Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

PM मोदी ने कहा, कुपोषण को खत्म करने के लिए जागरूकता फैलानी होगी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में पोषण की कमी को दूर करने की दिशा में उठाये गए कदमों की समीक्षा की और इस बात पर जोर दिया कि साल 2022 तक इनके परिणाम धरातल पर दिखने चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PM मोदी ने कहा, कुपोषण को खत्म करने के लिए जागरूकता फैलानी होगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कुपोषण को रोकने संबंधी कदमों के परिणाम 2022 तक धरातल पर दिखने चाहिए
  2. कुपोषण को रोकने पर बैठक बुलाई गई
  3. पीएमओ, नीति आयोग और अन्य मंत्रालयों के अधिकारियों ने हिस्सा लिया
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में पोषण की कमी को दूर करने की दिशा में उठाये गए कदमों की समीक्षा की और इस बात पर जोर दिया कि साल 2022 तक इनके परिणाम धरातल पर दिखने चाहिए जब देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनायेगा. यह उच्च स्तरीय बैठक कल बुलाई गई जिसमें प्रधानमंत्री कार्यालय, नीति आयोग और अन्य मंत्रालयों के अधिकारियों ने हिस्सा लिया. इस बैठक में कुपोषण, बौनेपन और इससे जुड़ी समस्याओं की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की गई. चर्चा के दौरान कुछ अन्य विकासशील देशों की पोषण से जुड़ी सफल पहल के बारे में भी चर्चा की गई.

यह भी पढ़ें: क्योंकि मासूम मुद्दा नहीं! महिला एवं बाल विकास विभाग के 67 फीसदी पद खाली, बजट में कटौती

प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि बौनेपन की स्थिति को कम करने के ठोस लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में काम करने की जरूरत है, जो पोषण की कमी, जन्म के समय कम वजन और खून की कमी के कारण होते हैं. मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि साल 2022 तक इनके ठोस परिणाम धरातल पर दिखने चाहिए जब देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनायेगा.


यह भी पढ़ें:  देश का दूसरा सबसे कुपोषित राज्य है यूपी - योगी आदित्यनाथ कैसे दूर करेंगे कुपोषण

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, इस उद्देश्य के लिये पोषण परिणामों की वास्तविक निगरानी के बारे में भी चर्चा की गई, जिनमें खास तौर पर इस क्षेत्र में खराब प्रदर्शन करने वाले जिले शामिल हैं. वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को बताया कि स्वच्छ भारत अभियान, मिशन इंद्रधनुष, ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का पोषण के क्षेत्र में सकारात्मक प्रभाव पड़ा है.

VIDEO: कैसे जीतेंगे कुपोषण से जंग, सरकार से समय पर नहीं मिलता पैसा
प्रधानमंत्री ने पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने की जरूरत पर जोर दिया ताकि वांछित परिणाम प्राप्त किये जा सकें.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... युजवेंद्र चहल के पास आकर लड़की ने किया ऐसा डांस, देखते ही भागा क्रिकेटर, 30 लाख से ज्यादा बार देखा गया Video

Advertisement