NDTV Khabar

पुलवामा हमलाः युद्ध की आशंका पर पाकिस्तान की सेना में 'अलर्ट', पाक सेना प्रमुख ने किया LOC का दौरा

पुलवामा हमले के बाद(Pulwama Attack) पाकिस्तानी सेना प्रमुख(Pakistan Army Chief) कमर जावेद बाजवा ने नियंत्रण रेखा का दौरा किया है. पुलवामा की घटना के बाद सरहद पर जारी तनाव के बाद पाकिस्तानी सेना प्रमुख का यह पहला दौरा है.

942 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा हमलाः युद्ध की आशंका पर पाकिस्तान की सेना में 'अलर्ट', पाक सेना प्रमुख ने किया LOC का दौरा

Pulwama Attack: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की फाइल फोटो.

नई दिल्ली:

पुलवामा हमले के बाद(Pulwama Attack) पाकिस्तानी सेना प्रमुख(Pakistan Army Chief) कमर जावेद बाजवा ने नियंत्रण रेखा का दौरा किया है. पुलवामा की घटना के बाद सरहद पर जारी तनाव के बाद पाकिस्तानी सेना प्रमुख का यह पहला दौरा है. इस दौरान बाजवा ने पाकिस्तानी सैनिकों को संबोधित करते हुए हमेशा अलर्ट रहने को कहा. संवेदनशील माहौल में पाक सेना प्रमुख के इस दौरे को लेकर चर्चाएं तेज हैं. पाक सेना प्रमुख ने यह दौरा प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए सभी कदम उठाने के लिए अधिकृत करने के बाद किया है. उधर पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि उनका देश युद्ध नहीं चाहता. हालांकि, उसने भारत को एक प्रकार से धमकी देते हुए कहा कि अगर वह कोई भी आक्रामक सैन्य कदम उठाता है तो उसका ‘अप्रत्याशित' जवाब दिया जाएगा. पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव एक बार फिर बढ़ गया है. पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक संवाददाता सम्मेलन में यह भी कहा कि भारत ने ‘‘बिना उचित जांच'' के पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तान को दोषी ठहराया और भारत ने अब तक "विभाजन की वास्तविकता" को स्वीकार नहीं किया है.

यह भी पढ़ें- पुलवामा आतंकी हमले पर बोले डोनाल्ड ट्रंप: भारत और पाकिस्तान के बीच खतरनाक स्थिति​


पाकिस्तान बोला- हम हैरान कर देंगे
पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद की ओर से 14 फरवरी को पुलवामा में आतंकवादी हमले के बाद सेना के प्रवक्ता ने कहा , ‘‘हमारा 72 वर्ष का इतिहास है. विभाजन 1947 में हुआ था और तब पाकिस्तान आजाद हुआ था. भारत अब भी यह स्वीकार नहीं कर पाया है." सेना के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे हैं, आप (भारत) धमकी जारी कर रहे हैं... हमें धमकियों का जवाब देने का अधिकार है. हम पहल करने की तैयारी नहीं कर रहे हैं, बल्कि बचाव और जवाब की योजना बना रहे हैं जो हमारा अधिकार है."उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप (भारत) पहले कोई प्रतिक्रिया शुरू करेंगे, तो आप हमें कभी चकित नहीं कर पाएंगे... हम आपको हैरान कर देंगे.'' गफूर ने चेताया कि युद्ध की स्थिति में इस बार सेना की प्रतिक्रिया अलग तरह की होगी. पाक ने  कहा, ‘‘हम अतीत की सेना नहीं हैं, हम एक कठोर सेना हैं. हमने एक अदृश्य दुश्मन के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और जीत हासिल की.''

यह भी पढ़ें- अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार, सुप्रीम कोर्ट में 35-A की सुनवाई से पहले हुई कार्रवाई

गफूर ने तैयारियों की प्रकृति के बारे में पूछे गए एक सवाल पर कहा, "हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे हैं, लेकिन हम जवाब देने की तैयारी कर रहे हैं और जिस जवाब की आवश्यकता होगी, हमने उसके लिए तैयारी की है.'' पाक ने कहा कि गुरुवार को प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना को किसी भी हमले की स्थिति में देश की रक्षा के लिए सभी कदम उठाने के लिए अधिकृत किया है. गफूर ने कहा कि पुलवामा हमला पाकिस्तान के लिए नकारात्मक था क्योंकि यह तब हुआ जब पाकिस्तान में कई महत्वपूर्ण घटनाएं हो रही थीं.उन्होंने आरोप लगाया कि पुलवामा हमला भारतीय सुरक्षा बलों की ‘‘विफलता'' को दर्शाता है. नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सुरक्षा बलों ने बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था कर रखी है .


पाक ने पुलवामा को बताया विफलता
इसलिए पुलवामा हमला भारतीय सुरक्षा बलों की विफलता को दर्शाता है.''उन्होंने कहा कि भारत को कश्मीर पर ‘‘आत्म-मंथन'' की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘‘पुलवामा हमला नियंत्रण रेखा से मीलों दूर हुआ. इस्तेमाल किए गए विस्फोटक स्थानीय किस्म के थे, इस्तेमाल किया गया वाहन स्थानीय था और जिसने हमले को अंजाम दिया, वह भी स्थानीय युवक था.'' गफूर ने कहा, ‘‘हम कह रहे हैं कि आइए हमले पर बात करें, आतंकवाद और शांति के बारे में बात करें. सबसे बड़ा मुद्दा कश्मीर है और आइए इस बारे में बात करें.''    उन्होंने कहा, ‘‘हम दो लोकतंत्र हैं और लोकतंत्र झगड़ा नहीं करते.'' (इनपुट-भाषा)
वीडियो- पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर बढ़ता दबाव

टिप्पणियां


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement