एनडीए सरकार ने ये बदलाव कर दिया है, तो ये लोग इसका विरोध करने पर उतर आए हैं.

क्या है किसान बिल? पंजाब में क्यों मचा हंगामा? किसानों के आगे क्यों झुका अकाली दल?

पीएम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपना उत्पाद, जहां चाहे वहां बेच सकता है, लेकिन केवल मेरे किसान भाई-बहनों को इस अधिकार से वंचित रखा गया था.अब नए प्रावधान लागू होने के कारण, किसान अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में, अपनी मनचाही कीमत पर बेच सकेगा. उन्‍होंने कहा, 'मैं आज देश के किसानों को स्पष्ट संदेश देना चाहता हूं। आप किसी भी तरह के भ्रम में मत पड़िए। इन लोगों से देश के किसानों को सतर्क रहना है.ऐसे लोगों से सावधान रहें, जिन्होंने दशकों तक देश पर राज किया और जो आज किसानों से झूठ बोल रहे हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संसद सत्र से पहले बोले PM मोदी- कोरोना भी है और कर्तव्य भी