पंजाब : राहुल गांधी ने किसानों से कहा, सत्ता में आते ही रद्द करेंगे काले कृषि कानून

राहुल गांधी ने कहा कि इन तीन कृषि कानून को लागू करने की क्या जल्दी थी. अगर कानून पास करवाना था तो लोकसभा राज्यसभा में बात करते हैं.

नई दिल्ली:

नए विवादित कृषि कानून (Farm Laws) को लेकर पंजाब समेत कई जगह किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए आज पंजाब पहुंचे. राहुल गांधी ने पंजाब के किसानों से वादा किया है कि उनकी पार्टी के सत्ता में आने के बाद कृषि क्षेत्र से जुड़े इन तीनों कानून को हटा दिया जाएगा. राहुल गांधी ने न्यूनतम समर्थन मूल्य, खाद्य खरीद और थोक बाजारों को देश के तीन स्तम्भ बताते हुए कहा कि "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस व्यवस्था को ध्वस्त करना चाहते हैं." 

राहुल गांधी ने कहा कि इन तीन कृषि कानून को लागू करने की क्या जल्दी थी. अगर कानून पास करवाना था तो लोकसभा राज्यसभा में बात करते हैं. उन्होंने कहा कि किसानों के लिए कानून बनाए जा रहे हैं तो आपको खुलकर बात करनी चाहिए. किसान खुश है तो आंदोलन क्यों कर रहे हैं. 6 साल से नरेंद्र मोदी झूठ बोल रहे हैं. पहले नोटबंदी फिर जीएसटी और उसके बाद कोविड आया उद्योगपतियों का कर माफ किया गया, किसान का कर्ज माफ नहीं किया गया. 

राहुल गांधी ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी जमीन और आपका पैसा हिंदुस्तान के 2-3 सबसे अरबपति चाहते हैं. पुराने जमाने में कठपुतली का खेल होता था. पीछे से कोई उसे चलाता था. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि ये मोदी सरकार नहीं ये अंबानी और अडाणी की सरकार, अंबानी और अडाणी मोदी जी को चलाते हैं. उन्होंने कहा कि हम किसानों के साथ खड़े हैं और एक इंड भी पीछे नहीं हटेंगे.

राहुल गांधी ने हाथरस कांड को लेकर कहा, "मैं यूपी में था, जहां एक बेटी को मार दिया गया. उसकी हत्या करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. जिस घर की बेटी मारी गई उस परिवार को घर के अंदर बंद कर दिया गया. डीएम और मुख्यमंत्री ने धमकाया. ये हिंदुस्तान की हालत है. जो अपराध करता है उसके खिलाफ कुछ नहीं होता है."

राहुल गांधी "खेती बचाओ यात्रा" के तहत राज्य में कई जगह किसानों के साथ जनसभा आयोजित करेंगे. इस अभियान का उद्देश्य कृषि कानून पर कांग्रेस के रुख को मजबूती से रखना है. विपक्षी दलों के विरोध के बीच पिछले कृषि कानूनों को संसद की मंजूरी मिल गई थी. 

तीन दिवसीय यात्रा के पहले दिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब के मोगा जिले से ट्रैक्टर रैली आयोजित की. इस रैली में उनके साथ राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ समेत अन्य नेता मौजूद हैं. यह ट्रैक्टर बैली बधनी कलां से जट्टपुरा तक तक जाएगी. राहुल गांधी की यह यात्रा जट्टपुरा, लुधियाना में समाप्त होगी. इसके बाद वह लुधियाना में जनसभा को संबोधित करेंगे. 

राहुल गांधी की पंजाब यात्रा ऐसे समय हो रही है जब कुछ दिन पहले राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह कृषि कानून के विरोध में धरना प्रदर्शन में बैठ गए थे.

Newsbeep

बता दें कि तीन कृषि कानूनों को लेकर पंजाब समेत कई अन्य राज्यों में किसानों ने पिछले हफ्ते कड़ा विरोध दर्ज कराया था. कृषि कानून की ओलाचना करने वालों का कहना है कि कृषि क्षेत्र में निजी कंपनियों के प्रवेश से किसानों की मोल-भाव की क्षमता खत्म हो जाएगी और उन्हें अपनी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलेगा जबकि सरकार ने कहा कि नए कानूनों से छोटे एवं सीमांत किसानों को लाभ होगा.

वीडियो: कृषि कानूनों के विरोध में देशभर में विरोध-प्रदर्शन जारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com