NDTV Khabar

PNB घोटाला : बैंक ने नीरव मोदी से पूछा- कब और कैसे चुकाएंगे पैसा, पूरा प्लान बताएं

पीएनबी घोटाला मामले में पंजाब नेशनल बैंक ने बकाया भुगतान के लिए घोटाले का आरोपी और डायमंड कारोबारी नीरव मोदी को एक पुख्ता योजना के साथ आने को कहा है.

201 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
PNB घोटाला : बैंक ने नीरव मोदी से पूछा- कब और कैसे चुकाएंगे पैसा, पूरा प्लान बताएं

नीरव मोदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीएनबी ने नीरव मोदी के मेल का जवाब भेजा.
  2. पीएनबी ने नीरव को बकाये के भुगताने के लिए ठोस प्लान के साथ आने को कहा.
  3. पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी है नीरव मोदी.
नई दिल्ली: पीएनबी घोटाला मामले में पंजाब नेशनल बैंक ने बकाया भुगतान के लिए घोटाले का आरोपी और डायमंड कारोबारी नीरव मोदी को एक पुख्ता योजना के साथ आने को कहा है. करीब साढ़े ग्यारह हजार करोड़ के घोटाले से आहत सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी को बकाये के भुगतान के लिए एक पुख्ता तथा क्रियान्वयन योग्य योजना के साथ आने को कहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, पीएनबी में हुए 11,400 करोड़ रुपये के ऋण घोटाले का सूत्रधार नीरव मोदी है. बैंक की मुंबई शाखा द्वारा धोखाधड़ी से जारी साख पत्रों (एलओयू) के आधार पर अन्य बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज लेकर यह धोखाधड़ी की गई है. पीएनबी ने नीरव मोदी के एक ई-मेल के जवाब में उससे कर्ज चुकाने की ठोस योजना के साथ आने की यह बात कही है. 

यह भी पढ़ें - नीरव मोदी पर कसा शिकंजा: 9 लग्ज़री कारें जब्‍त और 7 करोड़ के म्यूचुअल फंड फ्रीज

सूत्रों ने बताया कि पीएनबी के महाप्रबंधक (अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग विभाग) अश्विनी वत्स ने नीरव मोदी को उसके मेल का जवाब भेजा है. उसमें कहा गया है, ‘आप गैरकानूनी और अनधिकृत तरीके से कुछ बैंक अधिकारियों के जरिए एलओयू हासिल कर रहे थे. किसी भी समय हमारे बैंक द्वारा आपकी तीन भागीदार कंपनियों को यह सुविधा नहीं दी गई थी.’ 

यह भी पढ़ें - PNB घोटाला: मेहुल चोकसी और नीरव मोदी की कंपनियों में चॉल में रहने वाले भी डायरेक्टर!

नीरव मोदी की गैरकानूनी गतिविधियां सामने आने के बाद बैंक ने इसकी जानकारी विधि जांच एजेंसियों को दी, क्योंकि इसमें जाहिरा तौर पर फेमा और मनी लांड्रिंग निरोधक कानूनों का उल्लंघन हुआ है. बैंक की ओर से नीरव मोदी को दिए गए जवाब में कहा गया है, ‘आपने कुल देनदारी नक्की करने की जो प्रतिबद्धता व्यक्त की है उसके साथ शुरुआती रकम या कोई समयबद्ध योजना पेश नहीं की गई है. यदि आपके पास कोई पुख्ता तथा क्रियान्वयन योग्य योजना है, तो इसका ब्योरा दें.’ 

इससे पहले पीएनबी को भेजे पत्र में नीरव मोदी ने कहा था कि बैंक ने इस मामले से निपटने में जरूरत से ज्यादा हड़बड़ी दिखाई, जिससे उसका ज्वेलरी ब्रांड पूरी तरह नष्ट हो गया और साथ ही उसकी बकाया चुकाने की क्षमता भी संकट में पड़ गई.

यह भी पढ़ें - नीरव मोदी और विजय माल्‍या को लेकर राहुल गांधी का तंज, कहा- ‘जादूगर’ पीएम मोदी लोकतंत्र को भी ‘गायब’ कर सकते हैं

पत्र में कहा गया है कि गलत तरीके से पेश की गई देनदारियों को लेकर मीडिया ने हंगामा खड़ा कर दिया और इसके चलते तुरंत की छापेमारी और जब्ती की कार्रवाई शुरू हो गई. इसका परिणाम यह हुआ कि फायरस्टार इंटरनेशनल और फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल (उसके आभूषण कारोबार समूह की कंपनियां) अब चलने की हालत में नहीं रह गई हैं. इससे बैंकों के समूहों को उनके बकाये के भुगतान की हमारी क्षमता संकट में पड़ गई है.  

यह भी पढ़ें - PNB घोटाला: नीरव मोदी की कंपनी के सीनियर अधिकारी विपुल अंबानी 5 मार्च तक CBI हिरासत में

टिप्पणियां
नीरव मोदी ने पत्र में कहा, ‘तत्काल अपने बकाये की वसूली के उत्साह में 13 फरवरी को मेरी पेशकश के एक दिन बाद इस मामले को सार्वजनिक कर दिया गया और 15 फरवरी को आपकी ओर जो भी गतिविधियां की गईं उससे मेरा ब्रांड और कारोबार चौपट हो गया.’ बता दें कि इस 11,400 करोड़ रुपये के घोटाले में मोदी की जांच प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई सहित विभिन्न जांच एजेंसियां कर रही हैं.

VIDEO: नीरव मोदी और उनकी कंपनियों की 9 लग्ज़री कारें जब्‍त (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement