NDTV Khabar

PMC Bank को 11 साल में लगा 4300 करोड़ का चूना, पूर्व प्रबंधन और प्रवर्तकों के खिलाफ FIR दर्ज

मुंबई पुलिस ने सोमवार को पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के पूर्व प्रबंधन और एचडीआईएल के प्रवर्तकों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PMC Bank को 11 साल में लगा 4300 करोड़ का चूना, पूर्व प्रबंधन और प्रवर्तकों के खिलाफ FIR दर्ज

PMC Bank: PMC बैंक के ग्राहकों को हाल ही में RBI से बड़ी राहत मिली थी.

मुंबई:

मुंबई पुलिस ने सोमवार को पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के पूर्व प्रबंधन और एचडीआईएल के प्रवर्तकों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की. इस मामले की जांच एसआईटी (SIT) करेगी. रिजर्व बैंक द्वारा नियुक्त प्रशासक की शिकायत के आधार पर पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने अधिकारियों के खिलाफ जालसाजी, धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश का मामला दर्ज किया गया है.

PMC बैंक के बाद अब यह Bank संकट में, RBI ने लोन देने पर रोक समेत लगाए कई प्रतिबंध

पुलिस ने बताया कि शुरुआती जांच से पता चलता है कि 2008 से बैंक का घाटा 4,355.46 करोड़ रुपये हो चुका है. बैंक के पूर्व चेयरमैन वरयाम सिंह, प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा एचडीआईएल के निदेशक वाधवन का नाम एफआईआर में है. वाधवन के पूरे नाम की तत्काल जानकारी नहीं मिल पाई.

PMC Bank के ग्राहकों को RBI से मिली बड़ी राहत, अब 10 हजार रुपये निकाल सकेंगे


इस मामले में काम करने के तरीके के बारे में एफआईआर में कहा गया है कि एचडीआईएल के प्रवर्तकों ने बैंक के प्रबंधन के साथ सांठगाठ कर भांडुप शाखा से कर्ज लिया. पुलिस के एक आधिकारिक दस्तावेज के अनुसार कर्ज का भुगतान नहीं होने के बावजूद बैंक के अधिकारियों ने एचडीआईएल के ऋण को गैर-निष्पादित आस्तियों (NPA) के रूप में वर्गीकृत नहीं किया और इस सूचना को रिजर्व बैंक अधिकारियों से छिपाया. इन लोगों ने कंपनियों के जाली खाते भी बनाए जिन्होंने थोड़ी-थोड़ी राशि का कर्ज लिया. नियामकीय निगरानी से बचने के लिए बैंक की जाली रिपोर्ट भी बनाई गई.

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों को चेतावनी

इन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 409 (सरकारी कर्मचारी या बैंकर द्वारा विश्वास का आपराधिक हनन), 420 (धोखाधड़ी, 465, 466 और 471 (जालसाजी से संबंधित) के अलावा 120 बी (आपराधिक साजिश) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

टिप्पणियां

बता दें कि हाल ही PMC बैंक के ग्राहकों को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से राहत मिली थी. अब इस बैंक के ग्राहक 6 महीने में 10 हजार रुपये तक निकाल सकेंगे. पहले यह राशि 1 हजार रुपये थी, जिसे विरोध प्रदर्शन के बाद बढ़ाया गया है. मुंबई में पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) में वित्तीय गड़बड़ियों की वजह से RBI ने खाता धारकों को हज़ार रुपये से ज़्यादा देने रोक लगा दी थी, जिसकी वजह से बैंक के हर ब्रांच में भीड़ लगी थी और लोग इसका जमकर विरोध कर रहे थे. 

VIDEO: बैंकों की गलती, मुश्किल में ग्राहक



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement