प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आख़िर माना कि बिहार में नीतीश कुमार का सुशासन है

ये पहली बार है कि पिछले चुनाव में हर मुद्दे पर नीतीश कुमार को घेरने वाले और हर दिन एक नया आरोप लगाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब न केवल नीतीश कुमार को सुशासन का प्रतीक मानते हैं बल्क‍ि सार्वजनिक रूप से स्वीकार भी करते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आख़िर माना कि बिहार में नीतीश कुमार का सुशासन है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना:

यूं तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सुशासन बाबू के नाम से जाने जाते हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी सोमवार को माना कि बिहार में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में सुशासन है. बिहार में पांच वर्ष पूर्व घोषित प्रधानमंत्री पैकेज से सम्बंधित परियोजना का शिलान्यास करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि आज का दिन काफ़ी महत्वपूर्ण है क्योंकि अगले एक हज़ार दिन में जो छह लाख गांव में ऑप्टिकल फ़ाइबर बिछाने का लक्ष्य रखा गया है, वो बिहार से शुरू किया जा रहा है और मुझे विश्वास है कि नीतीश जी के सुशासन में दृढ़ निश्चय के साथ आगे बढ़ते बिहार में भी तेज़ी से काम होगा.

PM मोदी ने बिहार में 'कोसी रेल महासेतु' का उद्घाटन किया, बोले- रेल कनेक्टिविटी का नया इतिहास रचा गया..

ये पहली बार है कि पिछले चुनाव में हर मुद्दे पर नीतीश कुमार को घेरने वाले और हर दिन एक नया आरोप लगाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब न केवल नीतीश कुमार को सुशासन का प्रतीक मानते हैं बल्क‍ि सार्वजनिक रूप से स्वीकार भी करते हैं. उनके इस कथन से निश्चित रूप से नीतीश कुमार के समर्थकों में काफ़ी ख़ुशी देखी गयी. उनका मानना है कि इसका राजनीतिक लाभ न केवल नीतीश कुमार को बल्कि एनडीए को आगामी चुनाव में मिलेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हालांकि इससे पूर्व भी एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नीतीश बाबू जैसा सहयोगी हो तो कुछ भी संभव है. जिसके बाद पूरे पटना में जनता दल द्वारा प्रधानमंत्री मोदी और नीतीश कुमार की होर्डिंग लगायी गयी थी.

PM मोदी ने विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को दी 14,258 करोड़ की सौगात