राहुल गांधी का मोदी सरकार पर वार - COVID तो बस बहाना है, दफ्तरों को स्थायी 'स्टाफ-मुक्त' बनाना है

राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार की सोच न्यूनतम सरकार अधिकतम निजीकरण की है. उन्होंने कहा कि कोविड तो बस एक बहाना है. 

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर वार - COVID तो बस बहाना है, दफ्तरों को स्थायी 'स्टाफ-मुक्त' बनाना है

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर एक बार फिर साधा निशाना (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर नौकरियों और निजीकरण के मुद्दे को लेकर मोदी सरकार (Modi Government) पर हमला बोला है. राहुल गांधी कोरोना वायरस (Coronavirus), अर्थव्यवस्था (Economy) और रोजगार (Employment) समेत अन्य मुद्दों को लेकर लगातार सरकार को घेरने की कोशिश में लगे हुए हैं. राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार की सोच 'न्यूनतम सरकार अधिकतम निजीकरण' की है. उन्होंने कहा कि कोविड तो बस एक बहाना है. 

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा- "मोदी सरकार की सोच - 'Minimum Govt Maximum Privatisation'. कोविड तो बस बहाना है, सरकारी दफ़्तरों को स्थायी ‘स्टाफ़-मुक्त' बनाना है, युवा का भविष्य चुराना है, ‘मित्रों' को आगे बढ़ाना है."

इससे पहले, राहुल गांधी ने शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि "12 करोड़ रोज़गार गायब. 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था गायब. आम नागरिक की आमदनी गायब. देश की खुशहाली और सुरक्षा गायब. सवाल पूछो तो जवाब गायब." 

Newsbeep

हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने परीक्षाओं के अटके परिणामों को लेकर हमला किया था. कि सरकार को युवाओं के रोजगार से जुड़ी समस्याओं का समाधान करना चाहिए. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मोदी सरकार, रोज़गार, बहाली, परीक्षा के परिणाम दो, देश के युवाओं की समस्या का समाधान दो.'' 

वीडियो: अर्थव्यवस्था को लेकर राहुल गांधी का सरकार पर वार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com