NDTV Khabar

गढ़चिरौली नक्सली हमले पर पीएम मोदी, प्रियंका गांधी समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख, ट्विटर पर कुछ यूं आए रिएक्शन 

गढ़चिरौली हमले (Gadchiroli IED blast) को लेकर पीएम मोदी (PM Modi) ने भी ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मैं इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गढ़चिरौली नक्सली हमले पर पीएम मोदी, प्रियंका गांधी समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख, ट्विटर पर कुछ यूं आए रिएक्शन 

गढ़चिरौली में नक्सली हमले में 16 जवान शहीद

खास बातें

  1. नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लॉस्ट
  2. इस हमले में 16 जवान हुए शहीद
  3. पीएम मोदी ने हमले पर जताया दुख
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली (Gadchiroli IED blast) में हुए नक्सली हमले को लेकर विभिन्न राजनीतिक पार्टियों की तरफ से प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है. बता दें कि इस हमले में 16 जवान शहीद हुए हैं. महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित जिले गढ़चिरौली (Gadchiroli IED blast) में माओवादियों ने पुलिस की गाड़ी को उस वक्त निशाना बयाना जब पुलिस की टीम उस जगह जा रही थी, जहां सुबह में ही नक्सलियों ने करीब 25 से 30 गाड़ियों को आग के हवाले किया था. बताया जा रहा है कि जिस पुलिस की गाड़ी पर नक्सलियों ने हमला किया है, उसमें 16 सुरक्षा कर्मी मौजूद थे. हालांकि, इस ब्लास्ट के बाद पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है. इस हमले को लेकर पीएम मोदी (PM Modi) ने भी ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मैं इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं. सभी जाबाज जवानों को मेरा सैल्यूट है. उनका बलिदान कभी नहीं भूला जाएगा. मेरी सहानूभूति शहीदों के परिवार के साथ है. इस हमले में शामिल लोगों को कभी नहीं बख्सा जाएगा. 


वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस हमले पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सली हिंसा में मारे गए जवानों को श्रद्धांजलि. दुःख की इस घड़ी में मैं और कांग्रेस पार्टी शहीदों के परिवारों के साथ है. पूरा देश माओवादियों द्वारा की गई इस भवावह हिंसा के खिलाफ है. हम  एकजुट होकर इस हिंसक विचारधारा को हराएंगे.

इस हमले को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस हमले को दुखद बताया. उन्होंने कहा ट्वीट कर लिखा कि गढ़चिरौली में जो हमला हुआ वह बेहद दुखद है. सुरक्षा कर्मियों पर हुए इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं. भगवान शहीद के परिवारों को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे.

उधर, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने भी इस हमले की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि नक्सली हमले की जानकारी मिलने के बाद से काफी दुखी हूं. शहीदों के परिवार को भगवान हिम्मत दे.

वहीं, राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता मनोज झा ने इस हमले को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि बेशर्म बड़बोलेपन की कोई हद नहीं...उरी, पठानकोट और पुलवामा के बाद मान्यवर नरेंद्र मोदी जी अयोध्या में कहते हैं 2014 के बाद कोई 'धमाका' नहीं सुना और त्रासदी देखिये भारत माता ने आज ही गढ़चिरौली में अपने सोलह लाल खो दिए. आपकी सत्ता बहरी है!

इस हमले पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि यह जानकर कि गढ़चिरौली सी-60 बल के हमारे 16 पुलिस कर्मी आज नक्सलियों द्वारा कायरतापूर्ण हमले में शहीद हो गए, काफी दुख पहुंचा. मेरे संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शहीदों के परिवारों के साथ हैं. मैं DGP और गढ़चिरौली SP के संपर्क में हूं. महाराष्ट्र के मंत्री सुधीर मुन्गान्तीवर गढ़चिरौली नक्सली हमले पर कहा कि हमें लग रहा है कि इस हमले में 15 पुलिस जवान और एक ड्राइवर ने अपनी जान गंवा दी है. गौरतलब है कि इससे पहले लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में CRPF की पेट्रोलिंग टीम पर नक्सलियों ने हमला किया था. नक्सलियों द्वारा CRPF की पेट्रोलिंग टीम पर किए गए IED ब्लास्ट की चपेट में कई जवान आए थे. 

नक्सल प्रभावित बालाघाट में निर्दलीय उम्मीदवार का वाहन फूंका

इससे पहले महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलवादियों ने सड़क निर्माण कंपनी के 25 वाहन जला दिए. आज सुबह गढ़चिरौली के उप जिला कुरखेड़ा में नक्सलियों ने निजी ठेकेदारों के कम से कम तीन दर्जन वाहनों में आग लगा दी. यह घटना सुबह उस वक्त घटी जब राज्य का स्थापना दिवस 'महाराष्ट्र दिवस' मनाने की तैयारी की जा रही थी. इधर नक्सली पिछले साल 22 अप्रैल के दिन सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए अपने 40 साथियों की मौत की पहली बरसी मनाने के लिए एक सप्ताह से चल रहे विरोध प्रदर्शन के अंतिम चरण में थे. 

नक्सलियों के दो और शव मिले, मुठभेड़ में मरने वालों की संख्या 39 हुई

जिन वाहनों को नक्सलियों ने अपना निशाना बनाया, उनमें से ज्यादातर अमर इंफास्ट्रक्चर लिमिटेड के थे, जो दादापुर गांव के पास एन एच 136 के पुरादा-येरकाड सेक्टर के लिए निर्माण कार्यो में लगे थे. घटनास्थल से भागने से पहले नक्सलियों ने पिछले साल अपने साथियों की हत्या की निंदा करते हुए पोस्टर और बैनर भी लगाए. नक्सलियों ने जाने से पहले दो जेसीबी, 11 टिप्पर, डीजल और पेट्रोल टैंकर्स, रोलर्स, जेनरेटर वैन और दो स्थानीय कार्यालयों को भी आग के हवाले कर दिया. 

टिप्पणियां

VIDEO: दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले में कैसे हुई बीजेपी विधायक और सुरक्षाकर्मियों की हत्या



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement