NDTV Khabar

पुलवामा हमला: BJP का कांग्रेस पर हमला,  'देश के साथ खड़े होने की प्रक्रिया कुछ दिन के लिए नहीं, बल्कि सदैव के लिए होती है'

Pulwama Terror Attack: संबित पात्रा (Sambit Patra) ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि देश के साथ खड़े होने की प्रक्रिया कुछ दिन के लिए नहीं होती, बल्कि हमेशा के लिए होती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा हमला: BJP का कांग्रेस पर हमला,  'देश के साथ खड़े होने की प्रक्रिया कुछ दिन के लिए नहीं, बल्कि सदैव के लिए होती है'

Pulwama Terror Attack: बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा...

खास बातें

  1. पुलवामा आतंकी हमले के बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी
  2. भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस का एक दूसरे पर हमला जारी
  3. पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान हुए थे शहीद
नई दिल्ली:

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद गरमाई सियासत के बीच बीजेपी (BJP) ने एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोला है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद एक कांग्रेस स्पॉन्सर्ड आर्टिकल छपता है जो हमारे जवानों की 'जाति विश्लेषण' करता है. क्या सेना की कोई जाति होती है? उन्होंने कहा कि जिस समय देश को एकजुट होने का समय होता है, उस दिन राजनीति का विषय नहीं होता है. उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि हमले के बाद डॉ. मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि हम सरकार के साथ खड़े हैं और हम कुछ दिनों तक राजनीति की बात नहीं करेंगे और इसकी आलोचना नहीं करेंगे.

यह भी पढ़ें: Pulwama : राहुल गांधी ने मोदी को बताया 'प्राइम टाइम मिनिस्टर', कहा-शहादत के वक्त दरिया में करा रहे थे फोटोशूट


 

 

संबित पात्रा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि देश के साथ खड़े होने की प्रक्रिया कुछ दिन के लिए नहीं होती, बल्कि हमेशा के लिए होती है. सिर्फ दो दिन के लिए राजनीति नहीं करेंगे. ये अपने आप में एक राजनीति पार्टी के इंटेशन को बताती है. उन्होंने कहा कि जो कायराना हमला पाकिस्तान की सरकार ने करवाया था, उसके बाद भारत सरकार ने सभी अलगाववादी नेताओं के सुरक्षा चक्र को खत्म किया. जो बहुत सालों में नहीं हुआ था, वो हमने एक झटके में किया. इससे देश में कई सारे लोग परेशान हैं. बहुत सारे लोगों में खिसियाहट है. 

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले की ख़बरों के बीच प्रधानमंत्री मोदी डिस्कवरी चैनल की शूटिंग में रहे व्‍यस्‍त

पहली बार जैश ए मोहम्मद का नाम संयुक्त राष्ट्र के रेजोल्यूशन में शामिल किया गया है. संयुक्त राष्ट्र ने एक बड़ी बात कही है. तमाम देश भारतवर्ष के साथ खड़े हो जाए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिप्लोमेसी के कारण ही आज विश्व के कई देश भारत के साथ खड़े हैं. जहां तमाम देश भारत के साथ खड़ी है, वहीं देश के ही कुछ राजनीतिक दल देश के साथ खड़े नहीं होना चाहती. 

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमलाः PM मोदी की दिनचर्या पर क्यों मचा घमासान, जानिए कांग्रेस और बीजेपी के आरोप-प्रत्यारोप

कल एक बहुत बड़ा फैसला हुआ. कल ट्वीट करके हमारी सरकार की तरफ से ये जानकारी दी गई कि भारत का पानी पाकिस्तान में नहीं जाएगा, वो पानी भारत में डाइवर्ट होगा. उसके बाद मनीष तिवारी जी और शशि थरूर जी ने ट्वीट करके हिन्दुस्तान के विरोध में बात की है. ये दुख की बात है.

बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले(Pulwama Attack) के दिन पीएम मोदी की दिनचर्या को लेकर कांग्रेस हमलावार है. कांग्रेस ने गुरुवार के बाद शुक्रवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए सवाल उठाया कि पुलवामा हमले के तुरंत बाद क्या कर रहे थे. दूसरे दिन राहुल गांधी ने भी निशाना साधा. कांग्रेस ने लगातार दूसरे दिन सवाल किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमले के दो घंटे बाद उत्तराखंड के रुद्रपुर जिले में रैली को संबोधित करते हुए हमले व इसके पीड़ितों का उल्लेख करने में विफल क्यों रहे कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हम प्रधानमंत्री से जानना चाहते हैं कि वह अपरान्ह 3.10 (जब पुलवामा में हमला हुआ) से 5.10 के बीच क्या कर रहे थे. 4.40 बजे उन्होंने मोबाइल फोन से एक रैली को संबोधित किया. जहां तक हमारी जानकारी है, उन्होंने एक बार भी हमले का उल्लेख नहीं किया."

टिप्पणियां

देरी से मिली पीएम मोदी को सूचनाः सूत्र
पीएम मोदी को पुलवामा में हुए हमले की सूचना 25 मिनट की देरी से मिली. इस पर उन्होंने एनएसए अजीत डोभाल को फोन करके नाराजगी जताई. डोभाल ने सुरक्षा एजेंसियों से स्पष्टीकरण मांगा है कि प्रधानमंत्री को यह सूचना देने में देर क्यों हुई?पीएम मोदी ने इसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए), गृह मंत्री और जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल से बात की. रामनगर के गेस्ट हउस में पहुंचने के बाद उन्होंने पुलवामा हमले को लेकर एक बार फिर एनएसए, राज्यपाल और गृह मंत्री से बाद की. इस दौरान उन्होंने कुछ नहीं खाया.

VIDEO: पुलवामा आतंकी हमले पर राजनीति गरमाई



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement