NDTV Khabar

राहुल गांधी ने दी चुनौती: हिम्मत है तो राफेल पर आमने-सामने बैठकर 20 मिनट मुझसे बहस करें PM

राफेल मुद्दे (Rafale Deal) पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मोदी सरकार (Modi Govt) पर जमकर हमला बोला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी ने दी चुनौती: हिम्मत है तो राफेल पर आमने-सामने बैठकर 20 मिनट मुझसे बहस करें PM

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला.

खास बातें

  1. राफेल मामले पर संसद से सड़क तक घमासान
  2. राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर साधा निशाना
  3. राहुल ने राफेल मुद्दे पर पीएम को दी बहस की चुनौती
नई दिल्ली:

राफेल मुद्दे (Rafale Deal) पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मोदी सरकार (Modi Govt) पर जमकर हमला बोला. संसद में राफेल मामले पर घमासान के बाद कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अरुण जेटली (Arun Jaitley) पर जमकर निशाना साधा. राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 20 मिनट तक डिबेट करने की दी चुनौती. राहुल गांधी ने कहा कि मुझे पीएम के साथ बहस करने के लिए सिर्फ 20 मिनट का समय दें. राफेल पर आमने-सामने बहस करने दें.... मगर उनमें हिम्मत नहीं है. राहुल गांधी ने कहा कि क्या आपने ऑडियो टेप सुना है. गोवा के मिनिस्टर साफ बोल रहे हैं कि पर्रिकर बोल रहे कि उनके पास राफेल की फ़ाइल है और कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है. गोवा के मंत्री कहते हैं कि चीफ मिनिस्टर ने कैबिनेट की मीटिंग में बोला है. सवाल है पर्रिकर के बेडरूम में कौन सी फ़ाइल है?

यह भी पढ़ें:  राफेल मामला: राहुल पर अरुण जेटली का पलटवार: मिशेल ने क्यों कहा 'सन ऑफ इटालियन लेडी', पढ़ें 10 काउंटर अटैक


राहुल ने कहा कि जेटली जी कहते हैं कि 1600 करोड़ का नंबर कहां से आया? 58000 करोड़ को 36 से गुना कीजिये 1600 करोड़ का नंबर वहीं से आया है. राहुल ने कहा कि मनोहर पर्रिकर किस बात के लिए देश के प्रधानमंत्री को ब्लैकमेल कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि 526 करोड़ का जवाब आपने दिया. दाम बदला गया 526 करोड़ से 1600 करोड़. जेटली जी ही बता रहे हैं, क्या इस पर एयरफोर्स ने ऑब्जेक्शन किया है. 

यह भी पढ़ें: राफेल मामला: संसद में राहुल गांधी ने लगाई आरोपों की झड़ी, 'PM ने ही अंबानी को दिलाया कॉन्ट्रेक्ट', पढ़ें 8 वार

राहुल ने कहा कि 'डबल ए' को मोदी ने कॉन्ट्रैक्ट दिया. जितनी सच्चाई को छुपाएंगे उतनी सच्चाई बाहर आएगी. संसद में राफेल पर चर्चा हो रही है, लेकिन रक्षा मंत्री नहीं बोल रही हैं. पीएम नहीं बोल रहे हैं. जेटली जी बोल रहे हैं. मोदी छुप नहीं सकते हैं. राहुल ने कहा कि कांग्रेस को एयरक्राफ्ट के बारे में पता नहीं. 28 अगस्त 2007 के आरएफपी में साफ लिखा है हथियार के साथ क्या होगा. राडार से लेकर मिसाइल तक. चौकीदार चोर है. 2019 में कांग्रेस की सरकार आने पर जांच कराएंगे. पूरी प्रक्रिया की धज्जियां उड़ाई गई है. पता नहीं मोदी कौन से दुनिया में हैं कह रहे हैं कि हमसे नहीं पूछा जा रहा है. सवाल उन्हीं से पूछा जा रहा है. पीएम को हर सवाल का जवाब देना चाहिए. अगर जेटली जी कह रहे हैं कि दाम घटा तो जहाज कम क्यों लिया?

यह भी पढ़ें: राफेल मामला: कांग्रेस के आरोपों पर BJP मंत्री विश्वजीत राणे की सफाई- ऑडियो की जांच हो, टेप में मेरी आवाज नहीं

उन्होंने कहा कि मैं पीएम से राफेल पर बहस करना चाहता हूं. मुझे सिर्फ 20 मिनट का समय दे. मैं राफेल पर पीएम के साथ बहस करना चाहता हूं. उनके पास हिम्मत नहीं है. मीडिया का सामना भी नहीं करना चाहते हैं. कोर्ट का फैसला साफ है ये हमारा क्षेत्र में नहीं है. जजमेंट में कही नहीं कहा कि इसमें करपशन नहीं है. उन्होंने कहा कि टेप सही है और भी इस तरह के टेप हो सकते हैं. 

टिप्पणियां

राहुल गांधी ने पीएम मोदी के मंगलवार को ANI को दिए साक्षात्कार में उनके द्वारा दिए गए उस बयान को भी खारिज कर दिया, जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा था कि 'राफेल सौदे में आरोप सीधे मुझपर नहीं, बल्कि सरकार पर है.' राहुल गांधी ने कहा, 'वह (मोदी) थके हुए, परेशान (साक्षात्कार में) दिखाई दे रहे थे. उन्होंने कहा कि मुझ पर किसी ने उंगली नहीं उठाई, लेकिन पूरा देश उनपर उंगली उठा रहा है.' राहुल गांधी ने कहा कि एक समाचार रिपोर्ट में कहा गया है कि रक्षा मंत्रालय की फाइल नोटिंग में जिक्र किया गया है कि प्रधानमंत्री को राफेल सौदे की बातचीत में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए था. उन्होंने कहा, 'मोदी को इसपर भी जवाब देना चाहिए.'

VIDEO : राफेल पर जेटली बोले- राहुल को ऑफसेट पता नहीं, इनका ज्ञान ABCD से शुरू करना पड़ेगा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement