NDTV Khabar

पुलिस का दावा : 'राजीव गांधी हत्याकांड' की तरह पीएम मोदी के खिलाफ साजिश रच रहे थे माओवादी

इस चिट्ठी में 8 करोड़ रुपये इकट्ठा करने की बात कही गई है ताकि एम-4 राइफल और 4 लाख राउंड कारतूस चलाने की व्यवस्था की जा सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलिस का दावा : 'राजीव गांधी हत्याकांड' की तरह पीएम मोदी के खिलाफ साजिश रच रहे थे माओवादी

पुणे पुलिस ने कोर्ट में एक चिट्ठी पेश कर दावा किया है

खास बातें

  1. भीमा-कोरेगांव हिंसा में पकड़े गए 5 लोग
  2. पुणे पुलिस ने बरामद की है एक चिट्ठी
  3. कोर्ट में किया है बड़ा दावा
नई दिल्ली:

पुणे की पुलिस ने कोर्ट में एक लेटर पेश करते हुये दावा किया है कि  माओवादी  पीएम मोदी की  'राजीव गांधी की तरह हत्या' करने की साजिश रच रहे थे. पुलिस ने यह बात गुरुवार को कोर्ट में बताई है. आपको बता दें कि बुधवार को ही 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनके संबंध प्रतिबंधित सीपीआई-माओवादी संगठन से हैं. इनके नाम दलित एक्टिविस्ट सुधीर धावले, वकील सुरेंद्र गडलिंग, एक्टिविस्ट महेश राउत, शोमा सेन और रोना विल्सन हैं.  पुलिस ने इनको 'अरबन माओइस्ट' का शीर्ष नेता बताया है और इनको जनवरी में हुई भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार किया है. पीटीआई में छपी खबर की मानें तो पुलिस की ओर से दी गई जानकारी दी गई है कि यह चिट्ठी रोना विल्सन के दिल्ली आवास से बरामद हुई है. रोना विल्सन इस समय राजनीतिक कैदियों की रिहाई के लिये बनाई गई समिति के सदस्य हैं. 

कोरेगांव-भीमा हिंसा : दिल्ली से आरोपी जैकब विल्सन समेत तीन गिरफ्तार


टिप्पणियां

इस चिट्ठी में 8 करोड़ रुपये इकट्ठा करने की बात कही गई है ताकि एम-4 राइफल और 4 लाख राउंड कारतूस चलाने की व्यवस्था की जा सके. साथ ही एक और 'राजीव गांधी जैसी घटना' का जिक्र है. यह बात सरकारी वकील उज्ज्वला पवार ने कोर्ट को बताई है. चिट्ठी के मुताबिक उन्होंने कहा, 'हम राजीव गांधी वाली घटना की तरह कुछ सोच रहे हैं. यह आत्मघाती लगता है और खतरनाक भी. हो सकता है कि हम फेल हो जाएं लेकिन पार्टी को हमारी इस योजना के बारे में सोचना चाहिये'. एनआईए की ओर से जारी इस चिट्ठी में लिखा है कि बिहार और पश्चिम बंगाल में हार के बाद भी मोदी ने 15 राज्यों में बीजेपी की सरकारें बनवा दी हैं. अगर ऐसा जारी रहा तो पार्टी (उनके लिये) हर मोर्चे पर मुश्किल पैदा हो जाएगी. कर्नल किशन और कई वरिष्ठ कामरेड मोदी युग को खत्म करने के लिये मजबूत कदम उठाने का प्रस्ताव दिया है.


वीडियो : भीमा-कोरेगांव हिंसा के बाद गिरफ्तारियां

वहीं इस चिट्ठी के सामने आने के बाद सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा है कि सुरक्षा एजेंसियों को अपना काम करना चाहिये. इस मामले में कोर्ट को फैसला करने दिया जाए. जबकि बीजेपी नेता नलिन कोहली ने कहा है कि ऐसा लगता है नक्सली कितने निराश हो गए हैं. 


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement