राबड़ी देवी बोलीं- 'जनता के पास जिये खातिर पईसा नईखे, ऊपर से गरीब के नागरिकता छिने के षड्यंत्र हो रहल बा'

बिहार में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है. चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है. राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने लगातार बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी को लेकर सरकार पर हमला बोला है.

राबड़ी देवी बोलीं- 'जनता के पास जिये खातिर पईसा नईखे, ऊपर से गरीब के नागरिकता छिने के षड्यंत्र हो रहल बा'

राबड़ी देवी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • RJD का महंगाई के मुद्दे पर सरकार पर हमला
  • राबड़ी देवी ने ट्वीट कर सरकार को घेरा
  • मंहगाई, बेरोजगारी ने जनता के कमर को तोड़ दिया- राबड़ी देवी
नई दिल्ली:

बिहार में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है. चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है. राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने लगातार बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी को लेकर सरकार पर हमला बोला है. राबड़ी देवी ने ट्वीट कर लिखा है, 'मंहगाई, बेरोजगारी ने जनता का कमर तोड़ दिया है, बाजार की हालत बहुत खराब है, सभी समानों के भाव में पांच से दस गुणा की बढ़ोतरी हो गई है. जनता के पास जीवन यापन के लिए भी पैसे नहीं हैं इन सबके बाद भी गरीब लोगों के नागरिकता को छीनने का प्रयास किया जा रहा है. इस लड़ाई में हम जनता के साथ हैं.'

गौरतलब है कि RJD लगातार नागरिकता संशोधन कानून, महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार पर हमलावर रही है.गुरुवार को लालू प्रसाद के ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया गया था , इसमें उन्होंने बगैर नाम लिए सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमला बोला था. लालू यादव ने ट्वीट किया, 'छल, छीजन और घरियालीपन यात्रा वाले महानुभाव ने गरीब राज्य के नौजवानों, किसानों और कर्मचारियों का 24500 करोड़ लूट लिया. ऊपर से सरकारी संसाधनों की बर्बादी एवं करोड़ों रुपए मानव शृंखला की नौटंकी पर खर्च कर सुशासनी भ्रष्टाचार को वैध बनाने व जनता को दिग्भ्रमित करने की कोशिश है.'

लालू यादव का निशाना- 'छल, छीजन और घरियालीपन यात्रा ने वाले नौजवानों, किसानों और कर्मचारियों का 24500 करोड़ लूटा'

बता दें कि बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने एक भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमला बोला था. तेजस्वी ने कहा था, 'नीतीश कुमार जी को प्रपंच, दुष्प्रचार व नदारद कार्यों के झूठे प्रचार में महारत हासिल है. वो जनता को भ्रमित करने के लिए नित नए स्वांग रचते हैं, दोहरा चरित्र अपनाते हैं. पहले तो नीतीश जी की पार्टी ने संविधान विरोधी, गरीब विरोधी CAA का संसद के दोनों सदनों में समर्थन कर दिया, पर ये अपने गिरगिटी अंदाज से कब हटने वाले थे, सो अब जनता को भ्रमित करने के लिए कहने लगे हैं कि NRC को बिहार में लागू नहीं करेंगे. क्या मुख्यमंत्री नहीं जानते कि जो उनके हाथ में था, वहां तो उन्होंने CAA का समर्थन करके अपना असली संविधान विरोधी साम्प्रदायिक रंग दिखा ही दिया है.'

तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर निशाना, कहा- CAA का समर्थन कर असली संविधान विरोधी साम्प्रदायिक रंग दिखा दिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पूर्व उप-मुख्यमंत्री ने आगे कहा था, 'क्या नीतीश कुमार नहीं जानते कि इस बार NPR ही NRC की पहली सीढ़ी बनकर आया है, जिसकी बिहार में अधिसूचना यह खुद जारी कर चुके हैं. क्या नीतीश कुमार ये भी नहीं जानते कि अमित शाह ने बार-बार कहा है कि NPR ही NRC का प्रथम चरण है और इससे उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर ही NRC होगा. ऐसे सभी सवालों का नीतीश बाबू के पास जवाब तो है पर नीतीश जी जनता को सच कहां बताने वाले हैं. नीतीश बाबू को जनता को अंधेरे में रखने की कला बखूबी आती है. यही करते हुए ही तो वो 15 साल से जनता को मूर्ख बनाते आए हैं. वो पल्टासन योग के खोजकर्ता हैं, सो अपने निजी लाभ के लिए पल्टासन की कला का हर समय लाभ लेते रहते हैं.'

VIDEO: इस बार झारखंड की जनता का मूड एकतरफा लग रहा था: तेजस्वी यादव