CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, 'कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है.'

CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

CM अशोक गहलोत ने कुछ देर पहले ट्वीट किए. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • थम गया राजस्थान का सियासी संकट
  • CM अशोक गहलोत ने किए कई ट्वीट
  • 'ये डेमोक्रेसी को कमजोर करने का डेंजरस गेम'
नई दिल्ली:

राजस्थान (Rajasthan) में चली लंबी सियासी उठा-पटक के बाद अब माहौल शांति की ओर बढ़ रहा है. राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) और उनके समर्थन में उतरे 18 बागी विधायकों ने सोमवार को राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) से मिलकर अपनी बात रखी और इस तरह सभी की घर वापसी हो गई. कुछ देर पहले CM अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने ट्विटर के जरिए बीजेपी पर निशाना साधते हुए सभी कांग्रेसी विधायकों को मैसेज दिया है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट्स में लिखा, 'कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है. पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें फॉरगेट एन्ड फॉरगिव, आपस में भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है.'

उन्होंने अगले ट्वीट्स में लिखा, 'मैं उम्मीद करता हूँ कि फॉरगेट एन्ड फॉरगिव की भावना के साथ सेव डेमोक्रेसी हमारी प्रायोरिटी होनी चाहिए. देश में वन बाई वन चुनी हुई सरकारों को तोड़ने की जो साजिश चल रही है. कर्नाटक, मध्यप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों में सरकारें जिस तरह टॉपल की जा रही हैं. ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स, ज्यूडिशियरी का जो दुरूपयोग हो रहा है, ये डेमोक्रेसी को कमजोर करने का बहुत डेंजरस गेम है.'

राजस्‍थान : राहुल गांधी की सचिन पायलट से भेंट के बाद बन गई बिगड़ी बात, अब 'ऑल इज वेल!', 10 बातें

बता दें कि सीएम गहलोत ने बुधवार को भी जयपुर वापस आने के पहले अपने विधायकों को यह सबकुछ भूलकर आगे बढ़ने को कहा था. उन्होंने कहा था, 'अब विधायकों को 'Forget and Forgive' के रास्ते पर चलना चाहिए. अब भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो. देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में, डेमोक्रेसी के हित में यह डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई है. ऐसे में सभी भूलो और माफ करो की स्थिति में रहें.'

Newsbeep

VIDEO: पायलट ने प्रियंका गांधी से सीएम बनाए जाने की रखी थी मांग : सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com