NDTV Khabar

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने पीएम पद के लिए राहुल गांधी का नाम किया आगे, बोले- सभी को साथ देना चाहिए

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम 2019 के चुनावों में प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने पीएम पद के लिए राहुल गांधी का नाम किया आगे, बोले- सभी को साथ देना चाहिए

खास बातें

  1. एमके स्टालिन ने कहा कि राहुल गांधी मोदी सरकार को हरा सकते हैं
  2. देश बचाने में सभी को उनका साथ देना चाहिए
  3. अनावरण समारोह में शामिल हुए राहुल गांधी और सोनिया गांधी
नई दिल्ली :

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम 2019 के चुनावों में प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित किया है. चेन्नई में विपक्ष के कार्यक्रम में स्टालिन ने कहा, ''राहुल के अंदर फासीवादी मोदी सरकार को हराने की क्षमता है. हम सभी को राहुल गांधी का साथ देना चाहिए और देश को बचाने में उनकी मदद करनी चाहिए''. गौरतलब है कि राहुल गांधी और उनकी मांं व यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद पहली बार डीएमके के संस्थापक एम करुणानिधी की प्रतिमा के अनावरण समारोह में शामिल हुए. इस कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट और आरबीआई जैसी संस्थाओं को ‘नष्ट' नहीं होने देंगे. भाजपा सरकार समझती है कि ‘‘केवल एक विचारधारा से देश को चलना चाहिए''. कार्यक्रम में तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) सुप्रीमो और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू सहित विपक्ष के कई नेता शामिल हुए.
 

p1gfagh

केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला करते हुए गांधी ने आरोप लगाया कि वह देश की संस्कृति के अलावा, संस्थानों को भी निशाना बना रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हम भारत की विचारधारा को नष्ट नहीं करने देंगें. हम संस्थानों, उच्चतम न्यायालय, भारतीय रिजर्व बैंक, भारत के निर्वाचन आयोग को नष्ट नहीं करने देंगे''. उन्होंने कहा कि हम एकजुट होकर देश की संस्थाओं और संस्कृति को बचाएंगे. करूणानिधि की याद में और तमिल भाषा, इसकी संस्कृति और परम्परा के सम्मान में ‘‘भारत का हर नागरिक एकजुट होने जा रहा है'. राहुल गांधी ने कहा, ‘‘...भारत में हर आवाज एकजुट होने जा रही है और अगले चुनावों में भाजपा को हराने जा रही है''. (इनपुट- भाषा से भी)

DMK अध्यक्ष बनने के तुरंत बाद ही स्टालिन ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा


टिप्पणियां

वीडियो- राफेल डील की प्रक्रिया पर कोई शक नहीं: सुप्रीम कोर्ट



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement